नेबुलाइजर क्या है कब, क्यों और कैसे उपयोग करें – What Is Nebulizer When, Why And How To Use In Hindi

नेबुलाइजर क्या है कब, क्यों और कैसे उपयोग करें - What Is Nebulizer When, Why And How To Use In Hindi
Written by Sourabh

Nebulizer in hindi नेबुलाइजर मरीज और बच्चों के लिए, कुछ दवाओं के साथ साँस के द्वारा ली जाने वाली दवाएं (inhaled medications) को देने का सबसे प्रभावी तरीका हैं। डाक्टर बच्चों के लिए नेबुलाइजर की सलाह देते हैं जब बच्चे को बहुत ज्यादा सर्दी जुखाम हो जाता है जिससे बच्चे रात को सो नहीं पते हैं या सांस लेने में असुविधा महसूस करते हैं। नेबुलाइजर के अंतर्गत वाष्प या धुंध के द्वारा दवाओं को ग्रहण किया जाता है अस्थमा और अन्य श्वास सम्बन्धी लक्षणों से तत्काल राहत पाने के लिए, कोई भी व्यक्ति डॉक्टर की सलाह से नेबुलाइजर उपचार प्राप्त कर सकता है। इस श्वास उपचार को नेबुलाइजर थेरेपी (Nebulized therapy) के रूप में जाना जाता है। दवाओं का प्रभावी उपचार प्राप्त करने के नेबुलाइजर प्रभावी प्रक्रिया है।

आज के इस लेख में आप जानेंगे कि नेबुलाइजर क्या है, यह क्यों आवश्यक है, नेबुलाइजर प्रक्रिया क्या है, इसके लाभ और साइड इफ़ेक्ट क्या हैं।

  1. नेबुलाइजर क्या है – What Is Nebulizer In Hindi
  2. नेबुलाइजर मशीन कैसे काम करती है – Nebulizer Machine In Hindi
  3. नेबुलाइजर के प्रकार – Types Of Nebulizers in hindi
  4. नेबुलाइजर के द्वारा दी जाने वाली दवा – Nebulizer Medicine In Hindi
  5. नेबुलाइजर कैसे काम करता है – Nebulization Procedure In Hindi
  6. नेबुलाइज़र का उपयोग कैसे करें  – How To Use Nebulizer In Hindi
  7. नेबुलाइजर फॉर किड्स – Nebulizer For Babies In Hindi
  8. नेबुलाइजर क्यों आवश्यक है – Why Nebulizer Is Important in hindi
  9. नेबुलाइजर के फायदे – Nebulizer Benefits in hindi
  10. नेबुलाइजर के साइड इफ़ेक्ट – Nebulizer Side Effect in hindi
  11. नेबुलाइजर की कीमत – Nebulizer Price In Hindi

नेबुलाइजर क्या है – What Is Nebulizer In Hindi

नेबुलाइजर क्या है – What Is Nebulizer In Hindi

नेबुलाइजर (nebulizer) एक चिकित्सकीय उपकरण है, जो तरल दवा को वाष्प, धुंध (mist) या एयरोसोल (aerosol) में परिवर्तित करता है ताकि दवा को श्वास या श्वसन क्रिया के माध्यम से फेफड़ों तक पहुँचाया जा सके। इसमें बिजली का उपयोग कर संपीड़ित हवा को उत्पन्न किया जाता है, जो तरल रूप में उपस्थित दवा को वाष्प में परिवर्तित करती है।

नेबुलाइजर (nebulizer) का उपयोग मुख्य रूप से शिशुओं और छोटे बच्चों को अस्थमा दवाएं देने और किसी व्यक्ति को अस्थमा इनहेलर का आसानी से उपयोग करने में किया जाता है। यदि किसी व्यक्ति को अस्थमा की बीमारी है, तो डॉक्टर श्वास उपचार (breathing treatment) प्रक्रिया के रूप में एक नेबुलाइज़र की सिफारिश कर सकता है। साथ ही इसका इस्तेमाल छोटे बच्चों की सर्दी को दूर करने के लिए भी दवा देने के लिए किया जाता है।

(और पढ़े – अस्थमा (दमा) के कारण, लक्षण, उपचार एवं बचाव…)

नेबुलाइजर मशीन कैसे काम करती है – Nebulizer Machine In Hindi

नेबुलाइजर मशीन (Nebulizers machine) एक पोर्टेबल उपकरण है, जिसे श्वास उपचार प्रक्रिया में शामिल किया जाता है। यह मशीन बिजली या बैटरी से संचालित की जाती है, अतः यह एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है। नेबुलाइजर मशीन में एक पावर लीड (power lead), एक कंप्रेसर(compressor), एयर टयूब, मास्क (mask) तथा नेबुलाइजर कप (nebulizer cup) होता है।

होम नेबुलाइजर्स (home nebulizers) बड़े आकर के होते हैं, जो विद्युत प्लग के माध्यम से संचालित होते हैं। होम नेबुलाइजर्स को एक स्थान पर रखकर उपयोग में लाया जाता है। पोर्टेबल नेबुलाइजर्स (portable nebulizers) आकर में छोटे होते हैं और बैटरी से संचालित होते हैं इन्हें आसानी से एक स्थान से दुसरे स्थान तक ले जाया जा सकता है, तथा उपयोग में लाया जा सकता है। दोनों ही प्रकार के नेबुलाइजर में वायु कंप्रेसर और तरल दवा के लिए एक छोटा कंटेनर होता है, जो एक ट्यूब के माध्यम से आपस में जुड़े होते हैं। तथा इस उपकरण में एक माउथपीस (mouthpiece) या मास्क (mask) जुड़ा होता हैं, जिसे मुहँ में लगाकर दवा की धुंध को सांस के माध्यम से ग्रहण किया जाता है।

नेबुलाइजर के प्रकार – Types Of Nebulizers in hindi

नेबुलाइजर (nebulizer) के मुख्य रूप से दो प्रकार होते हैं- पोर्टेबल नेबुलाइजर्स (Portable nebulizers) और होम नेबुलाइजर्स (home nebulizers)। इसके अतिरिक्त गुणवत्ता के आधार पर आज के समय में कई प्रकार के नेबुलाइजर उपलब्ध हैं, जैसे कि- जेट नेबुलाइजर ( jet nebulizer) और अल्ट्रासोनिक नेबुलाइजर (ultrasonic wave nebulizer)।

अल्ट्रासोनिक नेबुलाइज़र (ultrasonic nebulizer) को अन्य सभी  प्रकार के नेबुलाइज़र में श्रेष्ट मन जाता है यह ध्वनि कंपन (sound vibrations) का उपयोग करता है। इस प्रकार के नेबुलाइजर अत्यधिक शांत होते है और अक्सर अस्पतालों में उपयोग में लाये जाते हैं। अल्ट्रासोनिक नेबुलाइज़र (ultrasonic nebulizer) की लागत जेट नेबुलाइजर की अपेक्षा अधिक होती है।

आमतौर अधिकतर नेबुलाइजर में दवाओं को ग्रहण करने के लिए मास्क का प्रयोग किया जाता है। लकिन कुछ स्थितियों में माउथपीस (mouthpiece) का उपयोग करने की सलाह भी दी जा सकती है। माउथपीस (mouthpiece) अधिकतम मात्रा में दवा देने का सबसे अच्छा तरीका हो सकता है।

नेबुलाइजर के द्वारा दी जाने वाली दवा – Nebulizer Medicine In Hindi

नेबुलाइजर के द्वारा दी जाने वाली दवा - Nebulizer Medicine In Hindi

नेबुलाइजर (nebulizer) का उपयोग करने के दौरान डॉक्टर द्वारा कुछ विशेष प्रकार की दवाओं की सिफारिश की जा सकती है, जिनका सम्बन्ध व्यक्ति की स्वास्थ्य स्थिति से होता है। डॉक्टर द्वारा नेबुलाइजर में उपयोग करने के लिए कई अलग-अलग दवाओं की सिफारिश की जा सकती हैं, जिनमें शामिल हैं:

  • ब्रोंकोडाइलेटर दवाएं (bronchodilators drugs) – वायुमार्ग खोलती हैं।
  • हाइपरटॉनिक सेलाइन सोलूशन (hypertonic saline solutions) –  कफ से छुटकारा पाने और खांसी को ठीक करने के लिए
  • एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) – संक्रमण के उपचार और रोकथाम के लिए।

यदि डॉक्टर अन्य नेबुलाइज्ड दवा (nebulized medication) के साथ नेबुलाइज्ड एंटीबायोटिक्स (nebulized antibiotics) की सिफारिश करते हैं, तो वह सम्बंधित व्यक्ति को आवश्यक उपकरण जैसे- टयूबिंग (tubing) और फ़िल्टर (filters) देंगे और नेबुलाइजर में इसका उपयोग करने की भी जानकारी देंगे। दवा और ली जाने वाली मात्रा डॉक्टर द्वारा निर्धारित की जाती है।

नेबुलाइजर के लिए प्रयोग की जाने वाली दवाओं को ठंडी और सूखी जगह में रखा जाना चाहिए। कुछ दवाओं को सुरक्षित रखने के लिए प्रशीतक की आवश्यकता होती है और कुछ दवाओं को प्रकाश से सुरक्षित रखने की अतः दवाओं से सम्बंधित सभी निर्देशों को सावधानी पूर्वक पढ़ें।

(और पढ़े – खांसी का घरेलू उपचार, ड्राई कफ हो या वेट कफ…)

नेबुलाइजर कैसे काम करता है – Nebulization Procedure In Hindi

नेबुलाइजर (nebulizer) एक इलेक्ट्रोनिक उपकरण है, अतः इसे चालू करने के लिए विधुत की आवश्यकता होती है। यह उपकरण बर्नौली सिद्धांत पर कार्य करता है, और तरल को धुंध में परिवर्तित करता है। अतः जैसे ही नेबुलाइजर (nebulizer) का स्विच ऑन किया जाता है, संपीड़ित हवा (compressed air) ट्यूब के माध्यम से गुजरती है और नेबुलाइजर कप में उपस्थित तरल दवा को धुंध या वाष्प में बदलती है। धुंध या वाष्प के रूप में उपस्थित दवा को एक एयर टयूब के माध्यम से माउथपीस (mouthpiece) या मास्क (mask) तक लाया जाता है।

जब सही तरीके से साँस ली जाती है, तो दवा वायुमार्ग या श्वसन नलिका के माध्यम से फेफड़ों (lungs) तक पहुँचती है और बीमारी का इलाज करने में अधिक प्रभावी होती है।

नेबुलाइज़र का उपयोग कैसे करें  – How To Use Nebulizer In Hindi

नेबुलाइज़र का उपयोग कैसे करें  - How To Use Nebulizer In Hindi

डॉक्टर मरीज की स्थिति के अनुसार नेबुलाइजर (nebulizer) का उपयोग करने की सिफारिश कर सकता है, तथा नेबुलाइज़र का उपयोग कितनी बार और कैसे करें, इसकी जानकारी भी प्रदान कर सकता है। नेबुलाइजर का उपयोग करने के तरीके इस प्रकार हैं:

  • हवा कंप्रेसर (Air compressor) को एक ठोस सतह पर रखें।
  • सभी उपकरण के स्वच्क्षता की जाँच करें।
  • दवा तैयार करने से पहले हांथों को अच्छी तरह से साफ कर लें और सुखा लें।
  • दवा को नेबुलाइज़र कप में डालें।
  • कंप्रेसर और नेबुलाइज़र कप को ट्यूब के माध्यम से जोड़ें।
  • माउथपीस (mouthpiece) या मास्क (mask) को उपकरण के उचित स्थान पर संलग्न करें।
  • इसके बाद स्विच चालू करें और अच्छी तरह जांच लें कि नेबुलाइजर ठीक तरह से काम कर रहा है या नहीं।
  • माउथपीस (mouthpiece) का प्रयोग किये जाने पर इसे सम्बंधित व्यक्ति के मुंह में रखें और होंठों से सील कर दें, तथा सामान रूप से साँस लें और यदि उपकरण में मास्क का प्रयोग किया जाता है, तो इसे नाक और मुंह पर सुरक्षित तरीके से रखें, और सामान्य या गहरी साँस लें ,दवा खत्म होने तक धीरे-धीरे सांस लें और छोड़ें।
  • सम्पूर्ण उपचार प्रक्रिया के दौरान तरल कंटेनर (नेबुलाइज़र कप) को सीधा रखें।
  • उपचार प्रक्रिया में लगभग 5 से 15 मिनट का समय लग सकता है। उपचार प्रक्रिया का समय, दवा के प्रकार और व्यक्ति की स्वास्थ्य स्थिति को देखते हुए डॉक्टर द्वारा निर्धारित किया जा सकता है।
  • प्रत्येक उपचार के बाद, नेबुलाइज़र गर्म पानी से अच्छी तरह साफ करने और हवा में सुखाएं।

(और पढ़े – सांस फूलने के कारण, लक्षण, जांच, उपचार, और रोकथाम…)

नेबुलाइजर फॉर किड्स – Nebulizer For Babies In Hindi

नेबुलाइजर (nebulizer) बच्चों के लिए बहुत उपयोगी है। अक्सर बच्चे दवाओं का गोली या तरल के रूप में सेवन करने में असमर्थ होते हैं, अतः इस स्थिति में नेबुलाइजर दवाओं का उचित सेवन करने और उपचार प्रक्रिया को प्रभावी बनाने के लिए उपयोगी होती है। डॉक्टर कुछ विशेष स्थितियों में बच्चों या शिशुओं के लिए नेबुलाइजर की सिफारिश कर सकते हैं, नेबुलाइजर की मदद से बच्चों को उपचार दिए जाने के दौरान उन्हें गोद में बैठा सकते है। यदि नेबुलाइजर के माध्यम से बच्चों को दवा देने के लिए मास्क का उपयोग किया जाता है, तो इसे बच्चे के चेहरे पर आराम से और सुरक्षित तरीके से रखें, तथा ध्यान रखे कि दवा की वाष्प बच्चे की आँखों को प्रभावित न करे। यदि नेबुलाइजर के दौरान माउथपीस (mouthpiece) का उपयोग किया जाता है, तो इसे बच्चे के दांतों के बीच रखें और होंठों को बंद कर दें।

नेबुलाइजर क्यों आवश्यक है – Why Nebulizer Is Important in hindi

नेबुलाइजर क्यों आवश्यक है - Why Nebulizer Is Important in hindi

नेबुलाइजर (nebulizer) का उपयोग, फेफड़ों (lung) से सम्बंधित स्थितियों के साथ-साथ श्वसन मार्ग को साफ करने, संक्रमण का इलाज करने और फ्लेयर-अप (flare-ups) को रोकने तथा इसके लक्षणों से छुटकारा पाने के लिए दवाओं को श्वास के माध्यम से लेने के लिए किया जाता है। इसके अतिरिक्त निम्न स्थितियों के इलाज में दवा का सेवन करने के लिए नेबुलाइजर का उपयोग किया जा सकता है, जैसे:

  • घरघराहट होने पर
  • सांस फूलने के समस्या उत्पन्न होने पर
  • अस्थमा (asthma) की स्थिति में
  • सर्दी, जुकाम की स्थिति में
  • सीने में जकड़न (chest tightness) की स्थिति में
  • क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (सीओपीडी)
  • सिस्टिक फाइब्रोसिस या ब्रोन्किइक्टेसिस (cystic fibrosis or bronchiectasis)
  • कफ और बलगम के निर्माण को नियंत्रित करने में,
  • संक्रमण के इलाज में एंटीबायोटिक्स का सेवन करने के लिए
  • बच्चों और शिशुओं को आसान तरीके से दवा देने के लिए
  • अन्य श्वसन रोगों (respiratory diseases) या विकारों की स्थिति में इलाज के दौरान
  • जब व्यक्ति सांस लेने में असुविधा महसूस करता है और इलाज के लिए दवा की उच्च खुराक की आवश्यकता होती है, इत्यादि।

(और पढ़े – ब्रॉन्काइटिस कारण लक्षण और बचने के उपाय…)

नेबुलाइजर के फायदे – Nebulizer Benefits in Hindi

  • नेबुलाइजर (nebulizer) किसी भी व्यक्ति के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है यह कुछ दवाओं को प्रभावी रूप से ग्रहण करने का एक आसन तरीका है। श्वसन समस्याओं से राहत पाने के लिए प्रयोग की जाने वाली विधियों जैसे- इनहेलर्स, टैबलेट और तरल दवाओं की तुलना में नेबुलाइजर के अनेक लाभ प्राप्त होते हैं।
  • इनहेलर के सूखे पाउडर, गोलियों या तरल दवा निगलने की कठिनाई हो सकती है। जबकि नेबुलाइजर में यह समस्या दूर हो जाती है।
  • नेबुलाइजर के माध्यम से दवा सीधे फेफड़ों में जाती है, और बीमारी के विरुद्ध तत्काल प्रभाव दिखाती है।
  • बच्चों और शिशुओं के लिए दवा देने की प्रक्रिया को नेबुलाइजर सुगम बनता है
  • जब अस्थमा अटैक (asthma attack) के दौरान मरीज का श्वसन मार्ग (वायुमार्ग) संकीर्ण हो जाता है, तो सम्बंधित व्यक्ति गहरी सांस लेने में असमर्थ होता है। अतः इस स्थिति में नेबुलाइज़र, इनहेलर की तुलना में दवा देने के लिए अधिक प्रभावी तरीका है, क्योंकि नेबुलाइज़र के दौरान गहरी सांस लेने की आवश्यकता नहीं होती है।

नेबुलाइजर के साइड इफ़ेक्ट – Nebulizer Side Effect in Hindi

नेबुलाइजर के साइड इफ़ेक्ट – Nebulizer Side Effect in hindi

नेबुलाइजर (nebulizer)  का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है, लेकिन इसमें प्रयोग की जाने वाली दवाएं अपना साइड इफ़ेक्ट डाल सकती हैं। कुछ स्थितियों में नेबुलाइजर का प्रयोग करने के दौरान निम्न साइड इफ़ेक्ट देखे जा सकते हैं:

  • नेबुलाइजर प्रयोग करने के दौरान घबराहट होना या सिर चकराना।
  • नेबुलाइज़र एक शटरिंग शोर (Shuttering noise) करता है, जिससे मरीज को कुछ असुविधा हो सकती है।
  • उपचार किये जाने के बाद नेबुलाइज़र कप में थोड़ी सी दवा शेष रह जाती है, जिससे दवा का पूर्ण रूप से उपयोग नहीं हो पाता है।
  • नेबुलाइजर के दौरान मास्क के माध्यम से वाष्प लेते समय दवा आंखों में जा सकती है, जिससे संभावित दुष्प्रभाव देखे जा सकते हैं।

(और पढ़े – चक्कर आने के कारण, लक्षण, निदान और इलाज…)

नेबुलाइजर की कीमत – Nebulizer Price In Hindi

पोर्टेबल नेबुलाइजर्स (Portable nebulizers) आमतौर पर होम नेबुलाइजर्स (home nebulizers) की तुलना में थोड़े महगें होते हैं। जो व्यक्ति इन्हें खरीदना चाहते हैं उन्हें डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। नेबुलाइजर की कीमत लगभग ₹500 से  ₹10000 या इससे उपर भी हो सकती है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration