टेरेस गार्डनिंग (रूफटॉप गार्डनिंग) की जानकारी - Terrace Gardening (Rooftop Gardening) Information in Hindi - Healthunbox
अन्य

टेरेस गार्डनिंग (रूफटॉप गार्डनिंग) की जानकारी – Terrace Gardening (Rooftop Gardening) Information in Hindi

टेरेस गार्डनिंग (रूफटॉप गार्डनिंग) की जानकारी - Terrace Gardening (Rooftop Gardening) Information in Hindi

आज के समय में टैरेस गार्डनिंग या रूफटॉप गार्डनिंग काफी पॉपुलर हो रही है और लोग अपनी छत पर टेरेस गार्डन बनाना भी पसंद करने लगें हैं इस लेख में हमनें टेरेस गार्डनिंग के बारे में जानकारी को बिस्तार से बताया है।

गार्डनिंग या बागवानी (Gardening) सबसे अच्छा शौक है जो हमें तनाव (stress) से राहत देता है, यह शरीर के लिए अच्छा व्यायाम भी होता है। लेकिन इन कंक्रीट से बने के घरों में हमें गार्डनिंग के लिए जगह कहां मिलती है। शहर का जीवन हमें एक आसान लाइफजीने के लिए जरुरी सभी आवश्यक चीजें प्रदान करता है, इसलिए लोग शहरों की ओर आकर्षित हो रहे हैं। शहरों में प्रदूषण से भरे सभी कंक्रीट भवनों, सीमेंट की सड़कों, मल्टीप्लेक्स आदि के साथ भीड़ बढ़ रही है। हमारे घर के चारों ओर एक पेड़ भी लगाना कठिन है, हम सभी जानतें हैं कि पेड़-पौधे हमें ताजी हवा देते हैं, हमारे शरीर और दिमाग को तरोताजा बनाते हैं। ताजी हवा के लिए एक पार्क में या शहर से बाहर जाना हमारे व्यस्त कार्यक्रम (busy schedules) में बहुत कठिन है।

इसके लिए अपने खुद के गार्डन को तैयार करने के बारे में सोचें, जो आपको अद्भुत, सुंदर नजारा देता है जिसमें आपको हरियाली और सुंदर फूल (beautiful flowers) के साथ ताजी हवा मिलती है, साथ ही आपको कुछ बॉडी एक्सरसाइज और ताजी आर्गेनिक सब्जियां (organic vegetables) और फल (fruits) भी मिलते हैं। हम अपने घर का निर्माण कम जगह पर करते हैं, जिससे हमें गार्डनिंग के लिए पर्याप्त जगह नहीं मिल पाती है। तो, हम अपने बगीचे के लिए क्या कर सकते हैं, टेरेस गार्डनिंग (रूफटॉप गार्डनिंग) इसका एक सबसे अच्छा समाधान है।

टैरेस गार्डनिंग या रूफटॉप गार्डनिंग एक अच्छा विचार (great idea) हो सकता है। छत (terrace) वह जगह है जहाँ हमें अच्छी हवा, धूप और पानी (air, sun, and water) मिलता है। तो, अपनी छत पर पौधों को लगायें, टैरेस गार्डनिंग बहुत महंगी भी नहीं होती है। परिवार का हर सदस्य आपके गार्डन में कुछ क्वालिटी टाइम (quality time) बिता सकता है जो मन और शरीर को रिफ्रेश करता है।

रूफटॉप गार्डनिंग या टैरेस गार्डनिंग (Terrace gardening) में खुद से उगाए गए फलों और सब्जीयों के साथ ताजी हवा में बैठने से अद्भुत अनुभव मिलता है। इसके अलावा, टैरेस गार्डनिंग हमारे घर को अवशोषित गर्मी (absorbing heat) से बचाएगा। टेरेस गार्डन को मेन्टेन रखना बहुत आसान है, आप सभी प्रकार की सब्जियां/फल इसमें उगा सकते हैं। बागवानी से आपके शरीर का अच्छा व्यायाम होता है जो हमारे तनाव को कम करता है और शरीर में रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है।

टैरेस गार्डनिंग में, आप कंटेनरों में फलों / सब्जी / फूलों को उगा सकते हैं।

यदि आप छत पर बागवानी शुरू करने की योजना बना रहे हैं, तो यह लेख आपको टैरेस गार्डनिंग (terrace gardening) तैयार करने के लिए एक पूरी जानकारी देगा।

विषय सूची

छत बागवानी के लिए बुनियादी आवश्यकताएँ – Basic Requirements for Terrace Gardening in Hindi

छत बागवानी के लिए बुनियादी आवश्यकताएँ - Basic Requirements for Terrace Gardening in Hindi

टेरेस, गार्डन बहुत महंगा नहीं होता है, आप टेरेस गार्डन के लिए नर्सरी से सभी जरूरी सामान जैसे पौधे या बीज (plants or seeds), कंटेनर / ग्रोविंग बेड / पॉट्स, बागवानी उपकरण (gardening equipment’s), बागवानी मिट्टी (gardening soil) या पोटिंग सोईल (potting soil) और जैविक खाद (organic manures), आदि के साथ प्राप्त कर सकते हैं। यदि आपके पास नर्सरी जाने का समय नहीं है या आपको अपने आस-पास कोई भी नर्सरी नहीं मिलती है तो आप ऑनलाइन भी इन सभी चीजों को खरीद सकतें हैं, टैरेस गार्डनिंग के लिए यह सब कुछ ऑनलाइन उपलब्ध है।

समर्पण: टैरेस गार्डनिंग के लिए मुख्य मूल कुंजी आपका समर्पण है, जो यह दिखता है कि आप पौधों की देखभाल में आप कितना समय बिताते हैं। गार्डनिंग के लिए कई घंटों की आवश्यकता नहीं होती है, पौधों की देखभाल के लिए दिन में न्यूनतम 1 घंटे का समय बिताएं। क्योंकि पौधों को कम लेकिन हर दिन उचित देखभाल (proper care) की आवश्यकता होती है।

टेरेस गार्डनिंग के लिए डिजाइनिंग आइडिया – Designing Idea for Terrace Gardening in Hindi

कंटेनर गार्डनिंग (container gardening), वर्टिकल गार्डनिंग (vertical gardening), हैंगिंग कंटेनर्स (hanging containers) और वॉल माउंटेड कंटेनरों (wall mounted containers) के लिए जगह का सही और पूरा इस्तेमाल करने के लिए कुछ सरल टेरेस गार्डनिंग डिजाइन लेआउट तैयार करें।

टेरेस गार्डनिंग के लिए छत तैयार करें- Prepare the Roof for Terrace Gardening in Hindi

गार्डनिंग के लिए छत तैयार करें, वाटर प्रूफिंग और ड्रेनिंग सिस्टम मुख्य बातें हैं जिनका आपको टेरेस गार्डनिंग के लिए छत को तैयार करते समय ध्यान में रखना चाहिए। वाटरप्रूफिंग को बागवानी क्षेत्र में तिरपाल शीट (tarpaulin sheet) के साथ कवर करके किया जा सकता है या कई प्रोफेशनल्स उपलब्ध होते हैं जो टेरेस की वाटर प्रूफिंग करते हैं। छत की ताकत की जांच करें, कि क्या आपकी छत कंटेनरों और छत पर बिछाई गयी मिट्टी का वजन सह सकती है। यदि घर को अच्छी तरह से सीमेंट और रेत के साथ बनाया गया है, यह कई कंटेनरों का वजन सह सकता है।

टैरेस गार्डनिंग में कंटेनर और बेड – Container and Raised Beds in Terrace Gardening in Hindi

मिट्टी का बेड: मिट्टी से बना बेड गार्डन के बेड के लिए सबसे अच्छा विकल्प है। मिट्टी से बनाये गए बेड व्यापक चौकोर और आयताकार आकार में आने वाले कंटेनरों की तुलना में व्यापक हैं। मिट्टी से बने बेड पौधों की जड़ों को फैलने के लिए पर्याप्त जगह देता है और इस तरह पौधा इसमें कम देखभाल और रखरखाव के साथ पनपेगा।

छत पर मिट्टी से बनाये गए बिस्तर बहुत जगह नहीं घेरते हैं, उन्हें छत की दीवारों से सटाकर रखा जा सकता है। मिट्टी से बनाये गए बेड थोड़े महंगे हैं, लेकिन मिट्टी से बनाये गए बिस्तरों में उगाए गए पौधों की पैदावार कंटेनर उगाए गए पौधों की तुलना में अधिक होती  है। मिट्टी से बनाये गए बेड आमतौर पर धातु या लकड़ी से बना होता है, आप सीमेंट और कंक्रीट के साथ एक स्थायी मिट्टी के बिस्तर का निर्माण भी कर सकते हैं। मिट्टी के लिए बेड हार्डवेयर स्टोर, नर्सरी, और ऑनलाइन दुकानों में उपलब्ध हैं जो आपकी छत की जगह के अनुसार उपयुक्त हैं।

मिट्टी से बनाये गए बिस्तरों में मिट्टी जल्दी सूख जाएगी इसलिए नियमित रूप से पानी दिया जाना चाहिए।

छत बागवानी के लिए इंटीग्रेटेड पैच – Integrated Patches for Terrace Gardening in Hindi

सब्जियों को उगाने के लिए भी इंटीग्रेटेड पैच का उपयोग किया जाता है, ये पैच छत की सतह पर ही पौधों को उगाने में मदद करते हैं। ये इंटीग्रेटेड पैच बड़े छतों के लिए उपयुक्त हैं जो पूरी तरह से जलरोधी हैं। इंटीग्रेटेड पैच सामान्य बगीचे बेड की तरह हैं, इंटीग्रेटेड पैच में पौधे उगाने के लिए जैविक खादों के साथ बगीचे मिट्टी का उपयोग करें।

टैरेस गार्डनिंग के लिए कंटेनर – Containers for Terrace Gardening in Hindi

छत की बागवानी के लिए कंटेनर सबसे अच्छा विकल्प है। आप टैरेस गार्डनिंग के लिए किसी भी आकार और साइज़ के कंटेनरों का उपयोग कर सकते हैं।

प्लास्टिक के कंटेनर का इस्तेमाल करने से बचें, प्लास्टिक कंटेनर लंबे समय तक गर्मी में रहने के कारण कुछ समय बाद टूट जाएगा।

लकड़ी, मिट्टी, टेराकोटा, आदि से बने कंटेनरों का उपयोग टैरेस गार्डनिंग के लिए करें। इसके अलावा आप पुराने पेंट के बॉक्स, सब्जी या फलों के टोकरे, टायर, इस्तेमाल किए गए ग्लास या 2 से 5 लीटर की प्लास्टिक की बोतलें, रेत के बक्से, पुराने व्हीलबार्स, तेल कंटेनर, आदि का उपयोग कर सकते हैं। हर तरह के रीसाइकल्ड कंटेनर (recycled container) जो पानी और मिट्टी को अपने अंदर रख सकता है, टैरेस गार्डनिंग में पौधों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

ग्रो बैग (Grow bags), कचरा बैग (garbage bags), चीनी बैग, चावल या गेहूं के बैग और सीमेंट बैग (cement bags) भी टैरेस गार्डनिंग में पौधों के लिए उपयोग किए जाते हैं।

पौधे के आकार और वृद्धि के आधार पर टैरेस गार्डनिंग के लिए कंटेनर के आकार का चयन करें।

सभी कंटेनर में 2 से 3 ड्रेनिंग छेद होने चाहिए। मिट्टी के टपकने से रोकने के लिए कुछ से कंटेनर के छिद्रों को ढँक दें। और पानी के जमाव से बचने के लिए बजरी के साथ कंटेनर की निचली परत को कवर करें।

सैंडबॉक्स: बच्चों के खेलने के लिए उपयोग किए जाने वाले सैंडबॉक्स छत के बगीचे में उपयोग करने के लिए सबसे अच्छे कंटेनर हैं। सैंडबॉक्स का उपयोग बढ़ते हुए पत्ते वाली सब्जी के के लिए किया जाता है। सैंडबॉक्स (Sandboxes) पौधों को पनपने के लिए व्यापक स्थान प्रदान करते हैं।

टेरेस गार्डनिंग में वर्टिकल ग्रोइंग – Vertical Growing in Terrace Gardening in Hindi

बागवानी के लिए जगह बढ़ाने के लिए छत की दीवारों पर ऊर्ध्वाधर स्थान (vertical space) का उपयोग करें, वर्टिकल गार्डनिंग छत की सुंदरता को बढ़ाती है।

यदि आपके छत पर दीवारें हैं, तो वर्टिकगार्डनिंग (vertical gardening) की योजना बनाएं।

वर्टिकल गार्डनिंग में आप झाड़ियां और बेल वाली सब्जियां जैसे बीन्स, लौकी आदि उगा सकते हैं। बेलों को दीवारों का अच्छा सपोर्ट मिलता है साथ ही बहुत सारी जगह बचती है।

वर्टिकल गार्डनिंग के लिए कुछ डिज़ाइन किए गए स्टैंड, पॉट होल्डर, हैंगर और हैंगिंग पॉट्स आदि का उपयोग करें।

आप झाड़ियों के पौधों को उगाने के लिए दीवारों पर लटकने वाले पॉट (hanging pots) या रेलिंग का उपयोग भी कर सकते हैं। आप तारों पर दीवारों पर पौधों की बेल को चढ़ा सकते हैं।

हैंगिंग पॉट्स और स्टैंड्स, पॉट होल्डर्स ऑनलाइन स्टोर और नर्सरी में उपलब्ध हैं।

टेरेस गार्डनिंग के लिए गार्डन लेआउट तैयार करें – Prepare a Garden Layout for Terrace Gardening in Hindi

गर्मी और प्रकाश की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए हमारे गार्डन एरिया के अनुसार डिज़ाइन किया गया लेआउट तैयार करें।

पौधों को उनके प्रतिरोधी सूरज के अनुसार रखें। कोमल पौधे को छायादार क्षेत्रों में लगायें ,रेंगने वाले पौधों को कम हवा वाले क्षेत्रों में लगाएं।

कंटेनरों को सुविधाजनक स्थान पर रखें ताकि आप उन्हें आसानी से पानी दे सकें।

कंटेनर रखने में लेआउट आपके काम आता है।

छत बागवानी के लिए मिट्टी की आवश्यकता – Soil Requirement for Terrace Gardening in Hindi

स्वस्थ पौधा उगाने के लिए मिट्टी बहुत ज़रूरी होती है। रासायनिक मिश्रित मिट्टी (chemical mixed soils,) का चुनाव न करें, यह पैदावार पर असर डाल सकती है। मिट्टी का उपयोग पौधों की उचित वृद्धि के लिए सभी पोषक तत्व प्रदान करना होता है। छत और कंटेनर गार्डनिंग के लिए प्रीमियम पॉटिंग मिश्रण (potting mix) की सिफारिश की जाती है। पॉटिंग सोईल बनाने के लिए खाद (compost,), रेत (river sand) और जैविक खाद (organic manure) के साथ मिट्टी को मिलाएं।

टेरेस गार्डनिंग के लिए सामान्य बागवानी मिट्टी का उपयोग करना बहुत बुरा विचार होता है। क्योंकि इसमें अधिक वजन होता है और पोषक तत्वों की मात्रा कम होती है।

अधिकांश पौधे पोटिंग मिक्स में बढ़ते हैं, कुछ पौधों को विभिन्न प्रकार की मिट्टी की आवश्यकता होती है जैसे कि नींबू और साइट्रस पौधों को अधिक अम्लीय मिट्टी की आवश्यकता होती है। इसलिए, मिट्टी की आवश्यकता के अनुसार मिट्टी के कम्पोजीशन (compositions of soil) को बदलें।

नर्सरी से पॉटिंग मिक्स मगवाएं, अगर यह महंगा है तो उन्हें खुद तैयार करें। कुछ सामग्री खरीदें और खुद का खाद बनाएं और घर का बना पॉटिंग मिक्स (prepare homemade potting mix) तैयार करें।

टेरेस गार्डनिंग के लिए होम मेड पॉटिंग मिक्स तैयार करना – Preparation of Home Made Potting Mix for Terrace Gardening in Hindi

केमिकल फ्री लाल मिट्टी या काली मिट्टी प्राप्त करें।

इसे पशु खाद (animal manure) और नीम केक (neem cake) के साथ मिलाएं।

ड्रेनिंग सिस्टम को बढ़ाने के लिए नदी की रेत, वर्मीकम्पोस्ट (vermicompost) और नारियल फाइबर (coconut fibre) या कोकोपीट (cocopeat) के साथ मिलाएं।

टेरेस गार्डनिंग के लिए मिट्टी के बिना पोटिंग मिक्स तैयार करना – Preparing the Soil less Potting Mix for Terrace Gardening in Hindi

कोको पीट (coco peat), लाल रेत (red sand), और वर्मीकम्पोस्ट (vermicompost) के समान भाग लें। मिक्स पॉटिंग को रोपण से 3 सप्ताह पहले तक खुली हवा में स्टोर करें। कंटेनरों में भरने से पहले जैविक खाद डालें।

टेरेस गार्डनिंग के लिए पानी की आवश्यकता – Water Requirement for Terrace Gardening in Hindi

छत पर बागवानी के लिए, आपके गार्डन के पास पानी के लिए नल जरुर होना चाहिए।

पानी भरने वाले उपकरण जैसे कि केतली को खरीदें या अपनी छत में पौधों को पानी देने के लिए एक सटक (hose) का उपयोग करें।

आप अपनी छत में बाल्टियाँ / मग का उपयोग कर भी सकते हैं और पानी को पौधों में डाल सकते हैं।

पौधों को पानी देने के लिए केवल वाटर कैन (water cans) का उपयोग करने की सिफारिश की जाती है।

यदि आपको प्रतिदिन समय पर पानी देने का समय नहीं मिलता है, तो ड्रिप सिंचाई सिस्टम (drip irrigation) का इस्तेमाल करें।

कई रेडी मेड वाटरिंग सिस्टम (watering systems)और तकनीक उपलब्ध हैं, आप उन्हें एक प्रोफेशनल सलाह से अपने गार्डन में फिक्स कर सकते हैं।

पौधों को पानी देने के लिए साफ पानी का उपयोग करें, पौधों को क्लोरीनयुक्त पानी (chlorinated water) देने से बचें।

छत बागवानी के लिए बीज और वृक्षारोपण – Seeds and Plantation for Terrace Gardening in Hindi

नर्सरी से टेरेस गार्डनिंग के लिए जरूरी बीज और अंकुर (छोटे पौधे या रोपा) खरीदें, अब सभी बीज ऑनलाइन स्टोर में भी उपलब्ध हैं।

अच्छी गुणवत्ता वाले जैविक बीजों को खरीदें, क्योंकि पौधों की वृद्धि बीजों की गुणवत्ता पर निर्भर करती है।

बीज कवर पर लगे लेबल में लिखे निर्देश के अनुसार बुवाई प्रक्रिया का पालन करें।

कुछ बीज को बीज ट्रे में उगाया जाना चाहिए और फिर कंटेनरों में प्रत्यारोपित किया जाना चाहिए।

बीज ट्रे का 1 सेट खरीदें, अंकुर तक बीज को नियमित अवलोकन की आवश्यकता होती है।

मौसम और जलवायु परिस्थितियों के आधार पर टेरेस गार्डनिंग के लिए बीजों का चयन करें।

कुछ प्रकार के पौधे बीजों से बढ़ने के लिए कठिन होते हैं, उस स्थिति में नर्सरी से अंकुर (seedling) प्राप्त होते हैं।

कुछ पौधे सीधे कटिंग से उगाए जाते हैं। आप उन्हें खरीदने के बजाय पड़ोसियों या दोस्तों से कटिंग प्राप्त कर सकते हैं।

आसानी से उगाए जाने वाले पौधों (easily grown plants) से टेरेस गार्डनिंग की शुरूआत करें, आप समय-समय पर पौधों की संख्या बढ़ा सकते हैं।

टेरेस गार्डनिंग के लिए उर्वरकों की आवश्यकता – Fertilizers Requirement for Terrace Gardening in Hindi

कंटेनर में उगने वाले पौधों को नियमित रूप से फ़ीड की आवश्यकता होती है, खासकर बढ़ती अवधि में।

रासायनिक-आधारित उर्वरकों का उपयोग (chemical-based fertilizers) न करें, केवल जैविक उर्वरकों (organic fertilizers) की सिफारिश की जाती है।

हल्के तरल उर्वरकों (liquid fertilizers) और धीमी गति से रिलीज़ होने वाले उर्वरकों का उपयोग करें।

वनस्पति खाद (vegetable composts), फलों की खाद (fruit composts) या चाय की खाद (tea composts) जैसी प्राकृतिक खादों (Natural composts) का उपयोग सबसे अच्छे उर्वरकों के रूप में किया जाता है।

छह महीने में एक बार गोबर की खाद (cow manure) के साथ मिट्टी तैयार करें।

गोबर या पोल्ट्री खाद का उपयोग कुछ दिनों के लिए असुविधाजनक गंध दे सकता है।

छत बागवानी के लिए कीटनाशकों की आवश्यकता – Pesticides Requirement for Terrace Gardening in Hindi

एक बार जब आप गार्डन तैयार कर लेतें हैं, तो कीटों का सामना करने के लिए तैयार रहें। क्योंकि, पौधे कीटों से प्रभावित होते हैं।

कीटनाशकों का उपयोग कीटों के इलाज के लिए किया जाना चाहिए, लेकिन प्राकृतिक कीटनाशकों का इस्तेमाल करें जैसे नीम का तेल आदि, रासायनिक कीटनाशकों का उपयोग न करें।

प्राकृतिक कीटनाशक को आप घर पर तैयार कर सकते हैं।

आम कीटों के इलाज के लिए घर पर तैयार अदरक का तेल, एंटीसेप्टिक सोप स्प्रे, नीम के तेल का छिड़काव करने वाला प्राकृतिक कीटनाशक अच्छा होता है।

आप प्राकृतिक कीटनाशकों के बारे में ऑनलाइन कई पुस्तकें प्राप्त कर सकते हैं।

कीटों या बीमारियों से प्रभावित पौधों को अलग रखा जाना चाहिए, क्योंकि इसके दूसरे पौधों में फैलने की संभावना छत के बगीचों में अधिक होती है।

टैरेस गार्डनिंग में वर्षा जल संचयन – Rain Water Harvesting in Terrace Gardening in Hindi

वर्षा का पानी पौधों के लिए नाइट्रोजन का अच्छा स्रोत है।

बारिश के पानी को इकट्ठा करने के लिए हमारी छत में कुछ उपाय करें। आप बारिश के पानी को इकट्ठा करने के लिए बड़े कंटेनर या बाल्टियों को रख सकते हैं और बाद में इसका उपयोग करते हैं।

टैरेस गार्डनिंग में गार्डन कवर और विंड बैरियर – Garden Cover and Wind Barriers in Terrace Gardening in Hindi

तेज गर्मियों और तेज सर्दियों में, आपको पौधों के लिए कुछ छाया स्थापित करने की आवश्यकता होती है।

कुछ पौधे गर्मी प्रतिरोधी हैं और कुछ पौधे दोपहर के सूरज का विरोध नहीं कर सकते हैं; इसके लिए गार्डन कवर का उपयोग किया जाता है; इसके लिए हल्के यूवी प्रतिरोधी कवर (lightweight UV resistant covers) का उपयोग किया जाना चाहिए।

लेकिन गार्डन के कवर महंगे हो सकते हैं, इस मामले में आप कम लागत के नेट (shade netting) का इस्तेमाल कर सकते हैं।

यदि आप बजट को कम करना चाहतें हैं तो छत के कुछ क्षेत्र को नेट कवर करें और छायादार पौधों को उसके नीचे रखें।

सर्दियों के संवेदनशील पौधों को ठंढ से बचाने के लिए सर्दियों में इस्तेमाल किया जाने वाला गार्डन कवर का इस्तेमाल करें।

तेज हवा बाधाएं: छत पर उगे पौधों में होने वाली प्रमुख समस्या हवा उनको उड़ाती है। हवा पौधों की लताओं को खराब कर सकती है और युवा तनों को तोड़ सकती है। लेकिन पवन अवरोधों (Wind barriers) को स्थापित करना बहुत महंगा है, यदि आप पौधों को मजबूत छड़ों से बचाने के लिए बस बैरियर या बाड़ लगाने के लिए तैयार हैं तो यह काम सस्ते में हो सकता है।

टेरेस गार्डनिंग में पक्षियों से पौधों की रक्षा – Protecting Plants from Birds in Terrace Gardening in Hindi

छत के पौधों को पक्षियों और जानवरों जैसे चूहों और गिलहरियों से बचाना चाहिए।

सब्जियों, अंकुर, फल लगाने वाले पौधों को जानवरों से बचाने के लिए जाली या तारों से ढंकना चाहिए।

चूहों और गिलहरियों को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाएं, जो, बोए गए बीज, युवा पौधों को नुकसान पहुंचा सकतीं हैं।

टेरेस गार्डनिंग के लिए उपयुक्त पौधे – Suitable Plants for Terrace Gardening in Hindi

टैरेस गार्डन के लिए सब्जियां : मध्यम आकार के गमलों या उपजाऊ मिट्टी के साथ बनाये गए बेड के साथ अन्य सभी आवश्यकताएं के साथ आप टैरेस गार्डन की सभी सब्जियों जैसे टमाटर, गाजर, प्याज, आलू, चुकंदर, शिमला मिर्च, मूली, मिर्च, खीरे, और बैंगन कोआसानी से उगा सकते हैं। लेकिन इन सभी सब्जियों के पौधों को नियमित देखभाल की आवश्यकता होती है जैसे कि छंटाई, पानी देना आदि।

टैरेस गार्डनिंग के लिए फ्रूट ट्री : ऑरेंज, अमरूद, नींबू, पपीता, आम, की बौनी ट्री किस्मों का चयन करें, यह टैरेस गार्डनिंग के लिए बेस्ट हैं।

छत पर बागवानी के लिए फूलों के पौधे : गुलाब, मैरी गोल्ड, लिली, जैस्मीन और हिबिस्कस जैसे फूलों के पौधे छत पर उगाए जा सकते हैं।

टैरेस गार्डनिंग के लिए जड़ी- बूटियाँ : टैरेस गार्डन में आसानी से उगाई जाने वाली जड़ी-बूटियाँ पुदीना, तुलसी, करी पत्ता, अजवाइन, धनिया, प्याज और लहसुन टैरेस गार्डनिंग के लिए उपयुक्त हैं।

वर्टिकल गार्डनिंग के लिए पौधे: बॉश टन फ़र्न, बर्ड नेस्ट फ़र्न, रेबिट फ़ुट फ़र्न, पोथोस, लिपस्टिक प्लांट्स, बेबी टियर वगैरह, वर्टिकल गार्डन के लिए मटर, खीरे, पोल बीन्स, स्क्वैश और कद्दू भी अच्छे पौधें होते हैं।

छत पर बागवानी के लिए पत्तों की सब्जी: सोंफ के पत्ते, पालक, धनिया, लेट्यूस, सरसों के पत्ते, और ब्रोकली आदि।

टैरेस या रूफटॉप गार्डनिंग के फायदे – Advantages of Rooftop / Terrace Gardening in Hindi

रूफटॉप गार्डनिंग आपकी निजी जगह है और वहां केवल आप ही जा सकते हैं। आवश्यकता पड़ने पर आप किसी भी उपज की कटाई कर सकते हैं।

टैरेस गार्डनिंग हरे पौधों के कारण आपके भवन को शीतलन प्रभाव प्रदान करती है।

छत पर बढ़ते पौधे कार्बन मोनोऑक्साइड को कम कर सकते हैं और पर्यावरण के लिए भी अच्छे हैं।

टैरेस गार्डनिंग या छत पर बागवानी के लिए कम रखरखाव की आवश्यकता होती है।

आपका भवन टैरेस गार्डनिंग से सुंदर दिखता है और दूसरों के लिए एक अद्भुत दृश्य प्रदान करता है।

आप बढ़ते पौधों के लिए वर्षा जल का उपयोग कर सकते हैं।

टैरेस गार्डनिंग एक स्ट्रेस बस्टर है।

यह सब्जियों या फलों या जड़ी-बूटियों पर दैनिक खर्च की लागत को भी कम कर सकता है।

आपके रिश्तेदार भी आपके टैरेस गार्डनिंग से सब्जियों या फलों का आनंद ले सकते हैं।

छत पर बागवानी के लिए टिप्स – Tips for Terrace Gardening in Hindi

एक आदर्श थीमबनाएँ, सुंदर परिदृश्य बनाने के लिए, गार्डन के डिजाइन के अनुसार पौधों का चयन करें।

पहले प्रयास में सभी पौधों को उगाने के लिए अधिक उत्साहित न हों। उन पौधों की एक सूची बनाएं जिन्हें आप एक-एक करके बढ़ने और गर्मी और प्रकाश की आवश्यकताओं के अनुसार छत में व्यवस्थित करने की योजना बना रहे हैं।

प्रारंभिक चरणों में विफलता के साथ तैयार रहें, देखभाल के कारण, पानी भरने पर, ओवरफीडिंग कराने से विफलताएं हो सकती हैं। निराश न हों, अपनी गलतियों से सीखें।

अपने बगीचे में काम करते समय दस्ताने पहनें।

सभी प्रकार के कीड़ों से तैयार रहें।

पौधे, बीज, कीट और पौधों के बढ़ती प्रक्रिया के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए इंटरनेट सबसे अच्छा स्रोत है।

मिट्टी का चयन करना बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि मिट्टी पौधों के लिए बुनियादी पोषक तत्वों की आपूर्ति करती है। मिट्टी को अधिक उपजाऊ और अच्छी तरह से सूखा बनाने के लिए रेत और वर्मीकम्पोस्ट के साथ मिट्टी मिलाएं।

बरसात के मौसम के बाद, आवश्यक पोषक तत्वों के साथ कुछ हल्के जैविक उर्वरक का इस्तेमाल करें। चूंकि बारिश मिट्टी में पोषक तत्वों को पानी के साथ बाहर कर देती है।

टेरेस गार्डनिंग के लिए नियमित रूप से पानी की आवश्यकता होती है, गर्मियों के पौधों में पानी को दिन में दो बार देना जरुरी होता है।

आपको ये भी जानना चाहिये –

गमले में नींबू का पेड़ (पौधा) उगाने की पूरी जानकारी

पुदीना घर पर कैसे उगाएं

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करें। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration