नाक में उंगली डालने के नुकसान और आदत छुड़ाने के तरीके – Nose Picking: Health Risk And How To Stop In Hindi

नाक में उंगली डालने के फायदे, नुकसान और आदत छुड़ाने के तरीके - Nose Picking: Health Risk, Benefits And How To Stop In Hindi
Written by Deepti

Nose Picking in Hindi नाक में उंगली डालने की आदत कई लोगों की होती है। हर व्यक्ति कभी न कभी नाक में उंगली करता ही है। यूएसए में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार दुनिया की 91 फीसदी आबादी को नाक में उंगली करने की बुरी आदत है। मौका मिला नहीं, कि बस कर ली नाक में उंगली और करने लगे गंदगी साफ। कई लोगों के लिए ये अच्छा टाइमपास भी  होता है। वैसे, लोग कई वजहों से ऐसा करते हैं, जिसमें बहुत कम नाक, सूखी नाक, नाक में धूल के कण का चले जाना शामिल है। कई बार, नाक में जमी चिकनाई हवा और गर्मी के कारण सूखकर सख्त हो जाती है, जिसे लोग उंगली डालकर निकालते हैं।

हालांकि, ये सब तत्कालिक कारण हैं, जिस पर किसी का जोर नहीं है। वैसे आपको शायद न पता हो, कि नाक में उंगली डालने के कुछ फायदे और नुकसान भी हैं। अगर आपको भी ये बुरी आदत है, तो इससे जुड़े फायदे और नुकसानों के बारे में आपको जरूर जानना चाहिए। नाक में उंगली डालने कोई नई घटना नहीं है। 1970 के दशक में, मिस्र के प्राचीन समय में  इसकी खोज की गई थी जिसमें राजा तूतनखामेन (Tutankhamen’s) ने अपनी नाक में उंगली करने के लिए के अलग से एक व्यक्ति को रखा था।

नाक में उंगली डालने और उससे निकलने वाले बूगर को खाने की क्रिया को, म्यूकोफैगी (mucophagy) के रूप में भी जाना जाता है, पारंपरिक रूप से इसे घृणा के रूप में देखा जाता है। हालांकि, कुछ वैज्ञानिक विशेषज्ञ इससे अलग सुझाव देते हैं। नाक में उंगली डालने के बारे में आपको इन बातों का पता अवश्य होना चाहिए।

नाक में उंगली डालना सामाजिक तौर पर अशिष्ट माना जाता है। लेकिन, हर व्यक्ति कभी न कभी किसी भी कारण से नोज पिकिंग यानि नाक में उंगली करता ही है। अंतर इतना है, कि कोई छुपकर, तो कोई सबके सामने ऐसा करता है। दूसरे भी ऐसा कुछ देखना पसंद नहीं करते। उन्हें घिन्न आती है, कई लोग तो उल्टी तक कर देते हैं। बड़ों के साथ ज्यादातर बच्चों में उंगली से नाक साफ करने की बहुत आदत होती है, जो छुड़ाए नहीं छूटती। पैरेंट्स भी बच्चों की इस आदत से बहुत परेशान रहते हैं। अगर आपको भी नाक में उंगली करने की लत है, तो आज का हमारा ये आर्टिकल जरूर पढ़ें। इसमें हम आपको बताने जा रहे हैं, नाक में उंगली डालने के फायदे, नुकसान और इस आदत को छुड़ाने के कई आसान से तरीके भी।

1. लोग अपनी नाक में उंगली क्यों डालते हैं? – Why do people put a finger in their nose in Hindi
2. बच्चों द्वारा नाक में उंगली डालना – Nose picking in children in Hindi
3. वयस्कों द्वारा नाक में उंगली डालना – Nose picking in adults in Hindi
4. नाक में उंगली डालने के फायदे – Benefits of nose picking in Hindi
5. नाक में उंगली डालने के नुकसान – Naak me ungli dalne ke nuksan in Hindi
6. नाक में उंगली डालने की आदत कैसे छुड़ाएं – Easy ways to stop picking your nose in Hindi

लोग अपनी नाक में उंगली क्यों डालते हैं? – Why do people put a finger in their nose in Hindi

लोग अपनी नाक में उंगली क्यों डालते हैं? - Why do people put a finger in their nose in Hindi

नाक में उंगली करना एक जिज्ञासु आदत है। 1995 में प्रकाशित हुए एक अध्ययन के अनुसार 91 प्रतिशत लोग उंगली से नाक साफ करते हैं। लोग दिन में औसतन चार बार अपनी नाक में उंगली डालते हैं। इसकी पहली वजह है सूखी नाक। कुछ लोग बोरियत या घबराहट की वजह से भी नाक में उंगली डालते हैं। एलर्जी और साइनस संक्रमण नाक में बलगम की मात्रा भी बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा लोग तनाव या चिंता के कारण भी नाक में उंगली करते हैं, जिसे राइनोटिलैक्सोमानिया (rhinotillexomania) कहते हैं। वाकई इस स्थिति वाले लोग जब नाक में उंगली करते हैं, तो उनकी चिंता काफी हद तक कम हो जाती है। नोज पिकिंग की आदत सामाजिक तौर पर स्वीकार्य नहीं है, लेकिन सही मायने में यह बहुत ज्यादा खतरनाक भी नहीं है।

(और पढ़े – साइनस क्या होता है कैसे कर सकते हैं घर ही इस बीमारी का ईलाज…)

बच्चों द्वारा नाक में उंगली डालना – Nose picking in children in Hindi

बच्चों को विशेष रूप से नाक में उंगली करने का खतरा होता है क्योंकि उन्होंने नाक साफ करने के वैकल्पिक तरीकों को नहीं सीखा होगा, जैसे कि उनकी नाक बहना। वे उन चीजों से भी परेशान नहीं होते हैं जो कई वयस्क सामाजिक रूप से अस्वीकार्य पाते हैं।

उनके द्वारा नाक में उंगली डालना और बोगर्स को खाना, फिर अन्य घरेलू वस्तुओं और अन्य लोगों की त्वचा को छूना संभवतः वायरस और बैक्टीरिया फैलाने के लिए जोखिम बढ़ा सकता है, जैसे कि फ्लू या एक सामान्य सर्दी। इसके अलावा, नाक में उंगली डालने से बच्चे की नाक में घाव हो सकता है, जिससे आगे चलकर नाक से खून भी निकल सकता है।

(और पढ़े – नाक से खून आने के लक्षण, कारण, इलाज और बचाव…)

वयस्कों द्वारा नाक में उंगली डालना – Nose picking in adults in Hindi

कई लोग बचपन के साथ नाक में उंगली डालना शुरू करते हैं और उसके बूगर को खाते हैं , वयस्क भी उनके बूगर खाते हैं। वयस्कता में, कई योगदान कारक इस व्यवहार को जन्म दे सकते हैं।

सबसे पहले, एक व्यक्ति के लिए एक आदत इतनी सामान्य हो सकती है कि वे महसूस भी नहीं कर सकते कि वे अपनी नाक में उंगली कर रहे हैं और अपने बूगर को खा रहे हैं। दूसरा, नाक में ऊँगली डालना चिंता को दूर करने का एक तरीका हो सकता है। कुछ लोगों में, नाक में उंगली डालने का कारण (rhinotillexomania) जुनूनी बाध्यकारी विकार (obsessive compulsive disorder) का एक रूप हो सकता है।

(और पढ़े – नाक में मुंहासे (फुंसी) होने के कारण लक्षण और घरेलू उपाय…)

नाक में उंगली डालने के फायदे – Benefits of nose picking in Hindi

नाक में उंगली डालने के फायदे - Benefits of nose picking in Hindi

वैसे तो, नाक में उंगली डालना अच्छा नहीं माना जाता। सामाजिक रूप से यह काफी शर्मसार करने वाली आदत होती है, जिससे आप कभी-कभी हंसी का पात्र भी बन जाते हैं। नाक में उंगली डालने की आदत लोगों के सामने आपको शर्मिंदा जरूर करती है, लेकिन इसके कई फायदे भी हैं, जिनके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। हम आपको नाक में उंगली करने के कुछ ऐसे ही फायदों के बारे में आगे बता रहे हैं।

कैनिडियन यूनिवर्सिटी के बायोकेमिस्ट्री के प्रोफेसर ने नाक में उंगली डालने की आदत को अच्छा बताया है। उन्होंने कहा है, कि नाक में उंगली डालना और फिर हाथों को साफ किए बिना खाना खा लेने से सेहत अच्छी रहती है।

उनके अनुसार नाक से निकलने वाले बगूर या बलगम को खाने से सेहत अच्छी रहती है। यह हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है, जिससे प्रतिरक्षा तंत्र मजबूत होता है।

हालांकि, कुछ वैज्ञानिकों का तर्क है कि नाक से निकलने वाला श्लेष्मा मानव शरीर के लिए लाभ प्रदान करता है। फ्रेडरिक बिस्किंजर, फेफड़ों में विशेषज्ञता वाले एक ऑस्ट्रियाई चिकित्सक बताते हैं, कि जब नाक के बलगम को निकालने के लिए उंगलियों का उपयोग किया जाता है और फिर उसे निगला जाता है, तो ऐसा करने वाले लोगों को “उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली को एक प्राकृतिक बढ़ावा” मिलता है। बलगम में “एंटीसेप्टिक एंजाइमों का एक कॉकटेल होता है जो कई जीवाणुओं को मारता या कमजोर करता है जो उसमें उलझ जाते हैं”, इसलिए “अपंग” (crippled) सूक्ष्मजीवों “को फिर से प्रस्तुत करना प्रतिरक्षा प्रणाली को सापेक्ष सुरक्षा में एंटीबॉडी के उत्पादन का अवसर दे सकता है।”

(और पढ़े – रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय…)

नाक में उंगली डालने के नुकसान – Naak me ungli dalne ke nuksan in Hindi

नाक में उंगली डालने के नुकसान - Naak me ungli dalne ke nuksan in Hindi

जिस तरह नाक में उंगली डालने के कुछ फायदे हैं, तो ऐसा करने से आपको बहुत से नुकसान भी हो सकते हैं। खासतौर से उन लोगों को जो अक्सर बीमार रहते हैं या फिर जिनकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है। ये सभी नुकसान आपके स्वास्थ्य से जुड़े हैं, इसलिए नाक में उंगली डालने से पहले इनके नुकसानों के बारे में जरूर जान लें।

  • उंगली से नाक साफ करने से उंगली तो गंदी होती ही है, साथ ही आपके आसपास भी गंदगी फैलती है।
  • उंगली से नाक साफ करने से नाक में इंफेक्शन फैल सकता है। दरअसल, उंगली के नाखून आपके नाक के ऊतकों में छोटे-छोटे कट्स पैदा कर सकते हैं, जिससे संक्रमण होने की संभावना बढ़ जाती है। 2006 में हुए एक अध्ययन में पाया गया है, कि जो लोग नाक में उंगली डालते हैं, उनमें स्टैफिलोकोकस ऑरियस (Staphylococcus aureus) को प्रवेश करने का बढिय़ा मौका मिल जाता है। आपको बता दें, कि यह एक ऐसा जीवाणु है, जो संक्रमण पैदा करने के लिए जिम्मेदार है।
  • बलगम धूल, बैक्टीरिया और वायरस को जल्दी पकड़ता है। अगर आप अपनी नाक में उंगली डालते हैं, तो ये कीटाणु आपके अंदर प्रवेश कर सकते हैं। एक अध्ययन में पाया गया है, कि नाक में उंगली डालने से बैक्टीरिया फैल सकते हैं, जो बड़ी मात्रा में निमोनिया के लिए जिम्मेदार हैं।
  • बार-बार नाक में उंगली करने से नसल कैविटी यानि नाक गुहा को नुकसान पहुंच सकता है और सामने के हिस्से में सूजन आ सकती है। यह स्थिति नाक के भीतर होने वाले घावों का कारण भी बनती है, जो दर्दनाक पपड़ी भी विकसित कर सकती है। इससे कई बार सांस लेने में भी दिक्कत आती है।
  • नाक में बार-बार उंगली करने से आपकी सेप्टम को नुकसान पहुंचता है। सेप्टम हड्डी और कार्टिलेज का एक हिस्सा है, जो बाएं और दाएं नथुने को डिवाइड करती है। लगातार नाक में उंगली डालने से इसमें छेद भी हो सकता है।
  • ध्यान रखे नाक में लगातार उंगली डालने (chronic nose pickers) से रक्त वाहिकाएं टूट सकती हैं। इससे रक्तस्त्राव या नकसीर (nosebleeds) भी हो सकता है। ऐसे लोगों की नाक भी धीरे-धीरे सेंसिटिव होने लगती है।
  • नाक में उंगली करते समय कई बार आपकी नाक से बाल भी टूटते हैं। इससे रोम से बाल हटने से नाक में घाव और सूजन पैदा हो सकती है। ऐसे घाव आपको बहुत दर्द भी दे सकते हैं।
  • कभी-कभी नाक में उंगली डालना अंतर्निहित एलर्जी का संकेत हो सकता है। इससे नाक में म्यूकस यानि बलगम भर सकता है, जिसे निकालना बहुत जरूरी होता है।

(और पढ़े – नाक से खून आने (नकसीर) के घरेलू उपाय…)

नाक में उंगली डालने की आदत कैसे छुड़ाएं – Easy ways to stop picking your nose in Hindi

नाक में उंगली डालने की आदत कैसे छुड़ाएं - Easy ways to stop picking your nose in Hindi

नाक में जमा बलगम अक्सर जलन पैदा करती है, इसलिए बड़े और बच्चे दोनों अक्सर नाक में उंगली करते हैं। लेकिन बच्चों के माता-पिता होने के नाते उनकी जिम्मेदारी है कि बच्चों की इस बुरी आदत को छुडाएं। अगर आप भी नाक में उंगली डालने से रोकने के लिए कई तरीके अपना चुके हैं, लेकिन खुद को कंट्रोल नहीं कर पाते, तो हमारे द्वारा नीचे बताए गए तरीके आजमाकर देखिए, हो सकता है, कोई सकारात्मक परिणाम मिल जाए।

बच्चों की नाक में उंगली डालने की आदत कैसे छुड़ाएं

  • जो बच्चे नाक में उंगली डालते हैं, उन्हें बताएं कि ऐसा करने से उनकी नाक गुहा छिल सकती है। जिससे उन्हें दर्द हो सकता है।
  • बच्चों को सिखाएं कि नाक में उंगली डालने के बाद हाथ को हमेशा साबुन से धोएं
  • जिन बच्चों को नाक में उंगली डालने की बहुत ही ज्यादा आदत है, उनके हाथों को व्यस्त रखने की कोशिश करें।
  • नाक में उंगली डालने की आदत को लेकर आप डॉक्टर से भी बात कर सकते हैं। हो सकता है, आपके बच्चे को किसी एलर्जी या डिहाइड्रेशन के कारण ऐसा हो रहा है।
  • उन्हें समझाएं, कि नाक में उंगली क्यों नहीं देनी चाहिए। उन्हें बताएं, कि इससे वे खुद को और दूसरों को बीमार कर सकते हैं।
  • बेहतर विकल्पों को पेश करते हुए बच्चे की इस आदत पर बार-बार उसे टोकते रहें।
  • बच्चों की इस अदात को इग्रोर करना शुरू करें। ऐसा इसलिए क्योंकि कई बार ऐसा बच्चे माता-पिता का अंटेशन पाने के लिए भी करते हैं। अगर आप उन पर ध्यान ही नहीं देंगे, तो हो सकता है, कि वे खुद ब खुद इस आदत को छोड़ दें।
  • बच्चों को नाक साफ करने का सही तरीका सिखाएं। उन्हें बताएं कि बाथरूम में जाने के बाद हाथ पोछें, नाक साफ करें और फिर से हाथ जरूर धोएं।

(और पढ़े – अगर बच्चों को बनाना है कामयाब तो इन चीजें को करें फॉलो…)

बड़े लोग नाक में उंगली डालने की आदत कैसे छुड़ाएं

वहीं, बड़े लोग इस आदत को नियमित रूप से ट्रिगर करें। यानि की आप देखें, कि आप अक्सर कब नाक में उंगली करते हैं। जब आप घर पर होते हैं, थके हुए होते हैं, अकेले होते हैं, कुछ काम करते वक्त। इन बातों को रिकॉर्ड करते हुए न केवल आप नाक में उंगली डालते वक्त थोड़ा ध्यान देंगे।

  • अब नाक को सुबह और शाम को नियमित रूप से साफ करें। अगर आप नियमित रूप से इसे साफ करेंगे, तो नाक में उंगली करने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। नाक को साफ करने के लिए पानी का उपयोग भी कर सकते हैं।
  • यदि आपको कोई एलर्जी है, तो उस पर ध्यान दें और इससे जुड़ी दवाओं के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।
  • सुबह उठते वक्त ब्रश के पास एक नोट रख लें। जब भी आप दांत साफ करें, तब अपनी नाक भी साफ करें।
  • नाक के बालों को ट्रिम करते रहें। इसके लिए आप हेयर ट्रिमर का यूज कर सकते हैं।
  • अपने विचारों को बदलें। जी हां, एक अध्ययन के अनुसार जो लोग अपनी आदतों और विचारों को बदलते हैं, वे अपनी बुरी आदतों को छुड़ाने में सफल होते हैं।
  • अध्ययनों से यह भी पता चला है, कि सुबह शाम किताब पढऩे से भी अपनी कुछ आदतों में बदलाव लाया जा सकता है।
  • एक शीशे के सामने खुद को खड़ा रखें और तय करें कि आप ये आदत छोड़ देंगे, कुछ दिनों में आप सफल हो जाएंगे।
  • नाक में उंगली डालने की आदत को छोड़ने के लिए जरूरी है, कि अपने हाथों को व्यस्त रखें। हाथों को व्यस्त रखने के लिए स्ट्रेस बॉल की मदद लें।
  • संभावित जोखिमों के बावजूद भी लोग समय-समय पर अपनी नाक में उंगली डालते हैं। हालांकि, इसके फायदे भी है और नुकसान भी। वैसे तो, इस आदत से छुटकारा पाने के कुछ तरीके हमने आपको ऊपर बताए हैं, लेकिन फिर भी आपको लगे कि इससे कोई फायदा नहीं हो रहा है, तो आप बेझिझक डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं। वे आपकी आदत को समझते हुए संक्रमण और टिशू डैमेज सहित संभावित दुष्प्रभावों को रोकने के तरीके तलाशने में भी आपकी मदद करेंगे।
  • बलगम, या बूगर, आपके शरीर का एक स्वाभाविक रूप से सुरक्षात्मक हिस्सा है। श्वसन पथ में आने से पहले धूल, बैक्टीरिया, वायरस और गंदगी को पकड़ने के लिए नाक का बलगम सुरक्षात्मक हो सकता है।
  • हालांकि, इस बात का समर्थन करने के लिए बहुत सारे शोध नहीं हैं कि नाक वाला बलगम खाना शरीर के लिए फायदेमंद है – और यह संभावित रूप से आगे कीटाणुओं को शुरू करने या उन्हें गलती से दूसरों को पारित करने से बढ़े हुए संक्रमण का कारण बन सकता है।
  • लोग जानते हैं कि बूगर खाने को आमतौर पर सामाजिक रूप से स्वीकार्य नहीं किया जाता है। यदि आपको नाक में उंगली डालने की आदत है और आप उसे अपने आप छोड़ने में सक्षम नहीं हो पाते हैं, तो डॉक्टर से बात करने पर आपको नाक में ऊँगली डालने की आदत को छोड़ने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़े – एलर्जी के घरेलू उपाय और उपचार…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

आपको ये भी जानना चाहिये –

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration