बेबी बॉय (लड़के) की ऊंचाई और वजन चार्ट – Indian baby boy height and weight chart in Hindi

बेबी बॉय (लड़के) की ऊंचाई और वजन चार्ट - Indian baby boy height and weight chart in Hindi
Written by Akansha

Indian baby boy height and weight chart in Hindi ऊंचाई और वजन चार्ट जिसे हम विकास चार्ट (growth chart) के नाम से जानतें हैं एक उपकरण है जो यह निर्धारित करने के लिए उपयोग किया जाता है कि क्या बच्चे उस तरीके से ही विकसित हो रहे हैं जो उन्हें होना चाहिए। लड़कों और लड़कियों दोनों के अलग-अलग विकास चार्ट होते हैं क्योंकि लड़के औसतन लड़कियों की तुलना में थोड़े भारी और लम्बे होते हैं और साथ ही अलग-अलग विकास पैटर्न भी होते हैं। बेबी बॉय के विकास चार्ट से आपके बच्चे की वृद्धि को सही ढंग से ट्रैक करने में मदद कर सकता है।

आज इस लेख में हम जानेंगे की कैसे ग्रोथ चार्ट से आप अपने बेबी बॉय की उम्र के हिसाब से सही ऊंचाई और वजन जान सकते है।

  1. बेबी बॉय ग्रोथ चार्ट ऊंचाई और वजन के अनुसार – Baby boy growth chart according to height and weight in hindi
  2. कैसे घर पर अपने बच्चे की ऊंचाई और वजन को मापे – How to Measure Your Baby Boy height and weight at Home in hindi
  3. कौन से कारक आपके बेबी बॉय के विकास को प्रभावित कर सकते हैं – What Factors Can Influence Your Baby boy Growth in hindi
  4. बेबी बॉय का विकास चार्ट रखना महत्वपूर्ण क्यों है – Why Is It Important to Have a Baby Boy Growth Chart in hindi
  5. क्या जन्म का वजन बच्चे के विकास में भूमिका निभाता है – Does Birth Weight Play a Role in a Baby’s Growth in hindi

बेबी बॉय ग्रोथ चार्ट ऊंचाई और वजन के अनुसार – Baby boy growth chart according to height and weight in hindi

बेबी बॉय ग्रोथ चार्ट ऊंचाई और वजन के अनुसार – Baby boy growth chart according to height and weight in hindi

यह ग्रोथ चार्ट शिशु लड़कों के लिए डब्ल्यूएचओ के विकास मानकों के द्वारा माप की सीमा देता है। यह जांचना कि आपका बच्चा इस सीमा में फिट बैठता है, आपको आश्वस्त कर सकता है कि वह अपनी उम्र के हिसाब से ऊंचाई और वजन की सामान्य सीमा के भीतर है। लेकिन यह ट्रैक करने के लिए कि आपका बच्चा समय के साथ पर्याप्त रूप से बढ़ रहा है, आपको एक ग्रोथ चार्ट का उपयोग करने की आवश्यकता होगी जो उसकी ग्रोथ कर्व और प्रतिशत को दर्शाता है।

  महीने में उम्र  ऊंचाई (सेमी)  वजन (किग्रा)
    0      46.3 – 53.4    2.5 – 4.3
    1      51.1 – 58.4    3.4 – 5.7
    2      54.7 – 62.2    4.4 – 7.0
    3      57.6 – 65.3    5.1 – 7.9
    4      60.0 – 67.8    5.6 – 8.6
    5      61.9 – 69.9    6.1 – 9.2
    6      63.6 – 71.6    6.4 – 9.7
    7      65.1 – 73.2    6.7 – 10.2
    8      66.5 – 74.7    7.0 – 10.5
    9      67.7 – 76.2    7.2 – 10.9
   10      69.0 – 77.6    7.5 – 11.2
   11      70.2- 78.9    7.4 – 11.5
   12      71.3 – 80.2    7.8 – 11.8

(और पढ़े – लड़की (बेबी गर्ल) की उम्र के अनुसार वजन और लंबाई…)

कैसे घर पर अपने बच्चे की ऊंचाई और वजन को मापे – How to Measure Your Baby Boy height and weight at Home in hindi

कैसे घर पर अपने बच्चे की ऊंचाई और वजन को मापे - How to Measure Your Baby Boy height and weight at Home in hindi

आप अपने घर पर ही आसानी से अपने बच्चे का वजन और ऊंचाई माप सकते हैं। निचे दिए गए कुछ निम्न उपायों के द्वारा-

ऊंचाई – अपने बच्चे की ऊंचाई को मापना थोड़ा मुश्किल हो सकता है क्योंकि वह बहुत हिल डुल सकता है। उसे बिस्तर या टेबल जैसी सपाट सतह पर लिटा दें और उसके पैरों को फैला दें। एक लम्बाई नापने वाले टेप का उपयोग करके, सिर की चोटी से लेकर पैरों के तलवों तक उसकी ऊंचाई को नापे और नोट करें।

वजन – आप अपने बेबी बॉय के वजन को मापने के लिए वेट मशीन से आसानी से बच्चे का वजन माप सकते हैं।

(और पढ़े – जानिए क्या होता है हाईट एंड वेट चार्ट…)

कौन से कारक आपके बेबी बॉय के विकास को प्रभावित कर सकते हैं – What Factors Can Influence Your Baby boy Growth in Hindi

आपके बच्चे का विकास कई कारकों पर निर्भर करता है जैसे कि भोजन की आदतें, चयापचय, शरीर का प्रकार, उसका सामान्य स्वास्थ्य और पर्यावरण। इस पर विचार करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण कारक हैं-

फीडिंग – Feeding

फीडिंग – Feeding

आपके बेबी बॉय को जितनी पोषण की आवश्यकता होती है, वह सब सही तरह का खाना खिलाने से आता है और यह उसकी वृद्धि को महत्वपूर्ण रूप से निर्धारित करता है। लगभग छह महीने तक, शिशु पोषण के लिए स्तन के दूध पर निर्भर होता है। पर्याप्त भोजन अन्य कारकों का भी समर्थन करता है जो विकास को प्रभावित करते हैं।

(और पढ़े – बच्चे को स्तनपान कराने से होते हैं ये बड़े फायदे…)

गर्भावस्था के दौरान माँ का स्वास्थ्य – Mother’s Health During Pregnancy

आपके गर्भावस्था के दौरान आपके बच्चे का विकास कैसे होता है, इस पर आपके द्वारा गर्भावस्था के समय लेने वाले आहार, वजन और जीवनशैली का बड़ा प्रभाव पड़ता है। बदले में, बच्चे के शरीर में जमा होने वाले पोषक तत्वों को प्रभावित करता है जब वह पैदा होता है और पहले वर्ष में उसकी वृद्धि को प्रभावित करता है।

(और पढ़े – तेज होगा बच्चा अगर गर्भावस्था के दौरान इन बातों पर गौर करेगी मां…)

जन्म के समय बच्चे का वजन – Baby’s Weight at Birth

जन्म के समय का वजन इस बात का सूचक है कि गर्भावस्था के दौरान शिशु को कितना पोषण दिया गया था। यदि जन्म के समय उसका वजन अधिक है, तो वे धीरे-धीरे बढ़ते हैं। इसे कैच-डाउन और कैच-अप ग्रोथ पैटर्न के रूप में भी जाना जाता है।

(और पढ़े – नवजात शिशुओं के बारे में रोचक तथ्य…)

जीन – Genes

बच्चे के विकास में जीन एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं। उन माता-पिता के बच्चे जो लंबे और अच्छी तरह से निर्मित होते हैं, वे ऊंचाई और वजन के उच्च प्रतिशत में होते हैं। दूसरी ओर, मामूली रूप से निर्मित माता-पिता के बच्चे दुबले होते हैं।

(और पढ़े – नवजात शिशु की देखभाल कैसे करें…)

छोटी बीमारी – Minor Ailments

फ्लू और कान के संक्रमण जैसी बीमारियां बच्चे के विकास को अस्थायी रूप से प्रभावित कर सकती हैं। वे बीमारी की अवधि के दौरान अच्छी तरह से नहीं खाते हैं जो एक सप्ताह या उससे अधिक के लिए विकास को प्रभावित कर देता हैं। लेकिन वे ठीक हो जाने के बाद वापस सामान्य हो जाते हैं।

(और पढ़े – कान बहने के कारण, लक्षण और इलाज…)

गर्भावस्था के बाद माँ का स्वास्थ्य – Mother’s Health After Pregnancy

गर्भावस्था के बाद माँ का स्वास्थ्य - Mother’s Health After Pregnancy

यदि माँ अस्वस्थ है या प्रसवोत्तर अवसाद जैसी स्थितियों से पीड़ित है, तो इससे बच्चे की देखभाल करने के तरीके पर असर पड़ेगा। यह उसकी विकास दर को बहुत अधिक प्रभावित कर सकता है। हालांकि, एक बार माँ अपनी बीमारी से ठीक हो जाने के बाद इसमें सुधार कर सकती है।

(और पढ़े – डिलीवरी के बाद डिप्रेशन (पोस्टपार्टम डिप्रेशन) के लक्षण, कारण, इलाज और बचाव…)

बेबी बॉय का विकास चार्ट रखना महत्वपूर्ण क्यों है – Why Is It Important to Have a Baby Boy Growth Chart in hindi

बेबी बॉय का विकास चार्ट रखना महत्वपूर्ण क्यों है - Why Is It Important to Have a Baby Boy Growth Chart in hindi

बेबी बॉय का विकास चार्ट माता-पिता और बाल रोग विशेषज्ञ को बच्चे के पोषण की स्थिति, ऊंचाई और वजन का आकलन करने में मदद करता है। शिशु के जीवन के पहले छह वर्षों में सही और पूरा विकास महत्वपूर्ण होता है, इसलिए इस चार्ट की मदद से लड़के के विकास को ट्रैक करना महत्वपूर्ण है।

(और पढ़े – ये है वो 8 फूड्स जिनको बच्चों को खिलाने से जल्दी बढ़ेगी हाइट…)

क्या जन्म का वजन बच्चे के विकास में भूमिका निभाता है – Does Birth Weight Play a Role in a Baby’s Growth in hindi

क्या जन्म का वजन बच्चे के विकास में भूमिका निभाता है - Does Birth Weight Play a Role in a Baby’s Growth in hindi

यह ज़रुरी नहीं। जन्म का वजन बच्चे की वृद्धि और विकास में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। बल्कि, माता-पिता के जीन इसे निर्धारित करते हैं। कुछ छोटे बच्चे लम्बे और मस्कुलर पुरुषों में विकसित हो जाते हैं जबकि कुछ बड़े बच्चे दुबले हो जाते हैं।

(और पढ़े – लंबाई बढ़ाने के आसान तरीके…)

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration