कूलर के फायदे और नुकसान – Cooler Benefits And Side Effects In Hindi

कूलर के फायदे और नुकसान - Cooler Benefits And Side Effects In Hindi
Written by Akansha

कूलर में रहने के जहां बहुत सारे फायदे है तो वहीं कुछ नुकसान भी है। गर्मियों का मौसम एक बार फिर लौट आया है और तेज धूप और तपिश में आपको सबसे पहले जिस चीज का ख्याल आता होगा वह है कूलर क्योकि कूलर ही हमें गर्मी में सबसे ज्यादा राहत देता है। पर क्या आप जानते है की कूलर में रहने के फायदे के साथ साथ बहुत सारे नुकसान भी है क्योकि ज्यादा देर तक कूलर में रहने से भी हमारे शरीर में बहुत सारी बीमारियां उत्पन्न हो जाती है जिससे कई गंभीर समस्याएं हो सकती है।

आज इस लेख में हम आपको बतायेंगे की कूलर में देर तक रहने के क्या फायदे और नुकसान है।

  1. एयर कूलर में रहने के फायदे – Cooler ke fayde in Hindi
  2. कूलर में ज्यादा देर तक रहने के नुकसान – Cooler ke nuksan in Hindi
  3. क्या कूलर चलाना नवजात शिशुओं के लिए सुरक्षित है- Coolers effect on newborn babies in Hindi

कूलर में रहने के फायदे – Cooler ke fayde in Hindi

एयर कूलर के वैसे तो कई सारे फायदे होते है परन्तु कुछ नुकसान भी होते है। आईये जाने क्या है कूलर के फायदे क्या है-

  • कूलर का सबसे बड़ा फायदा यह है की यह प्राकृतिक हवा का ही इस्तेमाल करता है कमरे को ठंडा करने के लिए क्योकि कूलर बाहरी वातावरण की गर्म हवा को अंदर खींच कर उसे ठंडा करता है फिर बाहर छोड़ता है।
  • एयर कूलर का दूसरा फायदा यह है की कूलर ज्यादा सस्ता और किफायती होता है, इसे आम लोग आसानी से खरीद पाते है।
  • कूलर का एक फायदा यह भी है की इसे आप अपने हिसाब से कही भी ले जाकर लगा सकते है यह एक मूवेबल उपकरण होता है।
  • कूलर का यह भी फायदा है की इसकी प्राकृतिक हवा से शरीर को कोई नुकसान नहीं होता है ना ही इससे किसी प्रकार की एलर्जी और सांस सम्बन्धी किसी बीमारी का डर रहता है।

(और पढ़ें – घर की हवा को शुद्ध करने वाले 20 पौधे)

कूलर में ज्यादा देर तक रहने के नुकसान – Cooler ke nuksan in Hindi

जहां कूलर के बहुत सारे फायदे है वहीं इसके कुछ नुकसान भी है जिसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। कूलर के नुकसान में शामिल है-

कूलर के पानी में पनप सकते है जानलेवा मच्छर

कूलर के पानी में पनप सकते है जानलेवा मच्छर

कूलर के इस्तेमाल का सबसे बड़ा नुकसान यह है की कूलर हमें ठंडी हवा तो देता है पर अगर कूलर के पानी को बहुत लम्बे समय के लिए जमा करके रखा जाये या उस पानी को साफ ना किया जाये तो उसमे डेंगू, मलेरिया जैसी जानलेवा बीमारियों के मच्छर पनप सकते है जिससे जान का जोखिम भी हो सकता है।

(और पढ़ें – डेंगू से बचने के लिए ये हैं आसान घरेलू उपाय)

कूलर आर्द्रता (humidity) वाले क्षेत्रो में कम कुशल होते है

एयर कूलर का सबसे बड़ा नुकसान ये है की यह पूरी तरह से जलवायु (climate) पर निर्भर रहता है जिसकी वजह से ज्यादा आर्द्रता (humidity) वाले क्षेत्रों में इसकी कार्य कुशलता कम होती है, क्योकि एयर कूलर पानी को वाष्प (vapors) में परिवर्तित करता है। जल वाष्प (water vapor) हवा में जाकर जुड़ता है और हवा को ठंडा करता है। नम क्षेत्रों में हवा में पहले से ही उच्च मात्रा में पानी होता है। इसलिए जब आप उच्च आर्द्र क्षेत्रों में एयर कूलर चलाते हैं, तो हवा में अतिरिक्त नमी के लिए कोई जगह नहीं बचती है, जिससे एयर कूलर का कार्य प्रभावित होता है।

कूलर से बच्चों को लग सकता है करंट 

एयर कूलर का एक ये सबसे बड़ा नुकसान है की यह पानी से चलता है जिसकी वजह से इसमें करंट आने का डर बना रहता है इसलिए हमेशा कूलर का इस्तेमाल करते समय बच्चों को इसकी पहुँच से दूर रखे।

कूलर का इस्तेमाल अस्थमा के रोगी के लिए हो सकता है नुकसानदायक

कूलर का इस्तेमाल अस्थमा के रोगी के लिए हो सकता है नुकसानदायक

कूलर का पानी जब भाप बनता है तो आर्द्रता बढ़ा देता है जो बैक्टीरिया वायरस की वृद्धि करने के लिए एक अनुकूल माहौल होता है जिससे ये आसानी से पनप सकते है। इन सबसे अस्थमा रोगियों को सावधान रहना चहिये, क्योकि इन वायरस बैक्टीरिया की वजह से अस्थमा का अटैक आ सकता है जो बहुत ही घातक साबित हो सकता है।

(और पढ़ें – अस्थमा (दमा) के कारण, लक्षण, उपचार एवं बचाव)

क्या कूलर चलाना नवजात शिशुओं के लिए सुरक्षित है – Coolers effect on newborn babies in Hindi

क्या कूलर चलाना नवजात शिशुओं के लिए सुरक्षित है - Coolers effect on newborn babies in Hindi

बहुत सी महिलाएं यह जानना चाहती है की क्या कूलर चलाना उनके नवजात शिशुओं के लिए सुरक्षित है, तो इसका जवाब है हाँ आप बिना चिंता के अपने नवजात शिशु को कूलर की हवा में रख सकती है पर उसके लिए आपको कुछ सावधानियों रखनी होंगी जिनके बारे में हम आपको बतायेंगे। सावधानियों में शामिल है-

  • नवजात शिशु अपने शरीर के तापमान को खुद ठीक तरह से मेन्टेन नहीं कर सकते है इसलिए आप उन्हें कूलर की हवा का ठंडा माहौल दे सकती है जिससे वह गर्मियों में होने वाली कई तरह की बीमारियों से सुरक्षित रहेंगे।
  • ज्यादा आर्द्रता वाले मौसम में कूलर चलते वक़्त हमेशा थोड़ी सी खिड़की या दरवाजा खुला रखे ताकि कमरे का माहौल आर्द्रतापूर्ण ना हो जाये इससे नवजात शिशु को परेशानी हो सकती है।
  • नवजात शिशु को कभी भी कूलर की सीधी हवा के सामने ना सुलाएं इससे उनके ज्यादा ठण्ड लग सकती है और सर्दी जुखाम जैसी परेशानी हो सकती है।
  • कुछ शोधकर्ताओं का मानना है की ज्यादा आर्द्रता वाले मौसम में कूलर चलाने के बजाये आप पंखे का उपयोग करें यह नवजात शिशु के स्वस्थ के लिए भी अच्छा रहेगा।
  • कूलर की समय समय पर सफाई करना भी बहुत जरुरी है नहीं तो कूलर में जानलेवा मच्छर और बैक्टीरिया पैदा हो सकते है जिससे नवजात शिशु को कई तरह की घातक बीमारियाँ हो सकती है।
  • नवजात शिशु को कभी भी कूलर के ठंडे माहौल ने निकालकर सीधे गर्म माहौल में ना ले जायें इससे कई तरह की बीमारियाँ हो सकती है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration