ग्रीन टी या लेमन टी कौन है बेहतर – Green Tea V/s Lemon Tea which is best in hindi

ग्रीन टी या लेमन टी कौन है बेहतर - Green Tea V/s Lemon Tea which is best in hindi
Written by Sneha

ग्रीन टी या लेमन टी में कौन बेहतर है ये सवाल अक्सर लोगों के मन में बना रहता है क्योंकि आज के समय में हर घर में सुबह की शुरुआत चाय के साथ होती है चाय कोई भी हो वो हमारी सर्दी, थकान और  सुस्ती को  दूर कर  हमें तरोताज़ा कर देती हैं। सुबह की चाय का अपना अलग मजा है हर किसी का चाय पीने का अपना ही अलग तरीका होता हैं। कोई काली चाय, कोई हरी चाय, कोई नींबू की चाय, तो कोई तुलसी की चाय हर किसी का अपना-अपना टेस्ट अलग ही होता है। सुबह-सुबह की Exercise के साथ अगर चाय भी हेल्दी मिल जाए, तो फैट को आसानी से दूर किया जा सकता है। lemon Tea या Green Tea आपको अपना वजन कम करने करने ने कौन जयादा मददगार साबित होगी आज हम इसी के बारे में जानने वाले है।

वजन कम करने के सबसे लोकप्रिय तरीकों में से लेमन टी या ग्रीन टी पीना माना जाता है। ग्रीन टी को जहां लोग चाय और कॉफी के स्थान पर बेहतर मानते हैं वहीं कई लोग कोल्ड ड्रिंक की प्यास को गुनगुने पानी में नींबू डालकर बुझाते हैं। लेकिन सुबह के समय दोनों का ही लोग वजन कम (Weight Loss) करने के लिए इनका इस्तेमाल करते हैं। अब सवाल यह है कि दोनों में से कारगर कौन है यानि ग्रीन टी बनाम लेमन टी (Green Tea Vs. Lemon Tea) । आइएं जानें दोनों किस तरह काम करते हैं और कैसे यह हमारे शरीर से मोटापे को दूर करने में सहायक होते हैं।

ग्रीन टी का काम करने का तरीका  – How Green Tea Work in Hindi

ग्रीन टी का काम करने का तरीका  - How Green Tea Work in hindi

हरी चाय (ग्रीन टी) से शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और इसमें मौजूद “एल-थियानाइन” (L-Theanine) नामक एमिनो एसिड शरीर में चर्बी को नहीं बढ़ने देता है। मेटाबॉलिज्म के बढ़ने से शरीर में फैट तेजी (Weight Loss from Green Tea) से नहीं बढ़ता। यह एमिनो एसिड हमारे नर्वस सिस्टम को शांत करती है और पेट से जुड़े हार्मोंस जैसे कोर्टिसोल (Cortisol) से तनाव कम करता है।
इस ग्रीन टी में पॉलीफिनोल (Polyphenols) नामक तत्व होते हैं जो शरीर की चर्बी को खत्म करने में मदद प्रदान करते हैं। कुछ वैज्ञानिक मानते हैं कि यह तत्व बिना एक्सरसाइज किए भी चर्बी घटाने में सहायक है। यह डायबिटीज को कंट्रोल में रखता है और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को भी दूर करता है।

(और पढ़े – ग्रीन टी पीने के फायदे और नुकसान, बनाने की विधि)

ग्रीन टी पीने का सही तरीका : The right way to drink green tea

  • ग्रीन टी खाने से एक घंटे पहले पीने से अधिक फायदा होता है।
    • एक दिन में तीन या इससे अधिक कप ग्रीन टी नहीं पीना चाहिए।
    • ग्रीन में चीनी या दूध नहीं मिलाना चाहिए, इसकी जगह नींबू, शहद, तुलसी के पत्ते या अदरक आदि डाल सकते हैं।
    • खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी नहीं पीना चाहिए।
    • रात को सोते समय ग्रीन टी पीने से वजन तेजी से कम होता है।

लेमन टी का काम करने का तरीका – How Lemon tea Work to Lose Weight in Hindi

लेमन टी का काम करने का तरीका How Lemon tea Work to Lose Weight in hindi

लेमन टी साधारण चाय या कोल्डड्रिंक की अपेक्षा बेहद कम कैलोरीज वाली होती है। अगर इसमें चीनी की जगह शहद मिलाया जाए तो इसका असर दोगुना हो जाता है। नींबू में विटामीन सी होता है जो खून से गंदगी को बाहर करता है। इसे पीने से तरो ताजगी बनी रहती है।
नींबू वाली चाय पीने से हाजमा भी बेहतर होता है। नींबू में पोटेशियम होता है जो हमारे मेटाबॉलिज्म और पाचन क्रिया को तेज करता है। विटामीन सी से वजन कम करने में भी मदद मिलती है।

लेमन टी पीने का सही तरीका : The right way to drink lemon tea

• ब्लैक टी में नींबू रस डालकर पीने से काफी लाभ होता है।
• लेमन टी में अदरक, दालचीनी, तुलसी आदि डालकर इसके चिकित्सीय गुणों को बढ़ाया जा सकता है।

ग्रीन टी या लेमन टी दोनों में से कौन है अधिक फायदेमंद

ग्रीन टी में मौजूद तत्व जैसे “एल-थियानाइन” (L-Theanine) और पॉलीफिनोल (Polyphenols) इसे वजन कम करने के लिए अधिक फायदेमंद बनाते हैं।

हालांकि इससे वजन कम तभी होता है जब साथ में उचित व्यायाम और डाइट का पालन किया जाए। लेमन टी में भी वजन कम करने के गुण होते हैं और यह भी समान रूप से फायदेमंद होती है। यहां यह भी ध्यान देने वाली बात है कि ग्रीन टी अधिक मात्रा में पीने से कई प्रकार के नुकसान भी हो सकते हैं। इसका मतलब ये है कि ग्रीन टी या लेमन टी दोनों ही स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होती है यदि इन्हें सही तरीके से लिया जाये तो|

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration