बिना तकिये के सोने से होते हैं 10 कमाल के फायदे - 10 Benefits of Sleeping Without A Pillow in Hindi - Healthunbox
हेल्थ टिप्स

बिना तकिये के सोने से होते हैं 10 कमाल के फायदे – 10 Benefits of Sleeping Without A Pillow in Hindi

बिना तकिये के सोने से होते हैं 10 कमाल के फायदे - 10 Benefits of Sleeping Without A Pillow in Hindi

माता-पिता आमतौर पर अपने बच्चों को तकिए लगाकर सोने के लिए कहते हैं, जिसके कारण उन्हें इसकी आदत हो जाती है। हालांकि रिसर्च कहती है कि बिना तकिये के सोने से हमें कई सारे फायदे होते हैं आइये जानते हैं एक्सपर्ट्स इस बारे में क्या कहते हैं। जब भी हमसे पूछा जाता है कि हम इसका उपयोग क्यों करते हैं, तो एक सामान्य उत्तर यह है कि हम इसका उपयोग अपने सिर, गर्दन और रीढ़ को एक दिशा में रखने के लिए करते हैं ताकि इससे शरीर को आराम मिल सके।

कई लोग इस बात को लेकर असमंजस में रहते हैं कि तकिया लगाएं या नहीं, दोनों के अपने-अपने कारण हैं। हम आपको इस लेख में बता रहे हैं कि तकिया क्यों नहीं लगाना चाहिए, तकिया न लगाने से आपके शरीर में क्या परिवर्तन होते हैं और यह कैसे आपको स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है।

तकिया न लगाकर सोने से हमारी गर्दन और रीढ़ की हड्डी के मसल्स पर तनाव पड़ता है, जिसके कारण इसमें अकड़न आती है इसलिए हमें एक तकिया लगाकर सोने की जरूरत होती है ताकि हम अपनी गर्दन और सिर को रीढ़ के साथ सीधा रख सकें। हालांकि, गलत तरीके से तकिया लगाने से गर्दन में दर्द और अकड़न भी होती है। हालांकि शोध कहते हैं कि बिना तकिये के सोने से हमें कई फायदे मिलते हैं, आइए जानते हैं कि विशेषज्ञ इसके बारे में क्या कहते हैं।

विशेषज्ञों का मानना है कि बिना तकिये के सोना ज्यादा फायदेमंद है, यह हमें छोटे बच्चे की तरह नींद लेने में मदद करता है क्योंकि शरीर एक प्राकृतिक अवस्था में होता है। विशेषज्ञों का यह भी मानना है कि यदि हम बिना तकिये के जमीन पर सोते हैं, तो हमें कई तरह की समस्याएँ हो सकती हैं, इसलिए हमें बिना तकिये के सोने के लिए एक गद्दे का उपयोग करना चाहिए, जिससे हमारा शरीर सही स्थिति में रहे। जब हम बिना तकिये के सीधे पीठ के बल सोते हैं, तो हमें गर्दन और पीठ में दर्द नहीं होता है। आइए जानते हैं बिना तकिये के सोने से हमारी सेहत पर क्या प्रभाव पड़ता है।

विषय सूची

बिना तकिये के सोने के फायदे – Benefits of Sleeping Without Pillow in Hindi

बिना तकिये के सोने के फायदे - Benefits of Sleeping Without Pillow in Hindi

क्या आप जानते हैं कुछ स्लीप स्पेशलिस्ट मानते हैं कि बिना तकिये के सोने के कई फायदे हैं? बहुत से लोग बिना तकिये के सोना पसंद भी करते हैं। आज हम आपको बिना तकिये के सोने से होने वाले फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं आइये जानतें हैं तकिया न लगाने के फायदे क्या होते हैं।

तकिया न लगाने के फायदे पिंपल्स नहीं होते

बिना तकिया के सोने का सबसे पहला फायदा यह है कि ऐसा करने से हमारे चेहरे पर पिंपल्स होने की संभावना कम हो जाती है। क्योंकि जब हम तकिए का इस्तेमाल करते हैं, तो हमारा चेहरा तकिये पर टिक जाता है, जिसके कारण मुहासे हो सकते हैं।

बिना तकिया के सोने के फायदे पीठ दर्द नहीं होता है

तकिया के बिना सोने का फायदा यह है कि ऐसा करने से हमारी पीठ में दर्द नहीं होता। जब हम तकिए का उपयोग करते हैं, तो रीढ़ की प्राकृतिक स्थिति बदल जाती है और हमें पीठ में दर्द होता है। इसलिए, बिना तकिये के सोने से हमारी गर्दन रीढ़ की दिशा में रहती है, जिसके कारण पीठ में दर्द नहीं होता है।

(और पढ़े – पीठ दर्द से छुटकारा पाना है तो अपनाएं ये घरेलू उपाय…)

बिना तकिये के सोने के फायदे झुर्रियां नहीं होती

तकिया का इस्तेमाल करने से झुर्रियां पड़ सकती हैं क्योंकि ऐसा करने से चेहरे पर दबाव पड़ता है। जो लोग सोते समय तकिया का उपयोग नहीं करते हैं उन्हें यह समस्या कम होती है या नहीं होती है।

बिना तकिया के सोने का फायदा गर्दन में दर्द नहीं होता

तकिए का इस्तेमाल करने से हमारी गर्दन में दर्द होता है और खासकर जब हम सुबह उठते हैं, तो यह अधिक दर्दनाक होता है क्योंकि तकिए का उपयोग करने से तंत्रिका क्षति होती है जो दर्द का कारण बनती है।

यदि आप तकिए का उपयोग नहीं करते हैं, तो आपका सिर प्राकृतिक स्थिति में रहता है। यह तंत्रिका क्षति और तनावपूर्ण मांसपेशियों को भी रोकता है ताकि आप कम दर्द का अनुभव करें। तकिए जो बहुत नरम होते हैं वे गर्दन में रक्त के प्रवाह को भी बाधित करते हैं।

तकिया के बिना सोने के फायदे चेहरा यंग दिखता है

तकिए के साथ सोने से हमें अच्छी नींद नहीं आती है जिससे हमें थकान महसूस होती है। तकिया का इस्तेमाल न करने से हमें अच्छी नींद आती है जिसकी वजह से हमारी त्वचा जवां रहती है और हम हमेशा जवान दिखते हैं।

तकिया न लगाने के फायदे मानसिक संतुलन रहता है कायम

कई वैज्ञानिक अध्ययनों के अनुसार, जब भी कोई व्यक्ति सोता है, तो उसका दिमाग आराम की स्थिति में होता है, जिसके कारण वह सुबह मानसिक रूप से फ्रेस रहता है और उसकी याददाश्त भी स्वस्थ रहती है।

लेकिन यह तभी संभव है जब नींद की मात्रा सही हो और सोने की सही स्थिति सही हो, गहरी नींद के लिए सिर के नीचे से तकिया निकालना बहुत महत्वपूर्ण है। इससे आपकी याददाश्त मजबूत बनेगी और मानसिक संतुलन भी बना रहेगा।

तकिया न लगाकर सोने से हमारी हड्डियां एक सीधी रेखा में रहती हैं

बिना तकिए के सोने से हमारी हड्डियां एक सीधी रेखा में बनी रहती हैं, जिससे हमें कोई दर्द महसूस नहीं होता है और हम स्वस्थ बने रहते हैं।

बिना तकिया के सोने के फायदे नींद अच्छी आती है

अध्ययन से पता चला है कि बिना तकिये के सोने से हमें अच्छी नींद आती है और रात को नींद में चलने और सपने देखने जैसी कई समस्याएं नहीं होती हैं।

तकिया न लगाकर सोने के फायदे तनाव से राहत मिलती है

जब हम तकिया का उपयोग नहीं करते हैं, तो हमें अच्छी नींद आती है और हमारी सारी थकान दूर हो जाती है जिससे हमें तनाव नहीं होता है और हम रिफ्रेश महसूस करते हैं।

यदि आप तकिए के कारण गलत पोजीशन में सोते हैं, तो आप रात भर करवटें बदलते आपनी रात बिता सकते हैं। इससे तनाव बढ़ता है, जो बदले में, अन्य मानसिक और स्वास्थ्य मुद्दों को जन्म दे सकता है। एक बार जब आप कम नींद की गड़बड़ी का अनुभव करते हैं, तो नींद की गुणवत्ता शरीर के तनाव हार्मोन को कम करने में मदद करती है। इसके अलावा, एक आरामदायक रात की नींद के बाद, आप अगले दिन नयी ऊर्जा महसूस कर सकते हैं।

बिना तकिये के सोने के फायदे सिर में दर्द नहीं होता है

आपने जागने के बाद हल्के-हल्के सिरदर्द का अनुभव किया होगा। इसके पीछे का कारण आपका तकिया हो सकता है। बिना तकिये के सोने की कोशिश करें और देखें कि क्या आप अगले दिन कितना अच्छा महसूस करते हैं। नरम तकिए के साथ सोने से सिर में रक्त का प्रवाह कम हो जाता है, सिर को सामान्य ऑक्सीजन की आपूर्ति का हिस्सा कट जाता है। जिससे सुबह का सिरदर्द आपके सिर में ऑक्सीजन की कमी के कारण भी हो सकता है।

बिना तकिये के सोने से अनिद्रा दूर हो जाती है

तकिये के बिना सोने से अनिद्रा नहीं होती है और हमें अच्छी नींद आती है, जिससे हम दिन भर तनावमुक्त रहते हैं। कई शोधों के अनुसार, बिना तकिये के सोने से न केवल नींद की गुणवत्ता में सुधार होता है, बल्कि यह अनिद्रा जैसी नींद की समस्याओं से भी छुटकारा दिलाता है।

बिना तकिए के सोने से पीठ और गर्दन में दर्द नहीं होता

तकिये का इस्तेमाल नहीं करने से हमारी गर्दन रीढ़ के बराबर सीध में रहती है और गर्दन पर कोई तनाव नहीं पड़ता है, जिससे पीठ और गर्दन में दर्द महसूस नहीं होता है।

आप किस पोजीशन में सोते हैं? – What position do you sleep in Hindi

आप किस पोजीशन में सोते हैं? - What position do you sleep in Hindi

कुछ नींद विशेषज्ञ यह भी मानते हैं कि यदि आप तकिए का उपयोग नहीं करते हैं तो कुछ सोने की पोजीशन अधिक फायदेमंद है। आपकी सोने की पोजीशन यह निर्धारित करती है कि आपको किस तरह का तकिया इस्तेमाल करना चाहिए या नहीं। आप किस स्थिति में सोते हैं? हो सकता है कि आप हमारे कुछ सुझावों को यह देखने के लिए आज़मा सकें कि क्या वे आपके लिए काम करते हैं।

साइड स्लीपर्स

साइड स्लीप को स्वास्थ्यप्रद सोने की पोजीशन माना जाता है। लेकिन अगर आप उचित समर्थन के बिना एक तकिया का उपयोग कर रहे हैं तो यह सही नहीं है। साइड स्लीपर्स को एक तकिया की आवश्यकता होती है जो सोते समय अपनी रीढ़ को सीधा रखने का काम करेगी।

एंड रिजल्ट: साइड स्लीपर्स को बिना तकिए के नहीं सोना चाहिए।

बैक स्लीपर्स

बैक स्लीपरों को अपनी रीढ़ के बाकी हिस्सों के साथ गर्दन के स्तर को बनाए रखने की कोशिश करनी चाहिए, एक पतली, समोच्च तकिया इसके लिए सबसे अच्छा है। इस प्रकार का तकिया गर्दन और गद्दे के बीच की जगह को आवश्यकतानुसार भर देगा। गोल तकिए जो गर्दन का समर्थन करते हैं, सर्वाइकल तकिए, या अंतर्निहित गर्दन समर्थन के लिए तकिए सभी अच्छे विकल्प हैं।

एंड रिजल्ट: बैक स्लीपर्स को बिना तकिया के नहीं सोना चाहिए।

पेट के बल सोना

हालांकि पेट के बल सोना खर्राटों को कम करने में मदद कर सकता है, यह न्यूयॉर्क और आसपास के राज्यों में नींद विशेषज्ञ द्वारा सबसे अस्वस्थ नींद की स्थिति के रूप में जाना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह स्थिति आपको अपने सिर और गर्दन को एक तरफ मोड़ने के लिए मजबूर करती है जिससे आपकी रीढ़ संरेखण से बाहर हो सकती है।

एंड रिजल्ट: पेट के बल सोने वालों को तकिये का इस्तेमाल न करने से ज्यादा फायदा हो सकता है। हालांकि, यदि यह विकल्प बहुत असुविधाजनक है, तो एक पतले तकिया का उपयोग करने की सिफारिश की जाती है।

निष्कर्ष

तो अब जब आप तकिया के बिना सोने के फायदों को जानते हैं, तो शायद आपको इसे जल्द ही आज़माना चाहिए और देखना चाहिए कि क्या यह आपको बेहतर नींद लेने की अनुमति देता है! अधिक जानकारी के लिए अपने क्षेत्र के नींद विशेषज्ञ से सलाह ले सकते हैं।

और पढ़े – 

बिना तकिये के सोने के फायदे (Benefits of Sleeping Without Pillow in Hindi) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration