गर्भावस्था

प्रेगनेंसी के 5 वे महीने का आहार: क्या खाएं और क्या न खाएं – 5th Month Pregnancy Diet in Hindi

प्रेगनेंसी के 5 वे महीने का आहार: क्या खाएं और क्या न खाएं - 5th Month Pregnancy Diet in Hindi

गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में गर्भवती महिलाओं के आहार में पर्याप्‍त पोषण होना चाहिए। जिससे उनके भ्रूण का उचित विकास हो सके। यदि आप स्‍वस्‍थ बच्चे को जन्‍म देना चाहती हैं तो प्रेगनेंसी के 5 वे महीने का आहार: क्या खाएं और क्या न खाएं की जानकारी होना महत्‍वपूर्ण हैं। प्रेगनेंसी के समय महिलाओं को विभिन्‍न प्रकार के स्‍वादिष्‍ट भोजन करने की इच्‍छा हो सकती है, लेकिन यह सुनिश्चित करना भी आवश्‍यक है कि यह भोजन आपके बच्‍चे के लिए फायदेमंद है या नुकसानदायक। इस लेख में आप जानेंगीं गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में शिशु के स्वस्थ विकास के लिए किन खाद्य पदार्थों का सेवन करें और किनसे परहेज करें और गर्भावस्‍था के पांचवे महीने के लिए डाइट चार्ट क्‍या हैं।

विषय सूची

गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में क्‍या खाएं – What to eat in 5th month of pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में क्‍या खाएं - What to eat in the 5th month of pregnancy in Hindi

किसी भी महिला के लिए गर्भावस्‍था एक संवेदनशील स्थिति होती है। इस दौरान महिलाओं को अतिरिक्‍त पोषण और देखभाल की आवश्‍यकता होती है। गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में महिला को अपने और अपने बच्‍चे के स्‍वास्‍थ्‍य को ध्‍यान में रखकर आहार योजना बनाना चाहिए। उन्हें अपने आहार में उन खाद्य पदार्थों को शामिल करना चाहिए जो मां और बच्‍चे को पर्याप्‍त पोषण उपलब्‍ध कराने में मदद करते हैं। आइए जाने प्रेगनेंसी के दौरान पांचवे महीने में महिलाएं अपने आहार में किन खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकती हैं।

प्रेगनेंसी के पांचवे महीने में पर्याप्‍त पानी पिए

प्रेगनेंसी के पांचवे महीने में पर्याप्‍त पानी पिएं - Drink enough water in the fifth month of pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के दौरान गर्भवती महिला को दो शरीर की देखभाल करने की आवश्‍यकता होती है। पहला खुद के शरीर की और दूसरा अपने बच्‍चे के शरीर की सुरक्षा। इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान महिला को पौष्टिक खाद्य पदार्थों के साथ-साथ पर्याप्‍त पानी की भी आवश्‍यकता होती है। इस दौरान अधिकांश महिलाओं को कब्‍ज की समस्‍या होती है। इसलिए महिलाओं को उचित आहार के साथ पानी भी पर्याप्‍त मात्रा में पीना चाहिए। यह आपको कब्‍ज से बचाने और शरीर को प्राकृतिक रूप से हाइड्रेट रखने में मदद कर सकता है।

(और पढ़ें – स्वस्थ रहने के लिए इन 6 समय पर जरूर पीएं एक गिलास पानी, बीमारियों से रहेंगे हमेशा दूर)

पांच माह की गर्भावस्‍था में प्रोटीन खाना है जरूरी

पांच माह की गर्भावस्‍था में प्रोटीन जरूरी है - Protein Foods Necessary For five month Pregnant Woman in Hindi

गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं को ऊर्जा प्राप्‍त करने के लिए प्रोटीन युक्‍त खाद्य पदार्थों की विशेष आवश्‍यकता होती है। गर्भावस्था के पांचवे महीने के दौरान विशेष रूप से प्रोटीन की पर्याप्‍त मात्रा का सेवन किया जाना चाहिए। क्‍योंकि इस समय बच्‍चे के शारीरिक विकास के लिए प्रोटीन बहुत ही आवश्‍यक होता है। प्रेगनेंसी के दौरान प्रोटीन का सेवन मांसपेशियों, त्‍वचा और अन्‍य अंगों को मजबूत करता है। प्रेगनेंट महिलाएं प्रोटीन प्राप्‍त करने के लिए अंडे, सोया उत्पाद, नट्स और दालों का नियमित सेवन कर सकती हैं।

(और पढ़ें – प्रोटीन क्या है, कार्य, कमी के कारण, लक्षण, जाँच, इलाज और आहार)

गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में खाएं सलाद

गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में खाएं सलाद - Eat salad in the five-month of pregnancy in Hindi

जो महिलाएं पांच माह की गर्भावस्‍था के दौर से गुजर रही हैं उन्हें अपने दैनिक आहार में सलाद का सेवन करना चाहिए। प्रेगनेंसी के दौरान डॉक्‍टर भी हरी सलाद का ज्‍यादा से ज्यादा सेवन करने की सलाह देते हैं। आप भी अपनी सलाद में गाजर, पत्‍तागोभी, ककड़ी, टमाटर, प्‍याज आदि को शामिल कर सकती हैं। कच्‍चे रूप में इन खाद्य पदार्थों को खाना अधिक लाभकारी होता है। क्‍योंकि ये सभी खाद्य पदार्थ फाइबर और खनिज से भरपूर होते हैं। जिसके कारण सलाद पांचवे महीने की गर्भावस्‍था के लिए सबसे अच्‍छी डाइट का हिस्‍सा होती है। लेकिन इस बात का ध्‍यान रखें कि हमेशा ताजी सलाद का ही सेवन किया जाना चाहिए।

(और पढ़ें – सलाद खाने के फायदे, नुकसान, समय और तरीका)

प्रेगनेंसी के पांचवे महीने में पिएं दूध

प्रेगनेंसी के पांचवे महीने में पिएं दूध - Drink milk in the five-month of pregnancy in Hindi

पांच मंथ की गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं के लिए डेयरी उत्पाद बहुत ही महत्‍वपूर्ण हैं। डेयरी उत्‍पाद महिलाओं के लिए कैल्शियम का सबसे अच्‍छा विकल्‍प होता है। इसलिए अधिकांश डॉक्‍टर गर्भावस्‍था के 5 वें महीने में दूध पीने की सलाह देते हैं। डेयरी उत्‍पादों का पर्याप्‍त सेवन हड्डियों और दांतों के विकास के लिए बहुत ही आवश्‍यक होता है। कुछ महिलाओं को गर्भावस्‍था के दौरान दूध पीने से एलर्जी हो सकती है। ऐसी स्थिति में महिलाएं अन्‍य डेयरी उत्‍पादों का सेवन कर सकती हैं।

(और पढ़ें – दूध के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान)

गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में खाना चाहिए चिकन 

गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में खाना चाहिए चिकन - Chicken should be eaten in the 5th month of pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के दौरान चिकन खाना एक अच्‍छा विकल्‍प है। प्रेगनेंसी के पांचवे महीने के दौरान अक्‍सर महिलाओं को थकान का अनुभव होता है। ऐसे में हरी सब्जियां और चिकन का सेवन किया जा सकता है। अन्‍य प्रकार के मांसों की अपेक्षा चिकन प्रोटीन का सबसे अच्‍छा स्रोत है। जो प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं के लिए सुरक्षित आहार भी माना जाता है। गर्भावस्‍था के दौरान चिकन का सेवन करना फायदेमंद होता है लेकिन इस दौरान चिकन को अच्‍छी तरह से पकाया जाना चाहिए।

(और पढ़े – चिकन के फायदे और नुकसान)

प्रेगनेंसी के पांचवे महीने के लिए आहार ताजे फल 

प्रेगनेंसी के पांचवे महीने के लिए आहार ताजे फल - Diet fresh fruits for the 5th month of pregnancy in Hindi

गर्भावस्‍था के पांचवे महीने के दौरान ताजे फलों का सेवन करना महिलाओं के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं को नियमित रूप से प्रतिदिन ताजे फलों का सेवन करना चाहिए। इस दौरान डॉक्‍टर भी फलों का पर्याप्‍त सेवन करने की सलाह देते हैं। क्‍योंकि फलों का सेवन करने से न केवल गर्भवती महिला को बल्कि उसके बच्‍चे को भी पर्याप्‍त मात्रा में विटामिन और अन्‍य खनिज पदार्थ प्राप्‍त होते हैं। ये घटक बच्‍चे को प्राकृतिक रूप से बढ़ने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें – फल खाने के फायदे, गुण और उपयोग)

5 मंथ प्रेगनेंसी में खाएं हरी सब्जियां

अक्‍सर महिलाओं को गर्भावस्‍था के पांचवे महीने के दौरान सब्जियां उबाऊ और बेस्‍वाद लगने लगती हैं। लेकिन इस दौरान हरी सब्जियों का नियमित सेवन करना गर्भवती महिलाओं के लिए आवश्‍यक है। क्‍योंकि हरी सब्जियां न केवल महिला बल्कि बच्‍चे को भी पर्याप्‍त पोषक तत्‍व उपलब्‍ध कराती हैं। 5 मंथ प्रेगनेंसी डाइट चार्ट में हरी सब्‍जीयों को शामिल करना बहुत ही आवश्‍यक है। इस प्रकार की सब्जियों में पालक, ब्रोकोली और बीन्‍स आदि को शामिल किया जा सकता है।

(और पढ़ें – हरी सब्जियां खाने के फायदे)

5 माह की गर्भावस्‍था में खाना चाहिए मछली

5 माह की गर्भावस्‍था में खाना चाहिए मछली - Fish should be eaten at 5 months pregnancy in Hindi

मछली प्रोटीन का सबसे अच्‍छा स्रोत है। गर्भावस्‍था के पांचवे महीने के दौरान महिलाओं को विशेष रूप से छोटी मछलियों का सेवन किया जाना चाहिए। लेकिन इस दौरान मछली को उचित स्‍वच्‍छता के साथ पकाना चाहिए। क्‍योंकि अनहेल्‍दी भोजन न केवल आपके बल्कि होने वाले बच्‍चे के लिए भी हानिकारक हो सकता है। प्रेगनेंसी के दौरान समुद्री और बड़ी मछलियों का सेवन करने से बचना चाहिए। क्‍योंकि इनमें मरकरी (mercury) या पारा की उच्‍च मात्रा होती है। मरकरी बच्‍चे के मा‍नसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक हो सकता है।

(और पढ़ें – मछली खाने के फायदे और नुकसान)

गर्भावस्‍था के 5 वे महीने की डाइट है साबुत अनाज

वे सभी खाद्य पदार्थ जिन्‍हें साबुत अनाजों से बनाया जाता है वे गर्भावस्‍था आहार में शामिल किये जा सकते हैं। साबुत अनाज में गेहूं, चावल, मक्‍का और अन्‍य अनाज आते हैं जो गर्भवती महिला को विभिन्‍न प्रकार के विटामिन और खनिज पदार्थ उपलब्‍ध कराते हैं। इस प्रकार के खाद्य पदार्थों से विटामिन ई, विटामिन बी, आयरन और मैग्नीशियम की उच्‍च मात्रा प्राप्‍त होती है। ये सभी घटक शिशु के पोषण के लिए बहुत ही आवश्‍यक होते हैं।

(और पढ़े – गर्भावस्था में आहार जो देगा माँ और बच्चे को पूरा पोषण)

गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में क्‍या न खाएं – What to Not eat in 5th month of pregnancy in Hindi  

गर्भावस्‍था के समय स्‍वस्‍थ आहारों का विशेष रूप से सेवन किया जाना बहुत ही आवश्‍यक है। लेकिन प्रेगनेंसी के 5 माह के दौरान कुछ ऐसे भी खाद्य पदार्थ होते हैं जिन्‍हें खाने से बचना चाहिए। बच्‍चे के स्‍वस्‍थ जन्‍म के लिए कुछ विशेष खाद्य पदार्थों से परहेज करना महिलाओं के लिए अच्‍छा होता है। आइए जाने प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं को किन खाद्य पदार्थों से दूरी बनाना चाहिए।

(और पढ़े – गर्भावस्था के समय क्या न खाएं)

5 मंथ प्रेगनेंसी के दौरान कुछ फलों से बचें

5 मंथ प्रेगनेंसी के दौरान कुछ फलों से बचें -Avoid some fruits during the 5 month pregnancy in Hindi

ताजे फलों का सेवन करना गर्भवती महिलाओं के लिए अच्‍छा होता है। लेकिन सभी प्रकार के फल गर्भावस्‍था के दौरान अच्‍छे नहीं होते हैं। इसलिए उष्‍ण‍कटिबंधीय फलों को पूरी गर्भावस्‍था के दौरान खाने से परहेज करना चाहिए। गर्भावस्‍था के पांचवे महीने के दौरान महिलाओं को पपीता, अनानास और अनार नहीं खाना चाहिए। क्‍योंकि ये सभी फल गर्भपात का कारण बन सकते हैं। इसके अलावा अधिक दिनों से डिब्‍बा बंद फलों का सेवन करने से बचना चाहिए। क्‍योंकि इस प्रकार के फलों में बैक्‍टीरिया होने की संभावना अधिक होती है।

(और पढ़े – पपीता खाने के फायदे और नुकसान)

पांच महिने की गर्भावस्‍था में शॉफ्ट ड्रिंक से दूर रहें

पांच महिने की गर्भावस्‍था में शॉफ्ट ड्रिंक से दूर रहें - Avoid soft drinks during pregnancy for five months in Hindi

अधिकांश महिलाओं को सॉफ्ट ड्रिंक पीना बहुत ही अच्‍छा लगता है। लेकिन क्‍या आप जानते है कि गर्भावस्‍था के पांचवे महीने के दौरान शीतल पेय का सेवन नुकसानदायक हो सकता है। इस प्रकार की सॉफ्ट ड्रिंक में कैलोरी बहुत अधिक होती है। ऐसे पदार्थों में मौजूद कार्बोनेटेड उत्‍पाद पाचन संबंधी समस्‍या बढ़ा सकते हैं। साथ ही ये गर्भावस्‍था के दौरान वजन बढ़ने का कारण भी बन सकते हैं। जिससे आपको गर्भावस्‍था संबंधी कई समस्‍याएं हो सकती हैं। इन सभी समस्‍याओं से बचने के लिए प्रेगनेंसी के दौरान शॉफ्ट ड्रिंक के सेवन करने से बचना चाहिए।

(और पढ़ें – सॉफ्ट ड्रिंक के सेवन से कम हो सकती है सेक्स ड्राइव)

प्रेगनेंसी के पांचवे महीने में न खाएं स्‍ट्रीट फूड

प्रेगनेंसी के पांचवे महीने में न खाएं स्‍ट्रीट फूड - Avoid Street Foods during pregnancy for five months in Hindi

प्रेगनेंसी के दौरान स्‍ट्रीट फूड का सेवन करना बहुत ही अनहेल्‍दी माना जाता है। प्रेगनेंसी के 5 माह के दौरान पिज्‍जा और बर्गर जैसे उत्‍पाद गर्भवती महिला के लिए बहुत ही हानिकारक हो सकते हैं। इसलिए महिलाओं को गर्भावस्‍था के इस दौरान स्‍ट्रीट फुड का सेवन करने से दूर ही रहना चाहिए। क्‍योंकि भले ही ये खाद्य पदार्थ स्‍वादिष्‍ट होते हैं लेकिन ये आपके शिशु के लिए अच्‍छे नहीं होते हैं।

(और पढ़े – जानिए जंक फूड (फास्ट फूड) के नुकसान और हानिकारक प्रभावों को)

गर्भवती महिला पांचवे माह में कैफीन से दूर रहें

गर्भवती महिला पांचवे माह में कैफीन से दूर रहें - Avoid Caffeine during pregnancy for five months in Hindi

कैफीन महिलाओं के लिए हानिकारक नहीं होता है यदि बहुत ही कम मात्रा में सेवन किया जाये। लेकिन गर्भावस्‍था के दौरान अक्‍सर महिलाएं दिन में कई बार चाय और कॉफी का सेवन करती हैं। जिससे गर्भावस्‍था के दौरान समस्‍याएं हो सकती हैं। चाय और कॉफी के माध्‍यम से कैफीन की अधिक मात्रा महिलाओं की कमजोरी का प्रमुख कारण है। सामान्‍य रूप से चिकित्‍सक महिलाओं को दिन में केवल एक या दो कप चाय पीने की सलाह देते हैं। इससे ज्‍यादा चाय या कॉफी का सेवन गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में महिलाओं को नुकसान पहुंचा सकता है।

(और पढ़े – कैफीन के फायदे, नुकसान और उपयोग)

गर्भावस्‍था के पांचवे महीने में शराब बंद कर दें

शराब पीना स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक होता है। लेकिन फिर भी बहुत सी महिलाएं शराब की आदत बना लेती हैं। शराब की लत गर्भावस्‍था के दौरान और भी नुकसानदायक हो सकती है। यदि आप स्‍वस्‍थ बच्‍चे को जन्म देना चाहती हैं तो न केवल गर्भावस्था के पांचवे महीने बल्कि पूरी गर्भावस्‍था के दौरान शराब का सेवन करने से बचें। यह आपके और आपके होने वाले बच्‍चे के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration