तितली आसन के फायदे और करने के तरीके – Titli asana (Butterfly Pose) benefits and steps in hindi

तितली आसन के फायदे और करने के तरीके - Titli asana (Butterfly Pose) benefits and steps in hindi
Written by Shivam

योग के अंतर्गत कई आसन आते है| सभी से शरीर को भिन्न भिन्न लाभ मिलते है| कुछ आसन करने में बेहद ही सरल होते है तो कुछ कठिन| यदि आप घर पर ही आसन करना चाहते है, तो सरल आसनो का चयन करना बेहतर है| इन्ही में से एक आसन है तितली आसन इन आसनों को करने से भले ही आपने केवल फायदों के बारे में सुना है| लेकिन यदि इन आसनो को गलत तरीके से किया जाये तो यह हमारे शरीर को नुकसान भी पंहुचा सकते है| आज हम तितली आसन के फायदे (Titli asana) और करने का तरीके को जानेगें

आज हम आपको तितली आसन के बारे में बता रहे है| इसे आप अपने घर पर आसानी से अभ्यास कर सकते है| अंग्रेजी में इस आसन को बटरफ्लाई पोज़ कहा जाता है| तितली आसन करते समय आपके शरीर की मुद्रा तितली के समान हो जाती है| इसलिए इस आसन को तितली आसन कहते हैं।

तितली आसन का यह नाम इसलिए दिया गया है क्योंकि इस आसन को करने में आप अपनी टाँगें इस तरह हिलाते हैं जिस तरह से एक तितली अपने पंख फड़फड़ाती है। आइये जानते है तितली आसन के फायदे और करने के तरीको को –

तितली आसन करने का तरीकाHow to do Titli Asan (Butterfly Pose) in hindi

  1. पैरों को सामने की ओर फैलाते हुए बैठ जाएँ,रीढ़ की हड्डी सीधी रहे।
  2. घुटनो को मोड़ें और दोनों पैरों को श्रोणि की ओर लाएँ,पाँव के तलवे एक दुसरे को छूते हुए।
  3. दोनों हाथों से अपने दोनों पाँव को कस कर पकड़ लें। सहारे के लिए अपने हाथों को पाँव के नीचे रख सकते हैं।
  4. एड़ी को जननांगों के जितना करीब हो सके लाने का प्रयास करें।
  5. लेकिन हां यह करते वक्त ध्यान रहे कि हाथ सीधे रहें और शरीर भी पूरी तरह सीधा होना चाहिए|
  6. ऐसा इसलिए करना चाहिए ताकि रीढ़ की हड्डी सीधी हो जाए|
  7. लंबी,गहरी साँस ले, साँस छोड़ते हुए घुटनो व् जांघो को फर्श की ओर दबाएँ।
  8. तितली के पंखों की तरह दोनों पैरों को ऊपर नीचे हिलाना शुरू करें। और धीरे धीरे गति बढ़ाएँ ।
  9. जितना संभव हो उतनी तेज़ी से प्रक्रिया को करें| धीमा करते हुए रुकें,गहरी साँस ले,साँस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकें
  10. कोहनी से जांघों या घुटनो पर दबाव डाले जिससे घुटने व् जांघ जमीन को छुए।
  11. जाँघो के अंदरुनी हिस्से में खिंचाव महसूस करें और लंबी गहरी साँस लेते रहें। मांसपेशियों को विश्राम दें।
  12. एक लंबी गहरी साँस ले और धड़ को ऊपर लाएँ|
  13. साँस छोड़ते हुए धीरे से मुद्रा से बाहर आएं|
  14. इसके पश्चात अपने पैरों को धीरे-धीरे सीधा कर लें और कुछ समय तक शरीर को ढीला छोड़ दें|

तितली आसन के फायदे (लाभ) Benefits of the Butterfly Pose (Titli asana)

शरीर लचीला बनाये: जाँघो,कटि प्रदेश व् घुटनो का अच्छा खिंचाव होने से श्रोणि व् कूल्हों में लचीलापन बढ़ता है।

मांसपेशियों का खिचाव करें कम: तितली आसन करने से अंदरूनी जांघ की मांसपेशियों में बहुत खिचाव होता है, जो इस आसन से ख़त्म हो जाता है।

पैरो की थकान दूर करे: लम्बे समय तक खड़े रहने व् चलने की वजह से होने वाले थकान को मिटाता है।

मासिक धर्म में दिलाये आराम: मासिक धर्म के दौरान होने वाली असुविधा व् रजोनिवृति के लक्षणों से आराम।

गर्भावस्था में है लाभदायक: गर्भावस्था के दौरान लगातार करने से प्रसव में आसानी।

आँतों को मजबूत बनाये: आँतों के लिए लाभदायक है और मल त्याग में मदद करता है।

यह मूत्रजन्य प्रणाली के लिए भी फायदेमंद है।

जोड़ो का दर्द दूर करे: तितली आसन करने से पैरों में खून का बहाव ठीक रहता है। गठिया व जोड़ों के दर्द में इस आसन को करने से काफी आराम मिलता है। इससे इम्युनिटी सिस्टम भी स्ट्रांग होता है|

तितली आसन का सरल रूपांतर – Modifications of Titli asana (Butterfly Pose) in hindi

  1. तितली आसन को आसान बनाने के लिए पैरों को शरीर के कम करीब लायें।
  2. अगर घुटनों में दर्द महसूस हो, या जो महिलायें गर्भावस्था में हो, उन्हे घुटनों के नीचे एक तौलिया या कंबल गोल करके रख लेना चाहिए।
  3. यदि आपके पीठ के निचले हिस्से में तकलीफ है तो रीढ़ की हड्डी सीधी रखकर ही यह मुद्रा करें

तितली आसन करने में सावधानी– Precautions while doing Titli asana (Butterfly Pose) in hindi

  1. अगर घुटनों में किसी प्रकार की चोट या दर्द हो तो यह आसन ना करें।
  2. यदि आपको साइटिका या पीठ के निचले हिस्से में दर्द हो तो तितली आसान ना करें।
  3. इस आसन को करते समय पैरों को ज्यादा जोर से नहीं हिलाएं। जितना हो सके उतना ही करे| अभ्यास करते रहने से धीरे धीरे आपके पैर अच्छे से मुड़ने लगेंगे|

ऊपर आपने जाना तितली आसन के फायदे Titli Asana in Hindi यदि आप भी उपरोक्त लाभ चाहते है तो तितली आसन का अभ्यास जरूर करे| योग शरीर व मन का विकास करता है| इसके अनेक शारीरिक और मानसिक लाभ हैं

और पढ़े – मोटापा कम करने के लिए करे एरोबिक्स

और पढ़े – नितंब/Butt को कम करने के लिए करें ये एक्सरसाइज

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration