प्रेगनेंसी में प्रोटीन पाउडर – Protein Powder in Pregnancy in Hindi

प्रेगनेंसी में प्रोटीन पाउडर - Protein Powder in Pregnancy in Hindi
Written by Akansha

प्रोटीन पाउडर इन प्रेगनेंसी गर्भवती महिलाओं को हर दिन अधिक प्रोटीन की आवश्यकता होती है और अगर आप शाकाहारी हैं या मांस नहीं खाती हैं, तो प्रोटीन पाउडर प्रोटीन और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्वों को पाने का एक अच्छा स्रोत हो सकता है। हालांकि, प्रोटीन पाउडर में मौजूद कुछ एडिटिव्स जैसे कि कृत्रिम शर्करा (artificial sugars) और संरक्षक (preservatives) के कारण जब गर्भवती महिलाएं इसे पूरक के रूप में उपयोग करती है, तब यह गर्भवती महिला की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े कर देता है और साथ ही सोचने पर भी मजबूर कर देता है की क्या प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए प्रोटीन पाउडर लेना सही हैं और क्या प्रेगनेंसी में प्रोटीन पाउडर पीना चाहिए। इसलिए गर्भवती महिला को हमेशा प्राकृतिक प्रोटीन लेने की सलाह ही दी जाती है।

पर फिर भी आजकल ज़्यादातर गर्भवती महिलाएं प्रोटीन पाउडर का सेवन कर रही है और अगर आप भी प्रोटीन पाउडर लेना शुरू करने वाली है तो आपके लिए यह जानना बहुत जरुरी है की गर्भावस्था में आपके लिए कौन से प्रोटीन पाउडर का सेवन करना सही होगा। इसलिए आज हम आपको इस लेख में बतायेंगे की प्रेगनेंसी में कौन सा प्रोटीन पाउडर लेना सबसे अच्छा है और इनकी मार्केट प्राइस क्या है।

1. गर्भवती होने पर कितना प्रोटीन आवश्यक होता है – How Much Protein is Required When Pregnant in Hindi
2. क्या गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन पाउडर लेना सुरक्षित हैं – Are Protein Powders Safe During Pregnancy in Hindi
3. प्रेगनेंसी में लें प्राकृतिक प्रोटीन डाइट – Take Natural protein diet during pregnancy in Hindi
4. गर्भवती महिला के लिए प्रोटीन के सर्वश्रेष्ठ स्रोत – The Best Sources of Protein for Pregnant Women in Hindi
5. गर्भावस्था के लिए बेस्ट प्रोटीन पाउडर विथ प्राइस – Best Protein Powder for Pregnancy with Price in Hindi
6. गर्भावस्था में बेस्ट है प्रोटिनेक्स मामा प्रोटीन पाउडर – Best Protein Powder for pregnancy Protinex Mama in Hindi
7.प्रेगनेंसी बेस्ट प्रोटीन पाउडर नेस्ले बेबी और मी प्रोटीन सप्लीमेंट – Best Protein Powder for pregnancy Nestle Baby and Me Supplement in Hindi
8. प्रोटीन पाउडर फॉर प्रेगनेंसी मदर हॉर्लिक्स प्रोटीन पाउडर – Best Protein Powder for pregnancy Mother’s Horlicks in Hindi
9. प्रेगनेंसी में प्रोटीन पाउडर हिमालया Momz HiOwna – Best Protein Powder for pregnancy Himalaya Momz HiOwna in Hindi
10. प्रोटीन पाउडर खरीदने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें – Things to Keep Mind Before Buying a Protein Powder in Hindi

गर्भवती होने पर कितना प्रोटीन आवश्यक होता है – How Much Protein is Required When Pregnant in Hindi

गर्भवती महिलाओं की प्रोटीन की आवश्यकता उनकी गर्भावस्था की प्रगति के साथ बढ़ जाती है और दूसरी और तीसरी तिमाही के दौरान प्रोटीन की जरुरत सबसे ज्यादा होती हैं जब बच्चा तेजी से बढ़ रहा होता है।  गर्भवती महिलाओं के लिए प्रोटीन की जरूरतें 40 ग्राम से लेकर 70 ग्राम तक प्रतिदिन हो सकती हैं, और यह मात्रा एक महिला के शरीर के वजन पर निर्भर करती है।

सही प्रोटीन की मात्रा प्राप्त करने के लिए नियम शरीर के वजन को किलोग्राम में 1.2 से गुणा करना है। बता दें कि गर्भावस्था के दौरान महिला का वजन 60 किलो होता है, प्रति दिन उसकी प्रोटीन की आवश्यकता 60 * 1.2 = 72 ग्राम होगी। जब तक वह तीसरी तिमाही में पहुंचती है, तब तक प्रोटीन की आवश्यकता अधिक होती है, और शरीर के वजन से 1.5 का गुणा किया जा जाता है। 1.2 और 1.5 की संख्या ग्राम में प्रोटीन है जो शुरुआती और आंगे की गर्भावस्था के दौरान प्रति दिन शरीर के द्रव्यमान के प्रति किलोग्राम के हिसाब से आवश्यक होती है।

यदि आप मांस नहीं खाती हैं, तो आप डेयरी, बीन्स, अंडे, या सोया उत्पादों सहित अन्य स्रोतों के माध्यम से अपनी प्रोटीन आवश्यकताओं को पूरा कर सकती हैं। अगर आपको वजन में कमी, मांसपेशियों में थकान, बार-बार संक्रमण और गंभीर द्रव प्रतिधारण (fluid retention) के संकेत मिल रहे है तो हो सकता हैं कि आपको अपने आहार में पर्याप्त प्रोटीन नहीं मिल रहा है और अब आपको अपनी प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाना चाहिए।

(और पढ़ें – गर्भवती होने के लिए पूरा गाइड)

क्या गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन पाउडर लेना सुरक्षित हैं – Are Protein Powders Safe During Pregnancy in Hindi

आमतौर पर प्रोटीन पाउडर, एथलीटों द्वारा मांसपेशियों के निर्माण के लिए हर दिन प्रोटीन के अपने सेवन को बढ़ावा देने के लिए उपयोग किया जाता है और उन लोगों द्वारा भी उपयोग किया जाता है जो डाइट पर हैं, जो अपने कार्बोहाइड्रेट की मात्रा में कटौती करने की कोशिश कर रहे हैं। हालाँकि, ये पाउडर गर्भवती महिलाओं के लिए सही नहीं होता है क्योंकि इनमें अक्सर कृत्रिम मिठास जैसे कि सैकेरिन होता है जो भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकता है। बॉडीबिल्डर्स के उद्देश्य को पूरा करने वाले कुछ पाउडर में अदरक, मुलेठी की जड़ (liquorice root), कैमोमाइल और प्रदर्शन बढ़ाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली जड़ी-बूटियाँ होती हैं, जो भ्रूण के हार्मोन को प्रभावित कर सकती हैं। इसलिए यदि आपको सप्लीमेंट लेने की आवश्यकता है, तो गर्भावस्था में उपयुक्त प्रोटीन पाउडर के बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लेना एक सही विकल्प हो सकता है।

हालांकि अधिकांश प्रोटीन पाउडर व्हेय प्रोटीन, कैसिइन प्रोटीन और सोया प्रोटीन जैसे प्रोटीन से बने होते हैं, इसलिए डेयरी उत्पादों से एलर्जी रखने वाली महिलाएं अन्य कार्बनिक प्रोटीन पाउडर पर स्विच कर सकती हैं जो गर्भावस्था के लिए सुरक्षित माने जाते है।

(और पढ़ें – जानिए प्रोटीन पाउडर खाने के फायदे)

प्रेगनेंसी में लें प्राकृतिक प्रोटीन डाइट – Take Natural protein diet during pregnancy in Hindi

वैसे तो आजकल बाजार में गर्भवती महिलाओं के शरीर में प्रोटीन की जरुरत को पूरा करने के लिए कई तरह के प्रोटीन पाउडर उपलब्ध है, लेकिन अगर आप प्राकृतिक प्रोटीन को अपने आहार में शामिल करेंगी तो आपको और आपके बच्चे को इससे कोई नुकसान नहीं होगा और अक्सर सभी प्रेग्नेंट महिलाओं को डॉक्टर भी नेचुरल प्रोटीन लेने की ही सलाह देते है। इसलिए हम आपको कुछ नेचुरल प्रोटीन बता रहे है जिनका सेवन करके आप प्रोटीन पाउडर जितनी ही प्रोटीन की मात्रा अपने शरीर में बढ़ा सकती है, जैसे मीट और पोल्ट्री जिसमें शामिल है लीन मीट, फिश, चिकन आदि और आप प्रोटीन के लिए बीन्स ले सकती है जैसे राजमा, काली सेम, चने आदि।

आप अपनी डाइट में नट्स आदि भी शामिल कर सकती है जिनमें है बादाम, अखरोट और मूंगफली और कुछ डेरी प्रोडक्ट जैसे दूध, दही, पनीर और अंडे भी शामिल कर सकती है।

(और पढ़ें – घर पर प्रोटीन पाउडर बनाने की विधि)

गर्भवती महिला के लिए प्रोटीन के सर्वश्रेष्ठ स्रोत – The Best Sources of Protein for Pregnant Women in Hindi

भ्रूण के कोशिका विकास, मस्तिष्क के विकास और रक्त उत्पादन के लिए गर्भावस्था के दौरान प्रोटीन आवश्यक है। जबकि प्रोटीन सभी गर्भवती महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण है, शाकाहारियों और जो महिलाएं थोड़ा मांस का सेवन करती हैं, उन्हें प्रोटीन के उपभोग पर ध्यान देना चाहिए ताकि पशु स्रोतों से प्राप्त प्रोटीन को पूरक बनाया जा सके। अमेरिकन प्रेग्नेंसी एसोसिएशन प्रति दिन दो या दो से अधिक प्रोटीन सर्विंग की सिफारिश करता है, जो गर्भावस्था के दौरान कुल 75 से 100 ग्राम तक संयोजन होता है, जो विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों से प्राप्त किया जा सकता है।

माँस – Meat

रेड मीट और पोल्ट्री प्रोटीन स्रोत हैं जो स्वस्थ गर्भावस्था आहार में विविधता प्रदान करते हैं। पूरी तरह से पके हुए दुबले लाल मीट, जैसे स्टेक और ग्राउंड बर्गर वसा में कम होते हैं जबकि चिकन, टर्की, पोर्क और लैम्ब पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन प्रदान करते हैं।

फलियां – Legumes

भ्रूण के कोशिका उत्पादन के लिए आवश्यक अमीनो एसिड और प्रोटीन में बीन्स समृद्ध होते हैं और पोषण संबंधी विविधता को जोड़ने के लिए अन्य प्रोटीन युक्त खाद्य पदार्थों के साथ लिए जा सकते है। आधा कप पका हुआ राजमा बीन्स, नेवी बीन्स, ब्लैक बीन्स, छोले या अन्य प्रकार की फलियाँ एक लाभकारी प्रोटीन प्रदान करती हैं। सलाद, मीट और सूप के साथ मिश्रित, फलियां प्रोटीन की जरूरत को पूरा कर सकती हैं।

नट्स – Nuts

नट मीट प्रोटीन युक्त होते हैं और एक त्वरित स्नैक के रूप में कार्य करते हैं, या प्रोटीन को बढ़ावा देने के लिए अन्य खाद्य पदार्थों के साथ जोड़ा जा सकता है। बादाम, अखरोट और मूंगफली एक 1/3 कप सर्विंग में प्रोटीन की पेशकश करते हैं, जबकि 2 बड़े चम्मच पीनट बटर एक प्रोटीन सर्विंग के बराबर होता है। नट्स को सलाद में जोड़ा जा सकता है।

डेयरी – Dairy

प्रोटीन युक्त डेयरी उत्पाद दूध, दही, पनीर और अंडे जैसे विभिन्न रूपों में आते हैं। ओमेगा -3 फैटी एसिड के साथ डेयरी उत्पाद भी उपलब्ध हैं, जो भ्रूण के विकास के साथ-साथ प्रोटीन के लिए अतिरिक्त पोषण प्रदान करते हैं।

टोफू और सोया – Tofu and Soy

टोफू और अन्य सोया-आधारित उत्पाद प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं, साथ ही साथ टोफू बहुमुखी है और इसका उपयोग विभिन्न प्रकार से गर्भावस्था के आहार में प्रोटीन को जोड़ने के लिए किया जा सकता है। एक आधा कप टोफू प्रोटीन की एक सर्विंग के बराबर होता है।

प्रोटीन पाउडर सप्लीमेंट्स की खुराक – Protein Supplements

प्रोटीन पाउडर की खुराक तरल रूप में उपलब्ध है, जिसमे कई ओवर-द-काउंटर ब्रांड आते हैं, जो गर्भावस्था के दौरान आवश्यक प्रोटीन पोषण को बढ़ावा देने में मदद कर सकते है। जो महिलाएं सुबह की बीमारी (morning sickness ) या अन्य पाचन संबंधी समस्याओं का अनुभव करती हैं, जो सामान्य खाने को नहीं खा पाती हैं, वे प्रोटीन पाउडर सप्लीमेंट्स की खुराक का उपयोग करने पर विचार कर सकती हैं। हालांकि, प्रोटीन की उचित मात्रा के साथ, सही प्रोटीन पाउडर सप्लीमेंट्स की खुराक सुनिश्चित करने के लिए एक चिकित्सक की सलाह के तहत प्रोटीन पाउडर का सबसे अच्छा उपयोग किया जा सकता है।

गर्भावस्था के लिए बेस्ट प्रोटीन पाउडर विथ प्राइस – Best Protein Powder for Pregnancy with Price in Hindi

हर गर्भवती महिला के लिए गर्भावस्था के समय प्रोटीन का सेवन बहुत ही जरुरी है जो उनको अपने दैनिक आहार के माध्यम से प्राप्त होता है परन्तु फिर भी अक्सर गर्भवती महिलाओं में प्रोटीन की कमी पायी जाती है। जिसकी वजह से उनकी प्रेगनेंसी में कई तरह की समस्याएं पैदा हो जाती है इसलिए डॉक्टर उन महिलाओं को प्रोटीन पाउडर लेने की सलाह देते है ताकि उनके शरीर में प्रोटीन की अनुशंसित मात्रा को पूरा किया जा सके। अब ऐसे में उन महिलाओं के मन में यह सवाल आता है की उनके और उनके बच्चे के स्वास्थ्य के लिए कौन सा प्रोटीन पाउडर सबसे अच्छा है जो साथ में किफायती भी हो।

इसलिए आज हम आपके ऐसे ही कुछ बेस्ट प्रोटीन पाउडर के बारे में बतायेंगे जो आपके शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा करेंगे साथ में आपके बजट में भी होंगे। तो चलिए जानते है उन प्रोटीन पाउडर के बारे में –

(और पढ़ें – 10 बेस्ट प्रोटीन पाउडर इन इंडिया विथ प्राइस)

गर्भावस्था में बेस्ट है प्रोटिनेक्स मामा प्रोटीन पाउडर – Best Protein Powder for pregnancy Protinex Mama in Hindi

आज के समय में गर्भवती महिलाओं में जो सबसे प्रचलित प्रोटीन पाउडर है वो है प्रोटिनेक्स मामा। क्योकि यह प्रोटीन पाउडर खासतौर पर गर्भवती महिलाओं के लिए और उनके शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा करने के लिए बनाया गया है। प्रोटिनेक्स मामा एक प्रोटीन युक्त सप्लीमेंट है जो भ्रूण के शारीरिक और मानसिक विकास में मदद करता है। प्रोटिनेक्स मामा प्रोटीन पाउडर में प्रोटीन के आलावा आयरन, विटामिन, जिंक, मैग्नीशियम, DHA और फोलिक एसिड की भी भरपूर मात्रा है जो बच्चे का विकास ठीक तरह से करने में मदद करता है। यह प्रोटीन पाउडर दो फ्लावरों में उपलब्ध है वनिला और चॉकलेट। इसकी मार्केट प्राइस है 550 रुपए है।

(और पढ़ें – प्रोटीन पाउडर के प्रकार)

प्रेगनेंसी बेस्ट प्रोटीन पाउडर नेस्ले बेबी और मी प्रोटीन सप्लीमेंट – Best Protein Powder for pregnancy Nestle Baby and Me Supplement in Hindi

प्रेगनेंसी के समय दूसरा जो सबसे अच्छा प्रोटीन सप्लीमेंट माना जाता है वह है नेस्ले बेबी और मी प्रोटीन सप्लीमेंट। इस प्रोटीन पाउडर में प्रोटीन की मात्रा 18.9 ग्राम होती है साथ ही इसमें कार्बोहायड्रेट, फैट, मिनरल और कई तरह के विटामिन भी पाए जाते है। बाजार में यह केवल वनिला फ्लेवर में उपलब्ध है और इसकी मार्केट प्राइस 450 रुपए है।

प्रोटीन पाउडर फॉर प्रेगनेंसी मदर हॉर्लिक्स प्रोटीन पाउडर – Best Protein Powder for pregnancy Mother’s Horlicks in Hindi

अगर आप गर्भावस्था के समय अपने शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा करना चाहती है तो आप मदर हॉर्लिक्स प्रोटीन पाउडर भी ले सकती है। प्रेगनेंसी में इसे भी बहुत ही अच्छे प्रोटीन सप्लीमेंट्स में से एक माना जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है जो जन्म के समय आपके बच्चे को एक स्वस्थ वजन प्रदान करता है साथ ही इसमें बच्चे के दिमागी विकास के लिए DHA और कोलिन भी पाया जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन बी2 , विटामिन बी12 और विटामिन सी होता है और साथ ही इसमें आयरन और फोलिक एसिड भी होता है जो महिला को स्तनपान कराने में भी मदद करता है। यह मार्केट में दो फ्लावरों में उपलब्ध है वनिला और केसर और इसका बाजार में प्राइस लगभग 200-500 के बीच है।

प्रेगनेंसी में प्रोटीन पाउडर हिमालया Momz HiOwna – Best Protein Powder for pregnancy Himalaya Momz HiOwna in Hindi

हिमालया का Momz HiOwna एक बहुत ही अच्छा प्रोटीन पाउडर माना जाता है। क्योकि इसमें DHA है जो बच्चे की आँखों और ब्रेन का विकास करता है, साथ ही इसमें कई पोषक तत्त्व भी है जैसे मिथाइल फोलेट, मटर और मिल्क प्रोटीन, फैट, सभी तरह के विटामिन्स, जिंक, मैग्नीशियम, आयरन, पोटैशियम आदि जो माँ और बच्चे दोनों के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरुरी है। यह बाजार में चॉकलेट और वनिला फ्लेवरों में उपलब्ध है और इसकी कीमत 250 रुपए है।

प्रोटीन पाउडर खरीदने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें – Things to Keep Mind Before Buying a Protein Powder in Hindi

अगर आपको प्रोटीन पाउडर खरीदना पढ़ रहा है क्योंकि आपका नियमित आहार प्रोटीन की जरुरत को पूरा करने में अपर्याप्त है, तो प्रोटीन पाउडर खरीदने से पहले इन चीजों को ध्यान में रखें:

1. अतिरिक्त कैफीन और विटामिन

कई प्रोटीन पाउडर जिन्हें आहार के अनुकूल या शाकाहारी के रूप में लेबल किया जाता है, उनमें विटामिन और कैफीन शामिल होते हैं जिनसे आपको बचना चाहिए। आप पहले से ही प्रसवपूर्व मल्टीविटामिन पूरक का सेवन कर रही होती हैं या संतुलित आहार से अपने सभी सूक्ष्म पोषक तत्व प्राप्त कर सकती हैं। इसलिए, यह अत्यधिक विटामिन का सेवन करने के लिए व्यर्थ और कभी-कभी हानिकारक होता है। गर्भावस्था के दौरान कैफीन का सेवन भी कम करना चाहिए और प्रति दिन 200mg तक सीमित होना चाहिए।

(और पढ़ें – कैफीन के फायदे, नुकसान और उपयोग)

2. कृत्रिम मिठास

आहार के प्रति सचेत रहने के लिए कुछ प्रोटीन पाउडर कृत्रिम शर्करा से भरे होते हैं। ये गर्भवती महिलाओं के लिए अनुपयुक्त हो सकता है क्योंकि वे अक्सर नाल को पार करते हैं और इसे बच्चे को बनाते हैं। जबकि सकेरीन युक्त पाउडर से निश्चित रूप से बचा जाना चाहिए, अन्य चूर्ण जिनमें ज़ाइलिटोल, सुक्रालोज़ और स्टीविया शामिल हैं, उन पर भी कुछ अनिश्चितता है कि वे कोई नुकसान पहुचाते हैं या नहीं। शर्करा और बच्चे पर किसी भी संभावित प्रभाव के बीच एक कड़ी स्थापित करने के लिए आगे के अध्ययन की आवश्यकता है। सुरक्षित पक्ष पर रहने के लिए, सभी कृत्रिम मिठास वाले प्रोटीन पाउडर से बचना सबसे अच्छा है।

3. फिलर्स और फ्लेवरिंग एजेंट

भराव पदार्थों को पाउडर में मिलाया जाता है जब एक शेक को तैयार किया जाता है। वे पेय को बनावट और निरंतरता भी देते हैं जो इसे बेहतर या आकर्षक बनाता है। कुछ सामान्य भरावों में ज़ैंथन गम, ग्वार गम, पैलेटिनोज़ और अन्य अवयव शामिल होते हैं जिनका कम या कोई पोषण मूल्य नहीं होता है। वे कुछ खाली कैलोरी जोड़ सकते हैं और हो सकता है कि आप बिना किसी वास्तविक लाभ के फुलर (पेट का भरा हुआ) महसूस करें। फ्लेवरिंग एजेंट अक्सर किसी भी पोषण से रहित होते हैं, और कभी-कभी वे सभी प्राकृतिक नहीं होते हैं जैसा कि वे होने का दावा करते हैं। वे प्रोटीन पाउडर में मिलने से पहले रासायनिक रूप से व्यवहार करते हैं और संसाधित होते हैं और प्रकृति से सीधे प्राप्त नहीं होते हैं।

4. प्रोटीन पाउडर का सोर्स क्या है

आपके द्वारा उपभोग की जाने वाली लगभग सभी चीजें आपके बच्चे में भी जाती हैं, इसलिए आपके प्रोटीन पाउडर के स्रोतों पर ध्यान देना महत्वपूर्ण हो जाता है। पाउडर के निर्माता और उसके उत्पादन के तरीकों की जाँच करें और देखें कि उत्पाद कीटनाशकों, रसायनों और हार्मोन से मुक्त है या नहीं। कुछ शोध करना कि पाउडर कैसे बनाए जाते हैं और उनके निर्माण के तरीकों में क्या मदद मिलती है। यह महत्वपूर्ण है जब आप डेयरी आधारित पाउडर का चयन करते हैं जिसमें मट्ठा और कैसिइन होता है। डेयरी उत्पादों में अक्सर हार्मोन होते हैं जैसे कि आरबीजीएच (rBGH) (गोजातीय वृद्धि हार्मोन) जो भ्रूण के लिए अच्छा नहीं है। प्लांट-आधारित प्रोटीन अच्छा होता है जब यह कार्बनिक होता है।

5. सामग्री और लेबल चेतावनी

कई उत्पाद चेतावनी लेबल के साथ आते हैं यदि उनके पास ऐसी सामग्री होती है जो गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं या बच्चों के लिए अनुपयुक्त नहीं होती है। आमतौर पर, इन प्रोटीन पाउडर में क्रिएटिन, टॉरिन, कैफीन, बीटा ऐलेनिन, एसिटाइल एल-कार्निटाइन एचसीएल और विटामिन का प्रतिशत होता है जो आपकी आहार संबंधी सिफारिशों से अधिक होता है। ये लेबल आपको सुरक्षित पाउडर चुनने में मदद करते हैं, लेकिन ये सभी लेबल के साथ नहीं आते हैं। इसलिए, सामग्री को देखना और अनुपयुक्त पदार्थों की पहचान करना हमेशा एक अच्छा विचार है।

आपके डॉक्टर द्वारा कुछ शोध और मान्यता के साथ, आपकी प्रोटीन की जरूरतों को पूरा करने के लिए एक अच्छा प्रोटीन पाउडर चुनना संभव है। इसलिए हमेशा किसी भी प्रकार के प्रोटीन पाउडर को खरीदने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration