जानें माता-पिता की वह आदतें जो बच्चों को सफल होने से रोकतीं हैं – Parenting behaviors that stop children from being successful in Hindi

जानें माता-पिता की वह आदतें जो बच्चों को सफल होने से रोकतीं हैं – Parenting behaviors that stop children from being successful in Hindi
Written by Anvita

कहीं आप भी अपने बच्चों के साथ ये गलतीयां तो नहीं करते हैं जो उन्हें सफलता पाने से रोकती है, जानें माता-पिता की वह आदतें जो बच्चों को सफल होने से रोकतीं हैं। बच्चों को पालना बहुत कठिन और परिश्रम का काम है, यदि आप अपने बच्चों को सफल बनाना चाहते हैं, तो आपको जानना होगा कि आपका व्यवहार आपके बच्चों को अपने लक्ष्य तक पहुंचने से रोक सकता है। बच्चों के बचपन के दौरान सीखने के लिए बहुत सी चीजें आवश्यक हैं। हमेशा अपने बच्चों की मदद करें और उन्हें सिखाएं कि चोट के बाद अपने पैरों पर वापस कैसे खड़ा होना है। भले ही माता-पिता के इरादे नेक हो, फिर भी वे कभी-कभी वह गलतियां करते हैं। जानें इन 8 व्यवहारों के बारे में जो आपके बच्चे को सफल होने से रोकते हैं।

  1. माता पिता की ओवर-केयर बच्चे को सफल होने से रोके
  2. अच्छी परवरिश के गुण नहीं है बच्चों की भावनात्मक अभिव्यक्ति को रोकना
  3. माता पिता का बच्चों के अपने दोस्त बनाने से रोकना उन्हें सफल होने से रोकता हैं
  4. बच्चे की असफलता का कारण है हमेशा पीछे पड़े रहना
  5. माता पिता का बच्चो को गलत मार्गदर्शन उनकी सफलता के लिए हानिकारक
  6. बच्चों के सर्वांगीण विकास में माता पिता का हर बात में प्रशंसा करना गलत
  7. माता-पिता के अत्यधिक सख्त व्यवहार जो बच्चों को सफल होने से रोकते हैं
  8. बच्चों को सफल होने से रोकता है नई चीजों सीखने में मा-बाप का टोकना

माता पिता की ओवर-केयर बच्चे को सफल होने से रोके

माता पिता की ओवर-केयर बच्चे को सफल होने से रोके

अपने बच्चे के लिए सबकुछ करना, जो कुछ भी वह अकेले करने में सक्षम है, ऐसा करने पर वह बड़ा होने पर खुद के काम अकेले नहीं कर पायेगा। आप हमेशा अपने बच्चे के साथ नहीं रह सकते हैं और आपको यह जानने की ज़रूरत है कि वह आपकी मदद के बिना चीजें कैसे करें। ओवर-केयरिंग का एक उदाहरण किशोरों या युवा वयस्कों के बजाए माँ बाप का बच्चों के लिए कपड़े धोना है।

(और पढ़े – अगर बच्चों को बनाना है कामयाब तो इन चीजें को करें फॉलो…)

अच्छी परवरिश के गुण नहीं है बच्चों की भावनात्मक अभिव्यक्ति को रोकना

एक स्वस्थ माता-पिता के रिश्ते को बनाये रखना बेहद जरूरी है। आपको इसके लिए संतुलन बनाये रखना होगा की अगर डर, चिंता, निराशा और कुछ भी जो आपके बच्चे को परेशान कर रहा है, वह उस के बारे में ईमानदारी से आपके साथ चर्चा में शामिल हो। उन्हें सीखना चाहिए कि इन भावनाओं को दबाने के बजाय इन भावनाओं को कैसे संभालना है।

(और पढ़े – माता-पिता से अपने रिश्तों को बेहतर कैसे बनाएं…)

माता पिता का बच्चों के अपने दोस्त बनाने से रोकना उन्हें सफल होने से रोकता हैं

माता पिता का बच्चों के अपने दोस्त बनाने से रोकना उन्हें सफल होने से रोकता हैं

शोधकर्ताओं ने पाया है कि सफल बच्चों के माता-पिता ने उन्हें प्रभावी सामाजिक नेटवर्क बनाने में मदद की। बच्चों को मजबूत सामाजिक सपोर्ट की आवश्यकता होती है जिस पर वे तनाव या अनिश्चितता के समय के दौरान भरोसा कर सकते हैं।

(और पढ़े – लड़कियों में किशोरावस्था (टीनएज) में दिखने लगते हैं ये लक्षण…)

बच्चे की असफलता का कारण है हमेशा पीछे पड़े रहना

अपने बच्चे पर निगरानी करना कष्टप्रद साबित हो सकता है, क्योंकि इससे भी आपके बच्चे को लगता है कि वे स्वयं कुछ भी करने में असमर्थ हैं। यह ऐसे वयस्क को जन्म देगा जो जोखिम लेने में असमर्थ है और वास्तव में वे कितने सक्षम हैं, इस पर ध्यान दिए बिना हर कदम पर स्वयं संदेह करेंगे।

(और पढ़े – किशोरावस्था की शुरुआत और पैरेंट्स की ज़िम्मेदारियाँ…)

माता पिता का बच्चो को गलत मार्गदर्शन उनकी सफलता के लिए हानिकारक

माता पिता का बच्चो को गलत मार्गदर्शन उनकी सफलता के लिए हानिकारक

बच्चे अपने माता-पिता के व्यवहार पर बहुत ध्यान देते हैं। यदि वे आपको आपकी बोली गयी बातों को फॉलो करते नहीं देखते हैं तो जो आपने उन्हें सिखाया है, उसके बारे में आप उन्हें एक मिश्रित संदेश देते हैं। ऐसे में बच्चे समझ नहीं पाएंगे क्या सही और क्या गलत है।

(और पढ़े – बिना हाथ उठाए, बच्चों को अनुशासन कैसे सिखाएं…)

बच्चों के सर्वांगीण विकास में माता पिता का हर बात में प्रशंसा करना गलत

अपने बच्चों की अत्यधिक प्रशंसा से भविष्य की सफलताओं पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। ऐसा करने से उन्हें आगे बढ़ने और बेहतर करने के लिए प्रेरित नहीं होंगे। यदि आप बच्चों को ड्रेसिंग के लिए प्रशंसा करते हैं तो उन्हें अगली बार प्रशंसा प्राप्त नहीं होने पर वे ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित नहीं होंगे। अपने बच्चों की केवल तभी प्रशंसा करे हैं जब वे अपने शैक्षिक प्रदर्शन में महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल करते हों।

(और पढ़े – छोटे बच्चों को पढ़ाने के अनोखे तरीके…)

माता-पिता के अत्यधिक सख्त व्यवहार जो बच्चों को सफल होने से रोकते हैं

माता-पिता के अत्यधिक सख्त व्यवहार जो बच्चों को सफल होने से रोकते हैं

कठोर पालन आपके बच्चे में भावनात्मक कठिनाइयों के साथ-साथ कम आत्म-नियंत्रण भी पैदा कर सकता है। यदि आप अपने बच्चे के साथ अत्यधिक स्ट्रिक्ट हैं, तो आप उन्हें सही सीमाओं के अंदर अपने व्यवहार को सीमित करने का तरीका नहीं सिखा पाएंगे। जीवन में और अधिक अनुभव करने के लिए उन्हें कुछ जगह और स्वतंत्रता देनी चाहिए।

(और पढ़े – गलती करने पर बच्चे को ऐसे दें सजा…)

बच्चों को सफल होने से रोकता है नई चीजों को सीखने में मा-बाप का टोकना

अपने बच्चे को कुछ नया करने की कोशिश करने से मन करना उन्हें सफल होने से रोक सकता है। पेरेंटिंग में प्रतिबंधित व्यवहार सामान्य है और कुछ माता-पिता के पास खुद के कारण भी होंगे क्योंकि उन्हें लगता है कि उनका बच्चा असफल हो जाएगा। हालांकि, सीखने में भी असफलता शामिल है और आपके बच्चे को यह पता लगाना चाहिए कि सकारात्मक तरीके से असफलता से कैसे निपटना है, क्योंकि वह अभी भी युवा है।

(और पढ़े – लड़कियों में किशोरावस्था (टीनएज) में दिखने लगते हैं ये लक्षण…)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration