पीरियड्स में स्विमिंग करना सही है या नहीं – Swimming during periods in Hindi

पीरियड्स में स्विमिंग करना सही है या नहीं - Swimming during periods in Hindi
Written by Akansha

kya periods me swimming karni chahiye महिलाओं में माहवारी या पीरियड्स की समस्या आम है जो हर महीने होती है। पर क्या महिलाओं को पीरियड्स के दौरान स्विमिंग या तैराकी करना चाहिए या नहीं ये सभी महिलाओं के मन में सवाल आता है। गर्मियों का मौसम है और इस मौसम में अक्सर लोग वाटर पार्क जैसी जगहों पर जाते है पर जिन महिलाओं के पीरियड्स आये हुए होते है उन्हें अपने पीरियड्स की वजह से स्विमिंग करने जाने के लिए मन मारना पड़ता है क्योकि उनको ये डर होता है की पीरियड्स में स्विमिंग करने से कहीं उन्हें दर्द और संक्रमण तो नहीं होगा या कहीं उन्हें पूल में ही ब्लीडिंग या रक्तस्राव न हो जाये पर ऐसा बिलकुल भी नहीं है आप चिंतामुक्त होकर माहवारी के समय भी स्विमिंग या तैराकी कर सकती है।

अक्सर 8 से 16 साल की उम्र के बीच मासिक धर्म शुरू होना, हर लड़की के जीवन का एक सामान्य हिस्सा है। मासिक धर्म चक्र के दौरान, एक महिला का शरीर उसके गर्भाशय की दीवारों के साथ जमा हुए रक्त और ऊतकों को बाहर निकाल देता है। यह आमतौर पर तीन से सात दिनों तक चलता है, एक महिला की पीरियड्स आमतौर पर हर महीने में एक बार होते है जब तक कि वह रजोनिवृत्ति (Menopause) तक नहीं पहुंचती। कई लड़कियों को आश्चर्य होता है कि क्या वे अपने मासिक धर्म के दौरान तैराकी कर सकती हैं। आज इस लेख में हम आपको बतायेंगे की पीरियड्स में स्विमिंग करना चाहिए या नहीं।

क्या पीरियड्स में स्विमिंग करनी चाहिए – kya periods me swimming karni chahiye in Hindi

क्या पीरियड्स में स्विमिंग करनी चाहिए - kya periods me swimming karni chahiye in Hindi

पीरियड्स में स्विमिंग करनी चाहिए इस प्रश्न का उत्तर है, हां, आप बिल्कुल अपने मासिक धर्म के दौरान तैराकी कर सकती हैं। वास्तव में, आपको आपने पीरियड्स के दौरान किसी भी गतिविधि को करने से रोकना नहीं चाहिए। कुछ महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान भी संभोग करने का मन होता है हालांकि मासिक धर्म के दौरान इस प्रकार की गतिविधि थोड़ी गड़बड़ हो सकती है, लेकिन यह पूरी तरह से सुरक्षित है। चाहे आप जिम क्लास में एक्सरसाइज कर रहीं हों या तैराकी कर रहीं हों। आपका मासिक धर्म आपको पूल में तैराकी करने से नहीं रोक सकता।

(और पढ़ें – स्विमिंग करने के फायदे)

पीरियड्स में स्विमिंग करना अनहाइजीनिक है या नहीं – Periods me swimming unhygienic hai ya nahi in Hindi

यदि आप स्विमिंग या तैराकी करते वक़्त पैड की जगह टैम्पोन (tampon) या मेंस्ट्रुअल कप (menstrual cup) का उपयोग करती है तो पीरियड्स के समय स्विमिंग करना बिलकुल भी अनहाइजीनिक (unhygienic) नहीं है क्योकि जब आप टैम्पोन या मेंस्ट्रुअल कप का उपयोग करती है और स्विमिंग पूल में उतरती है तब ब्लीडिंग होना बंद हो जाती है वहीं तैराकी करते समय पैड का इस्तेमाल करने से वह गीला हो जाता है और पानी सोख लेता है जिससे संक्रमण होने का खतरा रहता है, परन्तु स्विमिंग पूल के पानी में क्लोरीन (chlorine) मिला होता है जिससे संक्रमण होने का खतरा कम हो जाता है और अगर आप टैम्पोन या मेंस्ट्रुअल कप का उपयोग करेंगी तो संक्रमण की कोई संभावना नहीं रहती है जिससे आप बिना किसी चिंता के आराम से स्विमिंग कर सकती है।

(और पढ़ें – पीरियड्स में कैसे रखें हाइजीन का ध्यान)

पीरियड्स में तैराकी करने से क्या संक्रमण हो सकता है – Periods me swimming karne se kya infection ho sakta hai in Hindi

माहवारी के समय तैराकी करने से किसी प्रकार का संक्रमण हो सकता है क्या? ऐसा बहुत सी महिलाओं के मन में सवाल उठता है, यदि आपको योनी या पेट सम्बन्धी कोई समस्या है तो संक्रमण होने का खतरा हो सकता है इसलिए यदि आप पीरियड्स के समय स्विमिंग करने या सीखने जा रहीं है तो उस जगह के स्वास्थ अधिकारी से पानी की गुणवत्ता के बारे में जरुर पूछे।और वैसे भी हमेशा स्विमिंग करने के बाद क्लोरीन के पानी का असर कम करने के लिए स्विमिंग पूल से निकलकर साफ पानी से एक बार जरुर नहाना चाहिए और स्विम सूट हो तुरन्त बदलना चाहिए जिससे संक्रमण होने के खतरे को कम किया जा सकता है। फिर भी यदि आपको तैराकी के बाद जलन, खुजली या किसी प्रकार के योनी संक्रमण का अनुभव हो तो अपने डॉक्टर से तुरन्त संपर्क करें।

(और पढ़ें – जानें पीरियड या मासिक धर्म चक्र क्‍या होता है)

माहवारी में स्विमिंग करते वक़्त क्या ब्लीडिंग हो सकती है – Periods me swimming karte waqt kya bleeding ho sakti hai in Hindi

स्विमिंग करते समय पानी का दबाव (water pressure) बहुत ज्यादा रहता है जिसकी वजह से पानी में ब्लीडिंग होना बंद हो जाती है पर अगर आप जोर से हँसते, खांसते या छिकती है तो हल्की ब्लीडिंग हो सकती है, पर अगर आपने टैम्पोन या मेंस्ट्रुअल कप लगाया है तो चिंता करने की बात ही नहीं है क्योकि इनकी वजह से रक्तस्राव बाहर तक नहीं होता है यह उसे अंदर ही सोख लेते है। परन्तु पैड का उपयोग करने से ब्लीडिंग पानी में हो सकती है क्योकि पैड रक्त को पानी में रोकने में असरदार नहीं होता है। इसलिए स्विमिंग करते समय हमेशा टैम्पोन या मेंस्ट्रुअल कप का ही उपयोग करें।

(और पढ़ें – पीरियड में ब्लीडिंग कम करने के घरेलू उपाय)

मासिक धर्म के समय स्विमिंग करने से ज्यादा दर्द होता है – Periods me swimming karne se jyada dard hota hai in Hindi

यदि आप भी यह सोचती है की मासिक धर्म के समय तैराकी करने से ज्यादा दर्द होता है तो ऐसा बिलकुल भी नहीं है क्योकि जब हम किसी प्रकार का व्यायाम या स्विमिंग करते है तो हमारे मस्तिष्क से एक प्रकार का रसायन निकलता है जिसे एंडोर्फिन (endorphin) कहा जाता है। यह रसायन ऐसे कोई भी बलपूर्वक काम करने पर दर्द से आराम देता है जिससे पीरियड्स में भी व्यायाम या स्विमिंग करने में तकलीफ नहीं होती है इसलिए यदि आपका मन भी स्विमिंग करने का हो रहा है तो निश्चिन्त होकर तैराकी करने जायें।

(और पढ़े – पीरियड्स के दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं)

(और पढ़े – पीरियड्स के दिनों में दर्द क्यों होता है जानें मुख्य कारण…)

पीरियड्स में तैराकी करते समय कैसे कपड़े पहने – Periods me swimming karte samay kaise kapde pehne in Hindi

यदि आपको टैम्पोन या मेंस्ट्रुअल कप लगाने के बाद भी यह चिंता है की आपकी माहवारी की वजह से तैराकी करते समय आपके कपड़े या स्विम सूट ख़राब हो सकता है या उस पर ब्लीडिंग का दाग लग सकता है तो हमेशा स्विमिंग करते समय डार्क रंग के कपड़ो का चयन करें जैसे नीले या काले रंग के कपड़े, जिससे आपको दाग लगने की कोई चिंता नहीं रहेगी और आप आराम से स्विमिंग का मजा ले पाएंगी।

(और पढ़ें – पीरियड पैंटी क्या है और इसका इस्तेमाल करने का तरीका)

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration