अगर आप के किसी साथ वाले को है नींद में है बड़बड़ाने की आदत तो ये खबर आपके लिए है – Effective Home Remedies For Talking In Sleep in hindi

अगर आप के किसी साथ वाले को है नींद में है बड़बड़ाने की आदत तो ये खबर आपके लिए है - Effective Home Remedies For Talking In Sleep in hindi
Written by Shivam

कई बार आपने सुना होगा कि माता-पिता शिकायत करते हैं कि उनका बच्चे को नींद में है बड़बड़ाने की आदत है। कई बार वे इससे काफी डर जाते हैं कि कहीं उनके बच्चे को कोई बीमारी तो नहीं हो गयी है। इसीलिए आज हम आपको इस बीमारी के बारे में कुछ जानकरी देंगे और उसे ठीक करने के उपाए बातएंगे। नींद में बोलने को नींद में है बड़बड़ाने की आदत कहा जाता हैं क्योंकि जब आप बड़बड़ाते हैं तो आपके शब्द आधे-अधूरे और अस्पष्ट होते हैं।

ये एक प्रकार का पैरासोमनिया है जिसका मतलब होता है सोते समय अस्वाभाविक व्यवहार करना लेकिन इसे बीमारी नहीं माना जाता हैं। रात में बड़बड़ाते हुए आप कभी-कभी ख़ुद से ही बात करने लगते हैं जो ज़ाहिर है सुनने वाले को अजीब या भद्दा लग सकता है, लेकिन नींद में बड़बड़ाने वाले एक समय में 30 सेकेंड से ज्यादा नहीं बोलते है। कई तरह के लोग नींद में बाते करते हैं।

3 से 10 साल के करीब आधे से ज्यादा बच्चें अपनी बातों को नींद में बड़बड़ते है। वहीं 5 फीसदी बड़े भी नींद में बात करते है। कई बार जो बात करते करते वो सो जाते है, उसे ही पूरा करते है। ऐसा कभी-कभी होता है या हर रात भी हो सकता है। तो इससे घबराएं नहीं इसे ठीक करने घरेलु उपाए आपनाये।

नींद में है बड़बड़ाने की आदत मिटाने के घरलू उपाय – Effective and Natural Home Remedies For Talking In Sleep in hindi

1.नींद में है बड़बड़ाने की आदत से बचने के लिए सही समय पर सोएं

सही समय पर सोना चाहिए इससे नींद में बड़बड़ाने की आदत से छुटकारा मिल जाएगा। ऐसा मानना है कि रात में सही समय से सोने और सुबह सही समय से उठने से यह समस्या नहीं होती है। इसके साथ अपनी नींद पूरी होना भी जरुरी है। अगर ऐसा नहीं होता है तब भी बड़बड़ाने की समस्या होती है।

2. गरिष्ठ भोजन और शारब  भी होते है नींद में है बड़बड़ाने की आदत का कारण

कुछ लोग शराब के आदि होते है और रात के समय में ही शराब पीते हैं और सोते समय बड़बड़ाने लगते है। अगर इस समस्या का समाधान चाहते हैं तो आपको शराब छोड़नी होगी। अगर ये मुमकिन न हो तो इसे धीरे-धीरे पीना काम कर दें। इसे साथ गरिष्ठ भोजन भोजन भी बिलकुल बंद कर दें।

3. नींद में है बड़बड़ाने की आदत से छुटकारा दिलाएगा तनाव मुक्त जीवन

अगर आप लगातार तनाव से गुजर रहें हैं तो आपको यह समस्या हो सकती है। इसके लिए अपने दिमाग को पर्याप्त आराम का मौका देना चाहिए और खुद भी रिलैक्स करना चाहिए अगर ऑफिस के कामों से आप खुद को बहुत उलझा हुआ महसूस कर रहे हैं तो कुछ दिनों के लिए काम से छुट्टी ले लें। और होसके तो कहीं घूमने चले जाए।

(और पढ़े: मानसिक तनाव के कारण, लक्षण एवं बचने के उपाय)

4. नींद में है बड़बड़ाने की आदत से निजात पाने के लिए उचित व्यायाम करें

कई बार शरीर में ब्लड सर्कुलेशन ठीक से ना होने के कारण भी नींद में बड़बड़ाने की आदत हो जाती है। इसके लिए आप शाम को टहलने जा सकते हैं या फिर योग कर सकते हैं।

5. आपकी समस्याओं के बारे में घरवालो से बात करें

कई बार देखा गया है कि जिन लोगों की नींद में बड़बड़ाने की आदत होती है वे बहुत ज्यादा तनावग्रस्त या मानसिक रूप से निराश होते हैं। अगर आपके भी परिवार के किसी सदस्य के साथ ऐसा है तो उससे बात करें। उनकी परेशानोयों को सुने।

6. नींद में है बड़बड़ाने की आदत से छुटकारा पाने के लिए रात को डरावनी फिल्मों को देखने से बचें

रात में किसी भी तरह की डरावनी फिल्मे ना देखे। इससे दिमाग पर असर होता है और रात में व्यक्ति बड़बड़ाने लगता है। इससे अच्छा है कि आप कोई रोमांटिक या हसी मज़ाक वाली फिल्म देखेँ।

7. मधुर संगीत और गाने सुनने से नींद में है बड़बड़ाने की आदत होगी दूर

संगीत ऐसी चीज़ है जो चंचल मन को शांत कर देता है। तो सूने से पहले अपने पसंद के गाने सुने। इससे आपको नींद भी अच्छी आएगी और नींद में बड़बड़ाने की आदत भी कम हो जाएगी।

8. दवाएं भी हो सकती है नींद में है बड़बड़ाने की आदत का कारण

अपने डॉक्टर से बात करें। हो सकता है आप जो दवाएं ले रहें हैं उनकी वजह से आपको नींद में बड़बड़ने की आदत हो रही है। और अगर ऐसा है तो कुछ दिनों के लिए उन दवाओं को बंद कर दें। और अगर आपको कोई फर्क दिखता है तो तो इसके बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration