यौन उत्पीड़न क्या होता है इससे कैसे बचें – What Is Sexual Assault, How To Protect Yourself In Hindi

यौन उत्पीड़न क्या होता है इससे कैसे बचें - What Is Sexual Assault, How To Protect Yourself In Hindi
Written by Daivansh

yon utpidan in hindi यौन उत्पीड़न एक यौन स्वभाव की जबरदस्ती करना है। यौन उत्पीड़न के कई प्रकार होते हैं, किसी व्यक्ति को जानबूझकर गलत तरीके से छूना, उसकी सहमति के बिना उसके साथ जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाना, बलात्कार करना या फिर उसे यौन क्रिया में लिप्त होने के लिए मजबूर करना यौन उत्पीड़न कहलाता है। यह यौन हिंसा का एक ऐसा रूप है जिसमें कई तरह की अश्लील क्रियाएं और यौन शोषण शामिल है। अधिकांश आधुनिक कानूनी संदर्भों में, यौन उत्पीड़न अवैध है। यौन उत्पीड़न की ज्यादातर शिकार महिलाएं और बच्चे होते हैं लेकिन यह पुरुषों के साथ भी हो सकता है।

यौन उत्पीड़न से पीड़ित व्यक्ति मानसिक और भावनात्मक रुप से काफी कमजोर पड़ जाता है और उसे हमेशा एक अजीब डर सा महसूस होता है। इसके अलावा यौन उत्पीड़न का शिकार व्यक्ति अपना आत्मविश्वास खो बैठता है और अक्सर घर से बाहर निकलने में वह डरता है। इसलिए उसे विशेष प्रकार की सहायता की जरूरत पड़ती है। इस आर्टिकल में हम आपको यौन उत्पीड़न के प्रकार और इससे बचने के उपाय के बारे में बताने जा रहे हैं।

1. यौन उत्पीड़न के प्रकार – Types of Sexual Assault in hindi
2. यौन उत्पीड़न से कैसे बचें – how to protect from Sexual Assault in hindi

यौन उत्पीड़न के प्रकार – Types of Sexual Assault in hindi

यौन उत्पीड़न के प्रकार - Types of Sexual Assault in hindi

अक्सर देखा जाता है कि समाज के हर उम्र का व्यक्ति यौन उत्पीड़न का शिकार होता है। लेकिन महिलाओं के साथ इस तरह की घटनाएं अधिक होती हैं। बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने वाले टीचर, ऑफिस में बॉस, तो शादी का झांसा देकर प्रेमी लड़की का यौन उत्पीड़न करता है। यौन उत्पीड़न कई प्रकार के होते हैं। आइये जानते हैं।

बलात्कार

  • किसी व्यक्ति की इच्छा के विरुद्ध उसके साथ शारीरिक संबंध बनाना या संभोग करना।
  • किसी के साथ जबरदस्ती गुदा मैथुन करना ( Forcible sodomy) किसी भी महिला या पुरुष के साथ जबरदस्ती एनल या ओरल सेक्स करना यौन उत्पीड़न कहलाता है।

जबरदस्ती संभोग करना

इसका अर्थ है किसी महिला की योनि या गुदा में जबरदस्ती लिंग प्रवेश कराकर सेक्स करना। महिला के इच्छा के विरुद्ध इस तरह का प्रयास करना यौन उत्पीड़न कहलाता है।

वैवाहिक बलात्कार

  • अपनी पत्नी के साथ उसका मन नहीं होने या फिर मना करने के बावजूद जबरदस्ती सेक्स करना
  • किसी को गलत तरीके से छूना (Unwanted sexual touching)
  • ऑफिस, बस, ट्रेन या फिर किसी अन्य स्थान पर किसी भी व्यक्ति के अंगों पर हाथ लगाना या उसे गलत इरादे से छूना यौन उत्पीड़न कहलाता है।

नाबालिग बच्चों के साथ यौन संबंध बनाना (Sexual contact with minors)

  • इस तरह का यौन उत्पीड़न ज्यादा होता है और आमतौर पर बच्चे इसके शिकार होते हैं।
  • घर के सदस्यों के साथ यौन संबंध बनाना (Incest)
  • इसके अलावा यौन शोषण करना, इंटरनेट पर बच्चों को संभोग करने या यौन गतिविधियां करने के लिए उकसाना और बच्चों को पोर्नोग्राफी में लिप्त करना आदि कार्य भी यौन उत्पीड़न के अंतर्गत आते हैं।

(और पढ़े – सेक्स एजुकेशन (यौन शिक्षा))

यौन उत्पीड़न से कैसे बचें – how to protect from Sexual Assault in hindi

  1. यौन उत्पीड़न से बचने के लिए स्थिति को पहचानें – yon utpidan se bachne ke liye situation pahchane in hindi
  2. यौन उत्पीड़न के बचने के लिए घर से पूरी तैयारी से निकलें – yon utpidan se bachne ke liye ghar se prepare hokar nikle in hindi
  3. यौन उत्पीड़न से बचने के लिए ड्रिंक ना करें – yon utpidan se bachne ke liye drink na karein hindi
  4. यौन उत्पीड़न से खुद को बचाने के लिए आंखे खुली रखें – Keep your eyes scanning to protect from Sexual Assault in hindi
  5. यौन उत्पीड़न से बचने के लिए समझौता ना करें – Don’t compromise your standards to protect from Sexual Assault in Hindi
  6. यौन उत्पीड़न से बचने के लिए दोस्तों को बताकर कहीं जाएं – yon utpidan se bachne ke liye dosto ko batakar kahi jayen in hindi
  7. भारत में यौन उत्पीड़न से संबंधित कानून – sexual assault laws in india in hindi
  8. यौन उत्पीड़न की शिकायत कहां करें – yon utpidan ki complain kaha kare in hindi

वास्तव में यौन उत्पीड़न से बचने के लिए ज्यादा कुछ नहीं लेकिन काफी सतर्क रहने की जरूरत पड़ती है। आइये जानते हैं कि यौन उत्पीड़न से खुद को कैसे बचाएं।

यौन उत्पीड़न से बचने के लिए स्थिति को पहचानें – yon utpidan se bachne ke liye situation pahchane in hindi

यौन उत्पीड़न से बचने के लिए स्थिति को पहचानें - yon utpidan se bachne ke liye situation pahchane in hindi

अगर आपको ऐसा महसूस हो रहा हो कि आप किसी स्थान पर या किसी व्यक्ति के साथ अकेले सुरक्षित नहीं हैं तो आप तुरंत वहां से हट जाएं या फिर ऐसी जगह पर खड़े रहें जहां आपके आसपास भी लोग मौजूद हों। इसके अलावा यदि कोई व्यक्ति आपको घूर रहा हो या फिर अजीब नजरों से देख रहा हो या आपको यह लग रहा हो कि मौका पाते ही वह आपको कुछ बोलेगा तो तुरंत अपने किसी दोस्त को फोन करें और उससे बात करें। आप चाहें तो कैब बुलाकर घर भी आ सकती हैं। इससे आप यौन उत्पीड़न से खुद को बचा सकती हैं।

(और पढ़े – रिलेशनशिप जिसे आप प्यार समझ रहे हैं, शायद वो प्यार नहीं धोखा हो…)

यौन उत्पीड़न के बचने के लिए घर से पूरी तैयारी से निकलें – yon utpidan se bachne ke liye ghar se prepare hokar nikle in hindi

घर से बाहर निकलने से पहले अपने फोन की बैटरी को पूरी तरह से चार्ज कर लें और अपने आप कुछ नगद पैसे जरूर रखें। इसके अलावा अपनी कंपनी और कैब का नंबर भी अपने फोन में सुरक्षित रखें और अगर संभव हो तो एक डायरी पर भी सभी जरूरी नंबर लिखकर रखें ताकि असुरक्षा महसूस होने पर आप तुरंत अपने पहचान वालों को सूचित कर सकें।

यौन उत्पीड़न से बचने के लिए ड्रिंक ना करें – yon utpidan se bachne ke liye drink na karein hindi

यौन उत्पीड़न से बचने के लिए ड्रिंक ना करें - yon utpidan se bachne ke liye drink na karein hindi

अगर आपकी उम्र 18 वर्ष से कम है तो आपको किसी भी पार्टी में ड्रिंक नहीं करना चाहिए। अगर आप एल्कोहल का सेवन करती भी हैं तो कम मात्रा में करें ताकि आपके आसपास जो कुछ भी हो रहा हो, आपको पता चल सके। आंकड़े बताते हैं कि यौन उत्पीड़न की घटनाएं जैसे बलात्कार या जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाना आदि नशे की ही हालत में होती हैं। इसलिए अपनी सुरक्षा अपने हाथ में रखें और बेहतर है कि घर के बाहर ड्रिंक न करें।

(और पढ़े – शराब पीने के फायदे और नुकसान और शरीर पर इसका प्रभाव…)

यौन उत्पीड़न से खुद को बचाने के लिए आंखे खुली रखें – Keep your eyes scanning to protect from Sexual Assault in hindi

जब आप कहीं अकेले जा रही हों तो अपना कान और आंख एकदम खुला रखें और अपने आसपास के लोगों के हावभाव को नोटिस करते रहें। कहीं भी आने जाने के लिए सार्वजनिक रास्तों का इस्तेमाल करें और जिन रास्तों में लाइट न हो, बिल्कुल अंधेरा हो या बहुत कम लोग आते जाते हों, उस रास्ते से पैदल ना आएं। इसके अलावा यदि आप नाइट शिफ्ट करके लौट रही हों तो अपनी सुरक्षा का पूरा ध्यान रखें और कैब के ड्राइवर से सतर्क रहें। इससे आप खुद को यौन उत्पीड़न से बचा सकती हैं।

यौन उत्पीड़न से बचने के लिए समझौता ना करें – Don’t compromise your standards to protect from Sexual Assault in Hindi

यौन उत्पीड़न से बचने के लिए समझौता ना करें - Don’t compromise your standards to protect from Sexual Assault in Hindi

आमतौर पर यौन उत्पीड़न से बचने के लिए काफी सतर्क रहना पड़ता है। इसके लिए सबसे जरूरी है कि आप अपनी सीमाएं तय करें। अगर ऑफिस में बॉस प्रमोशन का लालच देकर यौन उत्पीड़न करने की कोशिश करता है या आपका सहकर्मी आपको गंदे तरीके से छूता है तो संकोच न करें बल्कि स्थिति को समझते हुए तुरंत प्रतिक्रिया करें। अगर आप मामले को संभाल नहीं पा रही हैं तो महिला हेल्पलाइन में फोन करके अपनी शिकायत दर्ज कराएं या फिर जॉब छोड़ दें, लेकिन खुद का यौन उत्पीड़न न होने दें।

(और पढ़े – क्या होता है वन नाईट स्टैंड, जानिए फायदे और नुकसान…)

यौन उत्पीड़न से बचने के लिए दोस्तों को बताकर कहीं जाएं – yon utpidan se bachne ke liye dosto ko batakar kahi jayen in hindi

यौन उत्पीड़न के अधिकांश मामले ऐसे भी सामने आते हैं जिसमें शादी का झांसा देकर लड़की के साथ जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाया जाता है। इसलिए इससे बचने के लिए प्रेमी के साथ डेट पर जाएं तो खुद को नियंत्रण में रखें और भावनाओं में बहकर समर्पण न करें। इसके अलावा जब भी आप कहीं जाएं, दोस्तों को जरूर बता दें ताकि किसी तरह की अनहोनी होने पर आपको तुरंत मदद प्रदान की जा सके।

भारत में यौन उत्पीड़न से संबंधित कानून – sexual assault laws in india in hindi

भारत में यौन उत्पीड़न से संबंधित कानून - sexual assault laws in india in hindi

कार्यस्थल पर महिलाओं के साथ होने वाली हिंसा को रोकने के लिए वर्ष 2013 में यौन उत्पीड़न अधिनियम पारित किया गया। इस अधिनियम के अनुसार यदि किसी संस्था में दस से अधिक लोग काम करते हैं और वहां महिला का उत्पीड़न होता है तो उस व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। यह अधिनियम दिसंबर 2013 को प्रभाव में आया था। इस अधिनियम के अनुसार शिकायत समितियों को सबूत जुटाने में सिविल कोर्ट वाली शक्तियाँ प्रदान की गई हैं। यदि नियोक्ता अधिनियम के प्रावधानों को पूरा करने में असफल होता है तो उसे 50,000 रुपये से अधिक का जुर्माना भरना पड़ेगा। इस अधिनियम के अनुसार मजदूरी का काम करने वाली महिलाओं या घरों में काम करने वाली नौकरानियों के साथ यौन उत्पीड़न होने पर सजा का प्रावधान है।

(और पढ़े – लिव इन रिलेशनशिप क्या है कानून इसके फायदे और नुकसान…)

यौन उत्पीड़न की शिकायत कहां करें – yon utpidan ki complain kaha kare in hindi

आमतौर पर हर संस्थान या संगठन में एक आंतरिक शिकायत समिति होती है। यदि आपकी कंपनी में यह समिति है तो आप अपने साथ होने वाले यौन उत्पीड़न की शिकायत वहां दर्ज कराएं।

इसके अलावा हर राज्य और शहर में एक स्थानीय शिकायत समिति होती है जहां पीड़ित की शिकायत दर्ज करायी जाती है। यदि आपको यौन उत्पीड़न की शिकायत दर्ज कराने से डर लगता है तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पीड़ित के बारे में सभी जानकारी गोपनीय रखी जाती है।

इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration