गर्भ में लड़की होने के लक्षण – Pregnancy Symptoms for baby girl in Hindi

गर्भ में लड़की होने के लक्षण - Pregnancy Symptoms for baby girl in Hindi
Written by Akansha

Pregnancy me baby girl symptoms in Hindi ऐसा माना जाता है कि गर्भवती महिला में ऐसे बहुत से लक्षण होते हैं जो गर्भ में पल रहे बच्चे के लिंग से जुड़े होते हैं। जिसकी मदद से यह पता लगाया जा सकता है कि गर्भ में लड़का है या लड़की। जब भी कोई महिला गर्भवती होती है तो उसके साथ साथ उनके परिवार में भी ख़ुशी की लहर दौड़ने लगती है। और सभी के मन में एक ही सवाल आता है की गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का होगा या लड़की, परन्तु भारत में लिंग परीक्षण करना अपराध है। इसलिए कुछ लोग लिंग परीक्षण करने के लिए कई घरेलु तरीके अपनाते है। पर पूरी तरह इन तरीकों पर भरोसा करना उचित नहीं है क्योकि इनके सही होने के कोई प्रमाण नहीं है। परन्तु इन तरीकों को अपनाने में कोई नुकसान भी नहीं होता है।

इसलिए आज इस लेख में हम जानेंगे की गर्भ में लड़की होने के लक्षण क्या होते हैं और गर्भ में लड़की है इस बात का परिक्षण कैसे किया जा सकता है और इसके पीछे कितनी सच्चाई है।

गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का है या लड़की कैसे जानें – How to identify it’s a boy or girl in Hindi
गर्भ में लड़की होने के लक्षण जी मिचलाना – Baby girl Symptom severe morning sickness in Hindi
गर्भ में बेटी होने का लक्षण मूड स्विंग्स – Baby girl Symptom extreme mood swing in Hindi
लड़की पैदा होने का लक्षण अचानक वजन बढ़ना – Baby girl Symptom Weight gain around the middle in Hindi
पुत्री पैदा होना के लक्षण मीठा खाने की तीव्र इच्छा होना – Baby girl Symptoms Sugar cravings in Hindi
रात में दूध पीने के नुकसान – Disadvantages of Drinking Milk at Night-time in Hindi
लड़की पैदा होने का लक्षण तनाव का स्तर – Baby girl Symptoms stress level in Hindi
बेटी होने के लक्षण तैलीय त्वचा और झड़ते बाल – Baby girl Symptoms oily skin and dull hair in Hindi
लड़की होने का लक्षण बच्चे की तेज धड़कन – Baby girl Symptoms baby’s rapid heartbeat in Hindi
गर्भावस्था के दौरान लिंग निर्धारण के परिणाम – Consequences Of Gender Determination During Pregnancy in Hindi

गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का है या लड़की कैसे जानें – How to identify it’s a boy or girl in Hindi

पुराने समय में लोग गर्भवती महिला की कुछ आदतों को देख कर अंदाजा लगाते थे की महिला को लड़का होगा या लड़की। जैसे अगर महिला के चेहरे पर चमक और रौनक है तो इसका मतलब महिला को लड़का होगा परन्तु यदि महिला के चेहरे पर बहुत सारे मुहांसे है और चेहरा बुझा हुआ सा नजर आता है तो इसका मतलब है की महिला लड़की को जन्म देगी। इसी तरह कुछ और आदतों और चीजों से अंदाजा लगाया जा सकता है की गर्भवती महिला लड़की को जन्म देगी या लड़के को। चलिए जानते है ऐसे ही कुछ लक्षणों के बारे में-

(और पढ़ें – जाने गर्भ में लड़का होने के लक्षण क्या होते है)

गर्भ में लड़की होने के लक्षण जी मिचलाना – Baby girl Symptom severe morning sickness in Hindi

कुछ लोगों का मानना हैं कि सुबह सुबह गंभीर रूप से जी मिचलाने की बीमारी लड़की होने का संकेत होता है। वास्तव में, हाल के शोध में पाया गया हैं कि गर्भावस्था के दौरान बीमार महसूस करना बच्चे के लिंग से जुड़ा हो सकता है। जो महिलाएं लड़की को जन्म देने वाली होती है वह लड़कों को जन्म देने वाली महिलाओं से अधिक अस्वस्थ महसूस करती है। परन्तु मॉर्निंग सिकनेस और बच्चे के लिंग के बीच संबंध को पूरी तरह से समझने के लिए अभी अधिक शोध की आवश्यकता है।

(और पढ़ें – गर्भ में शिशु का विकास महीने दर महीने)

गर्भ में बेटी होने का लक्षण मूड स्विंग्स – Baby girl Symptom extreme mood swing in Hindi

गर्भावस्था के दौरान हार्मोनल परिवर्तन अक्सर मूड स्विंग का कारण बन सकते हैं। कुछ लोगों का मानना हैं कि लड़की को जन्म देने वाली महिलाओं में एस्ट्रोजेन का स्तर अधिक होता है और इसके परिणामस्वरूप उन महिलाओं को मूड स्विंग्स बहुत अधिक होता हैं। हालांकि कोई भी शोध इस सिद्धांत का समर्थन नहीं करते है। क्योकि गर्भावस्था के दौरान हार्मोन का स्तर बढ़ता है और बच्चे को जन्म देने के बाद कम हो जाता है, भले ही गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का हो या लड़की।

(और पढ़ें – गर्भावस्था के दौरान होने वाले शारीरिक परिवर्तन)

लड़की पैदा होने का लक्षण अचानक वजन बढ़ना – Baby girl Symptom Weight gain around the middle in Hindi

यदि गर्भावस्था के दौरान एक महिला का गर्भावस्था के बीच में अचानक से बहुत वजन बढ़ता है, तो कुछ लोगों का मानना है कि इसका मतलब उस महिला को लड़की होने वाली है। परन्तु कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण इस सिद्धांत का समर्थन नहीं करते हैं। क्योकि गर्भावस्था में एक महिला का वजन बढ़ना आम बात है, और यह उसके शरीर के प्रकार पर निर्भर करता है।

(और पढ़ें – महिलाओं के लिए वजन कम करने के टिप्स और तरीके)

पुत्री पैदा होना के लक्षण मीठा खाने की तीव्र इच्छा होना – Baby girl Symptoms Sugar cravings in Hindi

गर्भवती होने पर अक्सर महिलाओं को विभिन्न प्रकार की चीजे खाने की क्रेविंग्स का अनुभव होता हैं। कुछ लोगों का मानना हैं कि अगर किसी गर्भवती महिला को बहुत अधिक मीठा खाने की क्रेविंग होती है, तो यह संभावना होती है की वह लड़की को जन्म दे सकती है, जबकि नमकीन चीजे खाने की क्रेविंग्स लड़के को इंगित करती है। परन्तु इस बात का कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है कि गर्भावस्था के दौरान खाने की क्रेविंग  बच्चे के लिंग का संकेत दे सकती है।

लड़की पैदा होने का लक्षण तनाव का स्तर – Baby girl Symptoms stress level in Hindi

ऐसा माना जाता है की गर्भधारण करने से पहले महिलाओं के तनाव का स्तर बच्चे के लिंग को प्रभावित कर सकता है। 2012 के एक अध्ययन में पाया गया है की तनाव हार्मोन कोर्टिसोल के स्तर और पुरुष से महिला जन्म अनुपात के बीच संबंध पाया गया। इस अध्ययन में पाया गया की, उच्च स्तर की कोर्टिसोल हॉर्मोन वाली महिलाओं को लड़की होने की संभावना अधिक होती है। तनाव और अजन्मे बच्चों के लिंग के बीच के सम्बन्ध को ठीक से समझने के लिए अभी और अधिक शोध की आवश्यकता है।

(और पढ़ें – कामकाजी महिलाओं में तनाव के कारण, लक्षण और उपाय)

बेटी होने के लक्षण तैलीय त्वचा और झड़ते बाल – Baby girl Symptoms oily skin and dull hair in Hindi

कुछ लोगों का मानना ​​है कि अगर किसी गर्भवती महिला की तैलीय त्वचा और सुस्त बाल है इसका मतलब है की वह महिला एक लड़की को जन्म दे सकती है। परन्तु इस बात का प्रमाण वैज्ञानिक रूप से आधारित नहीं है। क्योकि गर्भावस्था के दौरान त्वचा से तेल उत्पादन या बालों की बनावट में परिवर्तन हार्मोनल परिवर्तन या आहार में परिवर्तन से संबंधित हो सकता है।

(और पढ़ें – डिलीवरी के बाद बालों का झड़ना कैसे रोकें )

लड़की होने का लक्षण बच्चे की तेज धड़कन – Baby girl Symptoms baby’s rapid heartbeat in Hindi

कुछ लोगों का मानना ​​है कि अगर बच्चे का दिल तेजी से धड़कता है, तो गर्भवती महिला एक लड़की को जन्म दे सकती हैं। हालांकि, शोधकर्ताओं ने दशकों पहले इस मिथक का अध्ययन एक अध्ययन में किया था जिसमें पाया गया था कि नर और मादा भ्रूण में हृदय की दर में कोई महत्वपूर्ण अंतर नहीं होता है। इसलिए दिल की धड़कन से यह अंदाजा लगा पाना मुश्किल है की गर्भ में लड़का है या लड़की।

गर्भावस्था के दौरान लिंग निर्धारण के परिणाम – Consequences Of Gender Determination During Pregnancy in Hindi

भारत जैसे कुछ देशों में, माता-पिता के लिए अल्ट्रासाउंड के माध्यम से भ्रूण का लिंग जानना गैरकानूनी है। चिकित्सकीय और सांस्कृतिक रूप से, लिंग निर्धारण के कुछ प्रमुख परिणाम यहां दिए गए हैं, जिनमें शामिल है-

यदि डॉक्टर या तकनीशियन के कौशल किसी भी तरह से संदिग्ध हैं, तो वे आपको बच्चे के लिंग पर गुमराह कर सकते हैं, जिससे आप निराश हो सकते है।

एक अल्ट्रासाउंड हमेशा 100% सटीक नहीं हो सकता है क्योंकि कई संभावनाएं हैं – बच्चे का चेहरा गलत तरफ हो सकता है, उसके पैर क्रॉस में हो सकते है, या बच्चे का जननांग दिखाई नहीं दे सकते हैं।

हमेशा यह याद रखें, भविष्यवाणियां सिर्फ एक अटकलें होती हैं। आनुवांशिक परीक्षण के वैज्ञानिक तरीकों के अलावा, आपके बच्चे के लिंग को जानने का एकमात्र सही तरीका प्रसव तक इंतजार करना ही है।

(और पढ़ें – गर्भावस्था में अल्ट्रासाउंड कब और कितनी बार करवाना चाहिए)

नोट- लिंग-भविष्यवाणी के तरीके केवल मनोरंजन के लिए होते हैं और ये चिकित्सा परीक्षाओं को प्रतिस्थापित नहीं करते हैं। हम पूरी तरह से लिंग समानता में विश्वास करते है, हम लिंग निर्धारण का समर्थन या प्रोत्साहित नहीं करते हैं और न ही शिशु के लिंग का पता लगाने के लिए किसी भी तरह के प्रश्न का समर्थन करते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration