क्या आप जानते हैं शादी के बाद पोर्न देखने का दिमाग पर क्या होता है असर?




क्या आप जानते हैं शादी के बाद पोर्न देखने का दिमाग पर क्या होता है असर?
Written by Daivansh

2011 में आई एक स्टडी में कहा गया कि रोजाना पोर्न देखने वालों में सेंसेशन नहीं रह जाती है. स्टडी ने अपनी अंतिम पंक्त‍ि में कहा कि पोर्न फिल्मों (पोर्नोग्राफी) की वजह युवकों को एक ऐसी पीढ़ी तैयार हो रही है जो अपने वैवाहिक जीवन में अच्छे नहीं हैं. आखिर शादी के बाद रिस्तों पर पोर्नोग्राफी के क्‍या बुरे प्रभाव हो सकते हैं। क्‍या आपको नहीं लगता है कि पोर्नोग्राफी, सम्‍बंधों पर बुरा असर डालती हैं। ऐसा कम लोग ही सोचते हैं क्‍योंकि उन्‍हे लगता है कि यह मज़े की चीज है। पोर्न या एडल्ट फिल्में अपने दर्शकों यानी महिलाओं और पुरुषों के लिए सेक्सुअल फैंटेसीज को एक्सप्लोर करने का एक माध्यम होती हैं लेकिन वास्‍तविकता थोड़ी उलट है। पोर्न फिल्में देखने वाले मर्दो के दिमाग संकुचित हो जाते हैं. दिमाग का striatum हिस्सा, जोकि मोटिवेशन और रीवॉर्ड के लिए प्रतिक्रिया देता है, सिकुड़ जाता है.

ऐसा पहली बार हुआ जब शोधकर्ताओं को पोर्न फिल्में देखने के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले सीधे प्रभाव का पता चला है. इंटरनेट की सुलभता के चलते कुछ भी ऐसा नहीं रह गया है जो पहुंच से बाहर हो. बड़ों की बात छोड़ दें तो आजकल के टीनएजर्स भी पोर्न फिल्में देखने के आदी होते जा रहे हैं. एक ओर जहां पोर्न फिल्में कामेच्छा को बढ़ाती है और अंतरंग संबंधों को बेहतर करती हैं वहीं इसे कई दुष्प्रभाव भी हैं.

शादी के बाद भी इसके कई दुष्‍प्रभाव हो सकते हैं।

1. शादी के बाद पोर्न देखने के नुकसान पति/पत्‍नी की अलोचना करना:

पोर्नोग्राफी ज्‍यादा देखने पर आप हमेशा अपने पार्टनर की आलोचना करते हैं जो रिश्‍ते में दरार पैदा कर सकता है।

2. शादी के बाद पोर्न देखने से पार्टनर से इच्‍छापूर्ति न हो पाना:

अगर आप पोर्नोग्राफी देखने के ज्‍यादा शौकीन हैं तो आपको अपने पार्टनर से लवमेकिंग करने के बाद संतुष्टि नहीं ही मिलेगी।

और पढ़े: पैसों से ज्‍यादा खुशी मिलती है सेक्‍स और बेहतर नींद से

3. ज्यादा पोर्न देखने से लवमेकिंग ठीक से न कर पाना:

पोर्नोग्राफी देखने के शौकीन लोग, लवमेकिंग करने में ढीले हो जाते हैं क्‍योंकि वह मास्‍टबेट करने लगते हैं जिससे उनकी क्षमता पर असर पड़ता है।

4. रोज पोर्न देखने टाइम से पहले ही ढीला पड़ जाना:

जो लोग पोर्न देखते हैं वे ज्‍यादा समय तक लवमेकिंग नहीं कर पाते हैं और जल्‍दी ही ढीले पड़ जाते हैं।

5. शादी के बाद पोर्न देखने से एनर्जी में आती है कमी:

पोर्न के शौकीन लोग अपनी सारी एनर्जी पोर्न देखने में ही गवां देते हैं। उनके लिए वास्‍तव में सेक्‍स करना एक काम रह जाता है।

6.शादी के बाद पोर्न देखने से ज्‍यादा और ज्‍यादा की इक्छा:

पोर्न के शौकीन लोगों की इच्‍छा पूरी नहीं होती है उनहे हमेशा ज्‍यादा की तलाश रहती है।

7.  पोर्न देखने के बाद लवमेकिंग एक खेल की तरह समझना:

पोर्नोग्राफी के शौकीन लोगों के लिए लवमेकिंग एक खेल की तरह होता है। उससे उनकी भावनाएं शून्‍य हो जाती है।

8. पोर्न करता है आकर्षण की परिभाषा में बदलाव:

पोर्नोग्राफी देखने से आकर्षण की परिभाषा बदल जाती है, उन्‍हे महिलाएं सम्‍मानजनक नहीं बल्कि सेक्‍सी ज्‍यादा नज़र आती हैं।

9. पोर्नोग्राफी करती है सोच में विकार उत्पन्न होना:

ज्‍यादा पोर्नोग्राफी के लती होने पर मानसिक सोच में विकार आ जाता है।और आप कई तरह से एक दुसरे को कॉम्पैर करने लगते है|

10.शादी के बाद पोर्न देखने से खुशी का अनुभव बंद होना:

अगर कोई शख्स बहुत अधिक पोर्न फिल्में देखता है तो उसे खुशी का अनुभव होना बंद हो जाता है  2014 में आई एक स्टडी में कहा गया था कि रेग्युलर पोर्न देखने वालों में समय के साथ सेक्स और अंतरंग संबंधों को लेकर विरक्त‍ि आ जाती है

11. शादी के बाद पोर्न देखने से रिश्‍ता बर्बाद होने का खतरा:

जो लोग पोर्नोग्राफी के लती होते हैं उन्‍हे सवेंदनहीनता के कारण अपने रिश्‍ते को संभालने का हुनर नहीं आता है जिससे उनके रिश्‍ते खत्‍म होने लगते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration