हर किसी पर शक करने की बीमारी है पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर, जानें इससे जुड़े कुछ तथ्य – Paranoid Personality Disorder in Hindi

हर किसी पर शक करने की बीमारी है पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर, जानें इससे जुड़े कुछ तथ्य - Paranoid Personality Disorder in Hindi
Written by Anshika sarda

पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर (Paranoid Personality Disorder) एक गंभीर मेंटल डिसऑर्डर होता है जिसमें व्यक्ति एक प्रकार के पागलपन का शिकार हो जाता है। व्यक्ति इस बीमारी में दूसरे लोगों पर बेवजह शक करता रहता है उसके मन में हर व्यक्ति को लेकर एक अलग प्रकार का अविश्वास रहता है। अक्सर वयस्क होने के प्रारंभिक दिनों में लोग इस बीमारी का शिकार होते हैं और यह बीमारी महिलाओं की बजाय पुरुषों में अधिक पाई जाती है। इस आर्टिकल में विस्तार से बताने जा रहे हैं कि क्या होता है पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर (Paranoid Personality Disorder) और इसके क्या-क्या संकेत और कारण हो सकते हैं।

हमारा दिमाग शरीर का बेहद महत्वपूर्ण अंग होता है। दिमाग सिर्फ सोचने और समझने की क्षमता को विकसित करने का काम ही नहीं करता है बल्कि शरीर का हर एक अंग दिमाग से मिले संकेतों के आधार पर काम करता है। हार्मोन्स, इलेक्ट्रोलाइट्स और दिमाग के केमिकल बैलेंस में गड़बड़ी के कारण कई तरह के मानसिक विकार (mental disorder) पैदा हो जाते हैं जिन्हें मेंटल डिसऑर्डर कहा जाता है। मेंटल डिसऑर्डर अलग-अलग प्रकार के होते हैं। आइए जानते हैं पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर क्या होता है और इससे जुड़ी कुछ जरुरी बातें।

1. पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर क्या होता है – What is Paranoid Personality Disorder in Hindi
2. पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर से पीड़ित लोग कैसे सोचते हैं – what does Paranoid Personality Disorder victims thinks in Hindi
3. पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर के क्या संकेत होते हैं – What are the symptoms of Paranoid Personality Disorder in Hindi
4. पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर के कारण – Paranoid Personality Disorder Causes in Hindi
5. पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर का निदान कैसे किया जाता है – How is paranoid personality disorder diagnosed in Hindi?
6. पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर का ईलाज – How is paranoid personality disorder treated in Hindi?

पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर क्या होता है – What is Paranoid Personality Disorder in Hindi

यह एक क्रोनिक डिज़़ीज (Chronic disease) है जो कि सोचने, विचारने की क्षमता के साथ-साथ व्यक्ति विशेष की कार्यक्षमता को भी व्यापक रुप से प्रभावित करती है। इसके लक्ष्ण कुछ हद तक सिजोफ्रेनिया (schizophrenia)  जैसे लगते हैं लेकिन यह सिजोफ्रेनिया से अलग होता है। कुछ रिसर्च में पाया गया है कि इन दोनों डिसऑर्डर में जेनेटिक आधार पर समानता पाई गई है। पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर में डिप्रेशन, नशीले पदार्थों के सेवन का आदी होना है और भीड़ से डर लगना आदि परेशानी होने का खतरा अधिक होता है। पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर में व्यक्ति अक्सर अपने आस-पास के लोगों पर बेवजह शक करता है और उसे लगता है कि हर एक व्यक्ति उसे नुकसान पहुंचाना चाहता है। ऐसे वे वह अंदर ही अंदर अकेलेपन और घुटन का शिकार होता चला जाता है और डिप्रेशन और तनाव में आ जाता है।

(और पढ़े – तनाव के कारण लक्षण और बचाव…)

पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर से पीड़ित लोग कैसे सोचते हैं – what does Paranoid Personality Disorder victims thinks in Hindi

वे लोग जो पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर का शिकार होते हैं वे हमेशा खुद को सुरक्षात्मक स्थिति में रखने की कोशिश करते हैं। उन्हें लगता है कि लोग हमेशा उन्हें नीचा दिखाने की,  नुकसान पहुंचाने की और धमकी देने की कोशिश करते हैं। धीरे-धीरे हर परेशानी के लिए दूसरों को दोष देना और लोगों पर भरोसा ना करना पीड़ित व्यक्ति की आदत बनती जाती है।

(और पढ़े – अवसाद (डिप्रेशन) क्या है, कारण, लक्षण, निदान, और उपचार…)

पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर के क्या संकेत होते हैं – What are the symptoms of Paranoid Personality Disorder in Hindi

  • दूसरे लोगों के प्रति मन में गहरा शक पैदा होना।
  • हर व्यक्ति के सच को भी झूठ समझना।
  • दोस्त, परिवार के लोग और जीवनसाथी पर भी भरोसा ना कर पाना।
  • काल्पनिक रुप से खुद को धोखे का शिकार समझना और ऐसा मान कर गुस्से से भर जाना।
  • ऐसे लोग गंभीर रहते हैं और अपनी बातें किसी को भी नहीं बताते हैं।
  • किसी भी बात में छिपा हुआ मतलब ढूंढने की बेकार कोशिश करते हैं।

(और पढ़े – मानसिक तनाव के कारण, लक्षण एवं बचने के उपाय…)

पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर के कारण – Paranoid Personality Disorder Causes in Hindi

इस बीमारी का सही कारण अभी भी अज्ञात है। यह बीमारी अक्सर उन लोगों को अधिक होती है जिनके परिवार में कोई भी व्यक्ति सिजोफ्रेनिया, मतिभ्रम होने जैसे डिसऑर्डर आदि से पीड़ित होता है।  इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि इस बीमारी का एक कारण अनुवांशिकता (genetics) भी हो सकता है। इसके अलावा बचपन के खराब अनुभवों के कारण, घरेलू हिंसा ( domestic violence) देखने के कारण और बचपन से ही नकारात्मक वातावरण में रहने के कारण भी यह समस्या पैदा हो जाती है।

(और पढ़े – सिजोफ्रेनिया क्या होता है, कारण लक्षण और बचाव)

पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर का निदान कैसे किया जाता है – How is paranoid personality disorder diagnosed in Hindi?

आपका डॉक्टर आपसे अपने लक्षणों और इतिहास के बारे में पूछेगा। वे आपके पास होने वाली किसी भी अन्य चिकित्सीय स्थितियों की तलाश करने के लिए एक शारीरिक मूल्यांकन भी करेंगे। आपका डॉक्टर आपको आगे के परीक्षण के लिए मनोचिकित्सक, मनोवैज्ञानिक, या अन्य मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर के पास भेज सकता है।

मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर एक व्यापक मूल्यांकन करेगा। वे आपके बचपन, स्कूल, काम और रिश्तों के बारे में पूछ सकते हैं। वे आपसे पूछ सकते हैं कि आप एक कल्पना की स्थिति का जवाब कैसे देंगे। यह अनुमान लगाने के लिए कि आप कुछ स्थितियों पर प्रतिक्रिया कैसे देते हैं। इस आधार पर मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर निदान करेंगे और उपचार योजना तैयार करेंगे।

(और पढ़े – अपनी सोच को सकारात्मक बनाने के 5 तरीके…)

पैरानॉयड पर्सनालिटी डिसऑर्डर का ईलाज – How is paranoid personality disorder treated in Hindi?

इस बीमारी को नियंत्रित किया जा सकता है लेकिन परेशानी तब होती है जब मरीज ईलाज करने वाले डॉक्टर पर ही शक करने लगता है। लेकिन बिना उपचार के यह डिसऑर्डर लंबे समय तक चलता है और स्थिति दिन प्रति दिन गंभीर होती चली जाती है। इसके लिए मरीज को अपनी मदद खुद करनी पड़ती है। साइको थैरेपीस्ट (psychotherapist) की मदद लेकर कांउसलिंग की जा सकती है इसके अलावा कोगनेटिव बिहेवियरल थैरेपी (cognitive behavior therapy) और उचित दवाओं की मदद से इस बीमारी को ठीक किया जा सकता है।

(और पढ़े – नकारात्‍मक विचारों से मुक्ति पाने के उपाय…)

Subscribe for daily wellness inspiration