नाईट शिफ्ट करने से बढ़ सकता है महिलाओं में कैंसर का खतरा, शोध से हुआ खुलासा – Night Shift Can Increase The Risk Of Cancer In Women In Hindi

नाईट शिफ्ट करने से बढ़ सकता है महिलाओं में कैंसर का खतरा, शोध से हुआ खुलासा - Night Shift Can Increase The Risk Of Cancer In Women In Hindi
Written by Rajat

Cancer risk in hindi अगर आप भी उम महिलाओ में से एक है जो जादातर नाइट शिफ्ट में काम करती है तो हो जाएँ सावधान क्योकि नाइट शिफ्ट में काम करने से कैंसर का खतरा बढ़ सकता है जी हाँ एक अध्ययन के अनुसार नाइट शिफ्ट महिलाओं में कैंसर का खतरा बढ़ाती है। अगर आप महिला हैं और आपको कार्यस्थल पर लंबे समय से नाइट शिफ्ट में काम करना पड़ रहा है, तो यह आपके स्वास्थ्य के लिए चिंता का विषय हो सकता है।

लेखक शुईलेई मा ने बताया कि स्तन कैंसर दुनिया भर में महिलाओं के बीच सबसे अधिक डायग्नोस किया गया कैंसर है।

नाईट शिफ्ट और कैंसर का खतरा – Night shift and cancer risk in hindi

नाईट शिफ्ट और कैंसर का खतरा - Night shift and cancer risk in hindi

शोध में पाया गया कि जो महिलाएं नाइट शिफ्ट में काम करती हैं, उनमें नाइट शिफ्ट में काम नहीं करने वाली महिलाओं की तुलना में त्वचा कैंसर का खतरा 41 फीसदी, स्तन कैंसर का खतरा 32 फीसदी और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर का खतरा 18 फीसदी बढ़ जाता है

पूर्व के विश्लेषण में नाइट शिफ्ट में काम काम करने वाली महिलाओं और स्तन कैंसर के जोखिम के बीच संबंध पर फोकस किया गया था, लेकिन निष्कर्ष असंगत रहा।

बाद में फिर एक विश्लेषण में महिला नर्सों के बीच रात की लंबी शिफ्ट और छह तरह के कैंसरों के बीच संबंध पर गौर किया गया। अध्ययन में पता चला कि सामान्य महिलाओं को 41 फीसदी स्किन कैंसर, 32 प्रतिशत ब्रेस्ट कैंसर, 18 प्रतिशत गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल कैंसर होता है, जबकि नाइट शिफ्ट करने वाली महिलाओं में सर्वाधिक खतरा ब्रेस्ट कैंसर का होता है।

और पढ़े – स्तन कैंसर कारण, लक्षण और बचाव के तरीके

मेडिकल बैकग्राउंड की नर्सो को कैंसर का खतरा अधिक – Medical background nurses get more risk of cancer in Hindi

मेडिकल बैकग्राउंड की नर्सो को कैंसर का खतरा अधिक - Medical background nurses get more risk of cancer in hindi

सभी पेशों के विश्लेषण करने के बाद शोधकर्ताओं ने पाया कि लंबे समय तक नाइट शिफ्ट करने से नर्सो जो की मेडिकल बैकग्राउंड से थी में स्तन कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। चीन के चेंगदु स्थित सिचुआन विश्वविद्यालय के वेस्ट चाइना मेडिकल सेंटर(researchers from Sichuan University in China ) में शोध के सह-लेखक शुईलेई मा ने बताया, हमारे शोध से पता चलता है कि कार्यस्थल पर नाइट शिफ्ट में काम करने से महिलाओं में कैंसर का जोखिम बढ़ जाता है।

उत्तर अमेरिका, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया और एशिया के 3,909,152 भागीदारों तथा कैंसर के 114,628 मामले वाले 61 आलेखों के आंकड़ों का सूक्ष्म विश्लेषण किया गया । अध्ययन में पाया गया कि लंबे समय तक नाइट शिफ्ट करने वाली महिलाओं में 11 तरह के कैंसर हो सकते हैं। इनमें 19 प्रतिशत कैंसर का रिस्क अधिक होता है।

और पढ़े – मोबाइल के साथ सोना कैंसर का ख़तरा बढ़ा सकता है

शोधकर्ताओं ने स्तन कैंसर के अध्ययनों के बीच एक प्रतिक्रिया वाले विश्लेषण को भी किया जसमे कैंसर जोखिम के तीन या अधिक स्तर शामिल थे। उन्हें पता चला कि प्रत्येक पांच साल की नाईट शिफ्ट के काम करने के कारण स्तन कैंसर का खतरा 3.3 प्रतिशत बढ़ गया।

मा ने कहा। “हमारा अध्ययन यह इंगित करता है कि रात के काम में बदलाव महिलाओं में आम कैंसर के लिए एक जोखिम कारक के रूप में कार्य करता है,” “ये परिणाम महिलाओ के नाईट शिफ्ट करने से बचने के लिए प्रभावी उपाय स्थापित करने और कार्यान्वित करने में मदद कर सकते हैं लम्बे समय तक नाईट शिफ्ट करने वाली महिलाओ को नियमित शारीरिक परीक्षा (physical examinations) और कैंसर की जांच करनी चाहिए। ”

और पढ़े – शराब पीना कैंसर का कारण बन सकता है 

यह अध्ययन कैंसर एपिडेमियोलॉजी, बॉयोमार्करएंड प्रीवेंसन( journal Cancer Epidemiology, Biomarkers and Prevention.) पत्रिका में प्रकाशित किया गया है।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration