कंजंक्टिवाइटिस एलर्जी (आँख आना) के कारण, लक्षण और ठीक करने के घरेलू उपाय – Allergic Conjunctivitis (Pink eye) in hindi

कंजंक्टिवाइटिस एलर्जी (आँख आना) के कारण, लक्षण और ठीक करने के घरेलू उपाय - Allergic Conjunctivitis (Pink eye) in hindi
Written by Pratistha

Conjunctivitis in Hindi इस लेख में आप कंजंक्टिवाइटिस की समस्या, आँख आने के लक्षण, आँख आने के कारण और आँख आना ट्रीटमेंट इन हिंदी के साथ ही आँख आने का घरेलू उपचार के बारे में जानेंगे। aankh aane ka ilaj in Hindi, how to cure pink eye at home in Hindi कंजंक्टिवाइटिस आंखों से संबंधित एक बीमारी होती है। जिसे हम आँख आना कहते है यह आंखों से संबंधित एलर्जी होती है जिसके कारण आंखें लाल या गुलाबी रंग की हो जाती है और उनमें सूजन आ जाना, दर्द होना और पानी गिरने की समस्या पैदा हो जाती है। कंजंक्टिवाइटिस को लोग अक्सर संक्रामक बीमारी मान लेते हैं लेकिन यह संक्रामक नहीं होती है। यह एक साथ दोनों आंखों को प्रभावित करती है।

1. आँख आना क्या है – what is Conjunctivitis or pink eye in Hindi
2. आँख आने के लक्षण – symptoms of Conjunctivitis in Hindi
3. कंजंक्टिवाइटिस एलर्जी के कारण – cause of Allergic Conjunctivitis in Hindi
4. कितने प्रकार की होती है कंजंक्टिवाइटिस – Types of allergic conjunctivitis In Hindi
5. कंजंक्टिवाइटिस का घरेलू उपाय – Home remedies to cure conjunctivitis In Hindi

आँख आना क्या है – what is Conjunctivitis or pink eye in Hindi

कंजंक्टिवाइटिस  के दौरान आंखे लाल होना, खुजली आना, पानी गिरने के कारण आपको काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। हमारी पलकों और आंखों के आवरण के अंदर एक झिल्ली होती है जिसे कंजेंटिवा (conjunctiva) कहा जाता है। कंजेंटिवा में एलर्जी के कारण सूजन आ जाती है और आंखों में दर्द होने लगता है। जिन लोगों को अस्थमा, जुकाम, बुखार होता है उन्हें कंजंक्टिवाइटिस होने का खतरा ज्यादा रहता है। अगर इसका समय पर ईलाज ना करवाया जाए तो यह खतरनाक साबित हो सकती है। कंजंक्टिवाइटिस के इलाज के लिए आप कुछ घरेलू उपायों का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस आर्टिकल में हम विस्तार से कंजंक्टिवाइटिस की समस्या, इसके लक्षण और उपचार के बारे में बताने जा रहे हैं। आइए जानते है कि कंजंक्टिवाइटिस से जुड़ी कुछ जानकारियों के बारे में।

आँख आने के लक्षण – symptoms of Conjunctivitis in Hindi

कंजंक्टिवाइटिस के लक्षण हर किसी में आँख आने के प्रकार के आधार पर भिन्न होते हैं।

  • जलन, खुजली वाली आंखें जो एक मोटी, चिपचिपा श्लेष्म निर्वहन करती है जो की बैक्टीरिया के कारण हो सकती हैं।
  • जबड़े के नीचे या कान के सामने एक सूजन लिम्फ नोड, और एक या दोनों आंखों से श्लेष्म का एक हल्का निर्वहन अक्सर वायरल के कारण आँख आने के लक्षण होते हैं।
  • वायरल के कारण आंख आने वाले लोगों में आमतौर पर ऊपरी श्वसन संक्रमण या ठंड के लक्षण होते हैं।
  • दोनों आंखों में लाली, तीव्र खुजली, और आँसू के साथ एलर्जी आँख आने के लक्षण को इंगित कर सकते हैं।
  • आँख आने के लक्षण में दृष्टि में थोड़ा धुंधलापन आना शामिल है।

(और पढ़े – क्या आँखों की इन बीमारियों को जानते हैं आप)

कंजंक्टिवाइटिस एलर्जी के कारण – cause of Allergic Conjunctivitis in Hindi

जब आपका शरीर किसी खतरे यानि की बीमारी से खुद को बचाने की कोशिश करता है तो शरीर में बीमारी के कारण पैदा होने वाले केमिकल के विरोध में शरीर हिस्टामिन का उत्सर्जन करता है। जिसके कारण कंजंक्टिवाइटिस होने का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा

  • धूल और मिट्टी के कारण
  • पेड़- पौधों के कारण
  • जानवर के डंक लगने

किसी केमिकल या डिटरजेंट के संपर्क में आने से भी कंजंक्टिवाइटिस हो सकता है।

कितने प्रकार की होती है कंजंक्टिवाइटिस – Types of allergic conjunctivitis In Hindi

एलर्जी कंजंक्टिवाइटिस दो प्रकार की होती है

1. तीव्र एलर्जी कंजंक्टिवाइटिस- Acute allergic conjunctivitis In Hindi

यह कम समय के लिए आंखों को प्रभावित करने वाली एलर्जी होती है। एलर्जी के मौसम के दौरान इसके होने का खतरा बढ़ जाता है। इस कारण आपकी आंखों में अचानक से सूजन, खुजली, जलन बढ़ जाती है।

2. क्रोनिक एलर्जी कंजंक्टिवाइटिस – Chronic allergic conjunctivitis In Hindi

यह कंजंक्टिवाइटिस का ऐसा प्रकार है जो कि आपको सालभर परेशान कर सकता है। यह खाने-पीने, धूल आदि के कारण शरीर में बैक्टीरिया पहुंचने के कारण होती है। इसके कारण आपको आंखों में संवेदनशीलता, जलन, खुजली हो सकती है।

कंजंक्टिवाइटिस का घरेलू उपाय – Home remedies to cure conjunctivitis In Hindi

आँख आने का घरेलू उपचार है कॉल्ड कंप्रेस-   Conjunctivitis Home Remedies Cold Compresses in Hindi

आंखों पर कॉल्ड कंप्रेस करने से जलन और दर्द से तुरंत आराम मिलता है और सूजन भी कम हो जाती है। इसका इस्तेमाल करने के लिए साफ कपड़े को ठंडे पानी में भिगोकर आंखों पर 5 मिनट के लिए रखें। इसके बाद फिर से ठंडे पानी में कपड़े को भिगोकर आंखों पर रखें और इस प्रक्रिया को 3-4 बार दोहराने से आराम मिलता है।

कंजंक्टिवाइटिस का घरेलू उपाय है सेलाइन सॉल्यूशन-  Conjunctivitis Home Remedies Saline Solution in Hindi

घर पर ही सेलाइन सॉल्यूशन यानि की नमकीन घोल बनाकर आंखें साफ करने से एलर्जी से तुरंत राहत मिलती है। नमक में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो तेजी से एलर्जी को ठीक करते हैं। इसका इस्तेमाल करने के लिए एक कप पानी को उबालकर ठंडा कर लें और उसमें आधा चम्मच नमक डाल लें। अब इसे फिर से उबाल कर ठंडा कर लें, इस प्रक्रिया को दिन में 3-4 बार दोहरा सकते हैं।

आँख आने का घरेलू उपचार है टी बैग- Conjunctivitis Home Remedies Black Tea Poultice in Hindi

ब्लैक टी बैग में टैनिन होता है जो आंखों की जलन शांत करने के लिए लाभकारी होता है। इसके लिए ब्लैक टी बैग्स को पानी में डालकर 5 मिनट तक उबाल लें। अब टी बैग्स को पानी से निकालकर प्लेट में रख लें और ठंडा होने पर आंखों पर लगाएं। इस प्रक्रिया को दिन में 4-5 बार दोहरा सकते हैं।

(और पढ़े – ब्लैक टी पीने से घट जाएगा मोटापा, शरीर के लिए ब्लैक टी है औषधि)

आँख आना ट्रीटमेंट है कैमोमाइल टी – Conjunctivitis Home Remedies Chamomile in Hindi

कैमोमाइल टी में एंटी-एलर्जीक गुण होते हैं इसलिए इसका इस्तेमाल करना उपयोगी होता है। इसके लिए कैमोमाइल टी बैग्स को पानी में डालकर 5 मिनट तक उबाल लें। अब टी बैग्स को पानी से निकाल कर प्लेट में रख लें और ठंडा होने पर आंखों पर लगाएं। इस प्रक्रिया को दिन में 3-4 बार दोहरा सकते हैं।

कंजंक्टिवाइटिस को ठीक करने के लिए घरेलू उपाय है गुलाब जल-  Conjunctivitis Home remedies Rose Water in Hindi

गुलाब जल में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं साथ ही यह आंखों को सूदिंग इफेक्ट भी देता है जिससे जलन और दर्द शांत करने में मदद करता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए आंख में 3-4 बूंद गुलाब जल डालें या फिर गुलाब जल में कॉटन भिगोकर आंखों पर रखें।

(और पढ़े – खूबसूरती में चार चाँद लगा देता है गुलाब जल, जानिए कैसे)

कंजंक्टिवाइटिस को ठीक करने का घरेलू उपाय है तुलसी- Holy Basil for Conjunctivitis In Hindi

तुलसी में एंटी-इंफ्लेमेंट्री गुण होते हैं साथ ही इसमें सूदिंग गुण भी होते हैं जो कि आंखों को ठंडक पहुंचाते हैं। इसके लिए तुलसी को पानी में डालकर उबाल लें, 10 मिनट तक उबालने के बाद पानी को ठंडा कर लें और इस पानी से आंखें धो लें जिससे आंखें तेजी से ठीक होती है।

(और पढ़े – तुलसी के फायदे – Basil Benefit in hindi)

आँख आने का घरेलू उपचार है खीरा-  Cucumber for Conjunctivitis Home Remedies in Hindi

खीरा सूजन और जलन को ठीक करने के लिए उपयोगी होता है। खीरे के टुकड़ों को काटकर आंखों पर रखें, जब खीरा गर्म हो जाए तो नए खीरे के टुकड़ों को आंखों पर रख लें जिससे आंखें तेजी से ठीक होती है। इसे आप दिन में कई बार दोहरा सकते हैं।

(और पढ़े – खीरा के फायदे गुण लाभ और नुकसान)

आँख आने का घरेलू उपचार है ठंडा दूध-  Conjunctivitis Home Remedies Cold Milk in Hindi

दूध में आंखों को शांत करने के गुण होते हैं। ठंडा दूध आंखों की जलन को शांत करने के साथ-साथ, खुजली दूर करने के लिए उपयोगी होता है। इसके लिए ठंडे दूध में कॉटन बॉल डुबोकर आंखों को बंद करके उन पर लगाएं। दिन में 3-4 बार इस प्रक्रिया को दोहरा सकते हैं।

Leave a Comment

1 Comment

Subscribe for daily wellness inspiration