लक्षण जो देते हैं हाई कोलेस्ट्रॉल का संकेत Symptoms indicate high cholesterol
बीमारी

लक्षण जो देते हैं हाई कोलेस्ट्रॉल का संकेत – Symptoms that indicate high cholesterol in Hindi

लक्षण जो देते हैं हाई कोलेस्ट्रॉल का संकेत - Symptoms that indicate high cholesterol in Hindi

हमारे शरीर के लिए कोलेस्ट्रॉल का सही मात्रा में पाया जाना जरूरी है, लेकिन इसके स्तर में वृद्धि स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक भी होती है, तथा जान जाने का जोखिम भी बना रहता है। ऐसे में यह कैसे पता लगाया जा सकता है कि शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर खतरे के लेवल को पार कर गया है। यदि आप बगैर डॉक्टर की सहायता के कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का पता लगाना चाहते हैं, तो यह लेख आपके लिए फायदेमंद होने वाला है, जिसमें आप हाई कोलेस्ट्रॉल के कुछ सामान्य संकेतों के बारे में जानेगें।

वर्तमान में उच्च कोलेस्ट्रॉल की समस्या अधिकांश लोगों को प्रभावित कर रही है, जिसके कारण लोगों में अनेक स्वास्थ्य समस्याएं उत्पन्न होती है। आपका यह जानना जरुरी है, कि कोलेस्ट्रॉल क्या है तथा यह शरीर के लिए कब फायदेमंद है और कब नुकसानदायक। तो आइये जानते हैं:

कोलेस्ट्रॉल, लिपिड का एक प्रकार होता है। यह एक मोम जैसा पदार्थ है, जिसे आपका लीवर स्वाभाविक रूप से स्वयं ही उत्पन्न करता है। कोलेस्ट्रॉल दो प्रकार का होता है, उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (HDL) और कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (LDL)

उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (HDL) को गुड कोलेस्ट्रॉल भी कहते है। यह आपकी धमनियों (Arteries) में कोलेस्ट्रॉल पट्टिका (plaque) के निर्माण को रोकने में मदद करता है तथा विटामिन डी, हार्मोन के निर्माण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (LDL) को अक्सर “खराब कोलेस्ट्रॉल” कहा जाता है। यह आपकी धमनियों (arteries) में उच्च कोलेस्ट्रॉल को ले जाता है और धमनियों (arteries) की दीवारों पर जमने लगता है जिससे रक्त के प्रवाह में बाधा उत्पन्न होती है। अतः दोनों प्रकार के कोलेस्ट्रॉल के बीच संतुलन होना बेहद जरूरी होता है। हाई कोलेस्ट्रॉल की स्थिति से पीड़ित व्यक्ति के शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर में वृद्धि होती है।

शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर सही है या नहीं, इसपर निगरानी रखना आवश्यक होता है। हालांकि मानव शरीर अपने अन्दर के परिवर्तन को कुछ लक्षणों के रूप में स्वयं प्रगट कर देता है। अतः जब कोलेस्ट्रॉल का लेवल सामान्य से अधिक होता है, तो व्यक्ति के हाथों, आंखों और स्किन पर इसके लक्षण दिखाई देने लगते हैं। अगर व्यक्ति समय पर इन संकेतों को समझ जाता है, तो वह अपनी जीवन शैली में बदलाव कर और कुछ घरेलू उपाय अपनाकर कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम कर सकता है, और हार्ट अटैक, स्ट्रोक जैसी समस्याओं से अपने आपको बचा सकता है।

आइए, जानते हैं खराब कोलेस्ट्रॉल के बढ़ते स्तर की ओर इशारा करने वाले संकेत के बारे में

(और पढ़ें: जानें कि क्या होता है अच्छा (HDL) एवं बुरा (LDL) कोलेस्ट्रॉल….)

खराब कोलेस्ट्रॉल का संकेत हाथों का दर्द – Pain in hands sign of bad cholesterol in Hindi

खराब कोलेस्ट्रॉल का संकेत हाथों का दर्द - Pain in hands sign of bad cholesterol in Hindi

यदि किसी व्यक्ति के हाथों में अक्सर दर्द होता है, तो यह शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर का संकेत हो सकता है। जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है तो धमनियों के अंदर की दीवार में प्लाक (फैट) जमा होने लगता है। जिससे धमनियां संकरी हो जाती है और पर्याप्त मात्रा में रक्त का प्रवाह नहीं हो पाता है। धमनियों के अन्दर प्लाक बनने की स्थिति को एथेरोस्क्लेरोसिस (Atherosclerosis) कहा जाता है। उच्च कोलेस्ट्रॉल के कारण हाथों में पर्याप्त रक्त का प्रवाह नहीं हो पाता है, जिसके कारण दर्द होता है। यदि आपको भी अक्सर हाथों में दर्द होता है, तो इसे अनदेखा न करें और जल्द से जल्द कोलेस्ट्रॉल की जाँच कराएं।

आंखों पर हाई कोलेस्ट्रॉल के संकेत – Signs of High Cholesterol on Eyes in Hindi

आंखों पर हाई कोलेस्ट्रॉल के संकेत - Signs of High Cholesterol on Eyes in Hindi

पीड़ित व्यक्ति की आंखें हाई कोलेस्ट्रॉल का संकेत दे सकती हैं। हाई कोलेस्ट्रॉल की स्थिति में आंखों की रोशनी से संबंधित कोई भी लक्षण प्रगट नहीं होते हैं। कुछ लोगों में, कॉर्निया के बाहरी भाग के ऊपर और नीचे एक नीला, भूरा या सफेद रंग का चाप या गुंबद जैसा आवरण दिखाई देता है। इस स्थिति को “आर्कस सेनिलिस” (Arcus senilis) कहा जाता है। यह 45 वर्ष से अधिक की उम्र वाले व्यक्तियों में उम्र बढ़ने का एक सामान्य संकेत माना जाता है। लेकिन जब यह संकेत या लक्षण 45 वर्ष से कम उम्र के लोगों में दिखाई देता है, तो यह हाइपरलिपिडिमिया (hyperlipidemia) की स्थिति होती है, जिसके अंतर्गत शरीर में लिपिड (कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स) का उच्च स्तर पाया जाता है। अतः “आर्कस सेनिलिस” की स्थिति में सम्बंधित व्यक्ति को कोलेस्ट्रॉल की जाँच करा लेनी चाहिए तथा कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने के लिए कुछ घरेलू उपाय अपनाने चाहिए।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का संकेत देते हैं स्किन पर निशान – Marks on the skin indicate an increase in cholesterol in Hindi

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का संकेत देते हैं स्किन पर निशान - Marks on the skin indicate an increase in cholesterol in Hindi

कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर के संकेतों को व्यक्ति अपनी स्किन पर भी देख सकता है। यदि आपको आंखों के नीचे की त्वचा ऑरेंज या पीले रंग दिखाई दे, या फिर हथेलियों और पैरों के निचले हिस्से पर इस तरह का रंग दिखाई दे, तो आप सतर्क हो जाएं। यह उच्च कोलेस्ट्रॉल का संकेत हो सकता है। इस प्रकार का संकेत दिखाई देने पर आप कोलेस्ट्रॉल टेस्ट कराएं और कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित करने के लिए जीवन शैली में बदलाव करें।

(और पढ़ें: कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए डाइट…..)

लक्षण जो देते हैं हाई कोलेस्ट्रॉल का संकेत (Symptoms that indicate high cholesterol in Hindi) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration