सरसों के तेल से ब्रैस्ट मसाज करने के फायदे - Sarso Ke Tel Se Breast Massage Ke Fayde - Healthunbox
महिला स्वास्थ्य की जानकारी

सरसों के तेल से ब्रैस्ट मसाज करने के फायदे – Sarso Ke Tel Se Breast Massage Ke Fayde

सरसों के तेल से ब्रैस्ट मसाज करने के फायदे - Sarso ke tel se breast massage ke fayde

सरसों का तेल स्किन के लिए तो फायदेमंद होता ही है, लेकिन रोजाना सरसों के तेल से ब्रेस्ट की मालिश करने से स्तनों में कसाव आता है और वह टाइट दिखाई देते हैं। सरसों के तेल से मालिश करने पर स्तनों में मोटापन एवं उभार भी आता हैं। इसके आलावा सरसों के तेल से स्तनों की मसाज करने के कई और फायदे (Sarso ke tel se breast massage ke fayde) हैं जिनके बारे में हम इस लेख में चर्चा करने वाले हैं।

90 प्रतिशत महिलाएं अपने स्तनों के आकार को लेकर चिंतित रहती हैं। ब्रैस्ट मसाज से प्रोलैक्टिन और ऑक्सीटोसिन हार्मोन संतुलित रहते हैं। स्तनों को स्वस्थ रखने और स्तन संबंधी समस्याओं को सुधारने में स्तन मालिश फायदेमंद है। स्वस्थ स्तन होने के साथ स्तन मालिश या ब्रैस्ट मसाज के कई चिकित्सीय लाभ भी हैं।

आधुनिक समय में लड़कियां अपनी फिटनेस का खास ख्याल रखती हैं। स्लिम फिगर पाने के लिए लड़कियां कई तरीके अपनाती हैं। स्लिम बॉडी के लिए ब्रेस्ट का सही शेप का होना बहुत जरूरी है। कई महिलाओं के स्तन ढीले या छोटे होते हैं जिनकी वजह से उन्हें शर्म महसूस होती है। कई महिलाएं सर्जरी का सहारा लेकर परफेक्ट शेप पाती हैं, लेकिन कुछ प्राकृतिक तरीकों से ब्रेस्ट को टाइट किया जा सकता है।

हर महिला टोंड और शुडोल स्तन चाहती है। जब ब्रेस्ट को बढ़ाने या टाइट करने की बात आती है, तो ज्यादातर महिलाएं प्राकृतिक साधनों की तलाश करना पसंद करती हैं। इस प्राकृतिक साधनों में सरसों के तेल से स्तनों की मसाज करना सबसे आसान और सुरक्षित तरीका माना जाता है यहाँ सरसों के तेल से ब्रेस्ट की मालिश करने (how to massage breast with mustard oil in hindi) के कुछ लाभों के साथ-साथ उन्हें मालिश करने की विधि के बारे में बतया जा रहा है ताकि उनके ब्रैस्ट टाइट हो जाएं। आइये जानतें हैं सरसों के तेल से ब्रैस्ट मसाज करने के फायदे क्या हैं?

सरसों के तेल से स्तनों की मसाज करने के फायदे – Benefits of massaging breasts with mustard oil in Hindi

सरसों के तेल से स्तनों की मसाज करने के फायदे - Benefits of massaging breasts with mustard oil in Hindi

आइये जानतें हैं सरसों के तेल से स्तनों की मसाज करने के फायदों (Sarso ke tel se breast massage ke fayde) के बारे में…

सरसों के तेल से स्तनों की मसाज करने के फायदे ब्रेस्ट को बढ़ाने में

अपने स्तनों की नियमित रूप से सरसों के तेल से मालिश करने से आपकी छाती का आकार बढ़ाने में मदद मिलती है। कई अध्ययनों से पता चलता है कि सही स्तन आकार वाली महिलाएं उन लोगों की तुलना में अधिक कॉंफिडेंट महसूस करतीं हैं जिनके पास छोटे ब्रैस्ट होते हैं।

रक्त संचार बढ़ाता है सरसों का तेल

मस्टर्ड आयल या सरसों के तेल से स्तनों की मालिश करने से उनमे रक्त प्रवाह बढ़ता है, जिससे आपका स्वास्थ्य अच्छा रहता है।

सरसों के तेल से स्तनों की मसाज के फायदे सैगिंग को रोकता है

मस्टर्ड आयल या सरसों के तेल से स्तनों की नियमित मालिश भी सैगिंग को रोकती है। यह स्तन की मांसपेशियों को टाइट बनाता है और आपके स्तन टोंड दिखते हैं। अगर आप ब्रैस्ट के ढीलेपन से परेशान हैं तो सरसों के तेल से स्तनों की मालिश करना शुरू कर दें।

सरसों के तेल से ब्रेस्ट मसाज करने के फायदे बेहतर शारीरिक उपस्थिति

जब आपके स्तन का आकार सही होता है, तो यह आपके समग्र व्यक्तित्व को बढ़ाता है। आपका शरीर अधिक आकर्षक दिखता है क्योंकि सभी प्रकार के कपड़े आपपर फिट बैठते हैं जिससे आप सुन्दर दिखती हैं।

स्तन कैंसर के खतरे को कम करता है

अध्ययनों से पता चलता है कि सरसों के तेल से मालिश करने वाले स्तन ब्रैस्ट कैंसर के खिलाफ लड़ते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह रक्त प्रवाह को प्रोत्साहित करता है और कैंसर कोशिकाओं को बाहर निकालने वाले महिला हार्मोन का उत्पादन करने में मदद करता है।

सरसों के तेल से ब्रैस्ट मसाज करने के फायदे आप यंग दिखती हैं

सरसों के तेल से अपने स्तनों की मालिश करने से अंतःस्रावी तंत्र को उत्तेजित करता है जो युवा हार्मोन को स्रावित करता है। सरसों के तेल से स्तन की मालिश प्रोलैक्टिन, ऑक्सीटोसिन और एस्ट्रोजेन का उत्पादन करती है, जो उम्र बढ़ने वाले हार्मोन हैं जो आपको उम्र से छोटा देखाने में मदद करते हैं।

तनाव और अवसाद से राहत दिलाता है

मस्टर्ड आयल या सरसों के तेल से स्तन मालिश करने से ‘लव हार्मोन’ ऑक्सीटोसिन भी बनता है, जो तनाव और अवसाद के स्तर को कम करने में मदद करता है।

सरसों के तेल से स्तनों की मालिश करने की तकनीक – Techniques to massage your breasts with mustard oil in Hindi

सरसों के तेल से स्तनों की मालिश करने की तकनीक - Techniques to massage your breasts with mustard oil in Hindi

सरसों के तेल से स्तनों की मालिश करने की तकनीक 1 (how to massage breast with mustard oil in Hindi)

तेल या क्रीम: कुछ प्राकृतिक तेल या स्तन मालिश क्रीम लें। प्राकृतिक तेल जैसे सरसों का तेल स्तन मालिश के लिए फायदेमंद होते हैं लेकिन यदि आप स्तन मालिश क्रीम चुनते हैं, तो प्राकृतिक अवयवों वाली क्रीम का चयन करें।

तापमान की जाँच करें: अपने स्तनों की मालिश करने से पहले, सुनिश्चित करें कि आपके हाथ गर्म और मुलायम हैं। ठंडे हाथ आपकी त्वचा को परेशान कर सकते हैं।

ब्रैस्ट की मालिश शुरू करें: धीरे से अपने हाथों को अपने स्तनों पर रखें और उनके चारों ओर उंगलियाँ फैलाएँ। एक सर्कुलर मोशन में अंदर की ओर मालिश करें। आपके दाहिने हाथ को दक्षिणावर्त (clockwise) चलना चाहिए और बाएं हाथ को वामाव्रत (anti-clockwise) चलना चाहिए। याद रखें, जब आप अपने स्तनों को रगड़ रहे हैं, तो प्रत्येक रगड़ को कुछ सेकंड तक चलना चाहिए। ब्रैस्ट की मालिश करते समय निपल्स को छूने से बचें। अगर आपको अपने स्तन में खराश महसूस होती है, तो तुरंत दबाव कम करें। आप कम से कम पांच मिनट तक ब्रैस्ट की मालिश कर सकती हैं और दिन में दो बार सरसों के तेल से स्तनों की मालिश कर सकती हैं।

इसे अधिक बार करें: स्तन की मालिश दिन में दो बार करनी चाहिए। इसे कम से कम पांच मिनट के लिए किया जाना चाहिए लेकिन 15 मिनट से अधिक नहीं। यदि आप तेज परिणाम चाहती हैं, तो रोजाना कम से कम एक महीने तक मालिश करें।

सरसों के तेल से ब्रेस्ट मसाज करने की तकनीक 2 (how to massage breast with mustard oil in Hindi)

जैसा कि निरंतर घुमाव आपकी बाहों को तनाव दे सकता है, आप एक समय में एक स्तन की मालिश कर सकती हैं। इसके लिए अपने दाहिने हाथ का उपयोग बाएं स्तन की मालिश करने के लिए और बाएं हाथ से अपने दाहिने स्तन की मालिश करने के लिए करें। गर्म हथेलियों से, प्रत्येक स्तन की एक-एक करके मालिश करना शुरू करें।

तेजी से परिणाम प्राप्त करने के लिए, सुनिश्चित करें कि आप अपने हाथों को स्तनों के ऊपर नहीं ले जा रहे हैं। आप जो दबाव डाल रही हैं, वह स्तन की त्वचा के नीचे के ऊतकों को प्रभावित करना चाहिए।

अपने निपल्स पर मालिश करने से बचें क्योंकि वे बेहद संवेदनशील होते हैं।

आप अपने स्तनों की मालिश करने के लिए स्तन मालिश क्रीम (प्राकृतिक अवयवों के साथ) या प्राकृतिक मालिश तेलों जैसे सरसों के तेल का उपयोग कर सकती हैं।

सरसों के तेल से स्तनों की मालिश करने की तकनीक 3 (how to massage breast with mustard oil in Hindi)

सरसों के तेल से स्तनों की मालिश शुरू करने से पहले, अपने हाथों को रगड़ें और उन्हें गर्म करें।

अपनी कमर की मालिश शुरू करें और अपने कमर की चर्बी को स्तन के चारों ओर और धीरे-धीरे स्तनों में लगाएँ।

इस तकनीक को वसा हस्तांतरण के रूप में भी जाना जाता है, जहाँ आप कमर से अतिरिक्त वसा को अपने स्तनों में स्थानांतरित कर रहे हैं।

प्रक्रिया को चिकना बनाने के लिए आप मालिश करने वाली क्रीम या सरसों के तेल का उपयोग कर सकती हैं।

निष्कर्ष

हालांकि सरसों के तेल से स्तनों की मालिश कोई तात्कालिक परिणाम नहीं दिखाती है लेकिन यह आपके स्तन के ऊतकों पर उस दिन काम करना शुरू कर देती है जिस दिन आप मालिश करना शुरू करती हैं। जैसा कि इस लेख में उल्लेख किया गया है, अपने स्तनों में किसी भी प्रकार के बदलाव को नोटिस करने के लिए, इस तकनीक को कम से कम एक महीने तक रोजाना आज़माएं। यह प्राकृतिक चिकित्सा आपके स्तनों को नुकसान नहीं पहुंचाती है। दवाएं और सर्जरी न केवल महंगी हैं, बल्कि आपके स्वास्थ्य को भी नुकसान पहुंचा सकती हैं। वे तत्काल परिणाम प्रदान कर सकती हैं लेकिन लंबे समय में, वे संवेदनशील स्तन ऊतकों को नुकसान पहुंचाती हैं जिससे उन्हें खतरनाक बीमारियों का खतरा होता है।

दिन में कम से कम दो बार अपने स्तनों की मालिश करने से रक्त संचार बढ़ाने में मदद मिलती है। यह उनके आकार को बढ़ाने में मदद करने के लिए हार्मोन के प्रवाह को बढाती है। मालिश के लिए सरसों के तेल का उपयोग करें।

आपके स्तनों में शिथिलता, ढीलापन और कमजोरी का अनुभव होना बिल्कुल सामान्य है। सरसों के तेल से स्तन मालिश के साथ, आप अपने स्तनों के मूल आकार और साइज़ को पूरी तरह से वापस नहीं पा सकती हैं, लेकिन सरसों के तेल से ब्रैस्ट मसाज करके, आप अपने स्तनों को सुडौल, आकर्षक और बेहतर बना सकती हैं। स्तन मालिश एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है जिसके द्वारा आप अपने स्तनों की देखभाल कर सकतीं हैं।

सरसों के तेल से ब्रैस्ट मसाज करने के फायदे (Sarso ke tel se breast massage ke fayde) का यह लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट्स कर जरूर बताएं।

इसी तरह की अन्य जानकारी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक करें। आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment

Subscribe for daily wellness inspiration